Tulsi Tea Recipe and Benefits
Tulsi Tea Recipe and Benefits
ad2

Tulsi Tea Recipe and Benefits : तुलसी शायद एकमात्र ऐसा पौधा होगा जो हर घर में जरूर होता है। तुलसी को पवित्र और पूजनीय माना जाता है। लेकिन तुलसी का संबंध सिर्फ धर्म या संस्कृति से ही नहीं बल्कि तुलसी औषधीय गुणों से भरपूर होने की वजह से सेहत से जुड़ी कई बीमारियों में भी रामबाण मानी जाती है। तुलसी में यूजिनॉल नाम का तत्व पाया जाता है जो शरीर में मौजूद स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को कम कर तनाव दूर करने में मदद करता है।

यह भी पढ़ें – इम्यूनिटी को बूस्ट करने में मददगार है कीवी, ये हैं अन्य फायदे

बीमारियों से बचने और रोगों से लड़ने के लिए इम्यूनिटी मजबूत होना जरूरी है. ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम और खांसी आम समस्या होती है. अगर रोजाना तुलसी की चाय का सेवन किया जाए तो फ्लू संबंधित समस्याओं से बचा जा सकता है. तुलसी की चाय का सेवन करने से ना सिर्फ सर्दी-जुकाम से बचेंगे बल्कि सांस की दिक्कत से लेकर शुगर तक कंट्रोल करने में मददगार है. तुलसी की चाय कॉर्टिसोल हार्मोन को नियंत्रित करती है, जिससे तनाव दूर करने में मदद मिलती है. यह पाचन तंत्र को सही बनाए रखती है. शरीर में होने वाले दर्द में भी तुलसी की चाय लाभदायक है. आइए जानते हैं इसको बनाने का आसान तरीका.

आवश्यक सामग्री (Tulsi Tea Ingredents)

  • 1 इंच अदरक
  • 5-6 काली मिर्च
  • 2 लौंग
  • 2 छोटी इलायची
  • 1 कप पानी
  • 1 टेबलस्पून चाय पत्ती
  • 15-20 तुलसी के पत्ते
  • 3 कप दूध
  • 1/4 टेबलस्पून गुड़
Tulsi Tea Recipe and Benefits
Tulsi Tea Recipe and Benefits

तुलसी की चाय बनाने का तरीका (Tulsi Tea Recipe)

  • सबसे पहले मीडियम आंच में एक पैन में पानी गरम करने के लिए रखें.
  • पानी के गरम होते ही इसमें तुलसी के पत्ते और अदरक डालकर अच्छे से उबाल लें
  • जब पानी हल्का गर्म हो जाए, तो उसमें पीसी गई सामग्री और चायपत्ती को डालकर 2-3 मिनट तक उबालें.
  • 2-3 मिनट बाद पैन में 15 से 20 तुलसी के पत्ते डालकर उसमें 3 कप दूध डाल दें.
  • अब सारी सामग्री को 3-4 मिनट तक उबालें.
  • 3-4 मिनट बाद उसमें गुड़ डालकर उसे तब तक उबालें जब तक की गुड़ पिघल ना जाए.
  • जब गुड़ पिघल जाए, तो पैन को गैस से उतार लें.

​तुलसी की चाय के फायदे –

यह भी पढ़ें – दिखाई दें ये लक्षण तो समझ जाएं कमजोर है आपका इम्युनिटी सिस्टम

​आर्थराइटिस के पेशंट्स के लिए फायदेमंद

तुलसी की चाय में ऐंटि-इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो जॉइंट्स में होने वाली सूजन और जलन की समस्या को दूर करने में मदद करती है। इसके अलावा तुलसी की चाय में सूजन कम करने वाला ऐंटिऑक्सिडेंट गुण भी होता है। लिहाजा तुलसी की चाय आर्थराइटिस यानी गठिया की समस्या से पीड़ित मरीजों के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि यह जोड़ों में दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करती है।

​स्ट्रेस दूर करती है तुलसी की चाय

तुलसी की चाय को लेकर अब तक हुई कई स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि तुलसी की चाय शरीर में मौजूद स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को बनाए रखने और कम करने में मदद करती है। जब शरीर में कॉर्टिसोल का लेवल कम होगा तो जाहिर सी बात है कि आपका ओवरऑल स्ट्रेस भी कम हो जाएगा, ऐंग्जाइटी यानी बेचैनी महसूस नहीं होगी और आपका मूड भी बेहतर रहेगा।

Tulsi Tea Recipe and Benefits
Tulsi Tea Recipe and Benefits

ब्लड शुगर लेवल को करे कंट्रोल

नियमित रूप से रोजाना अगर तुलसी की चाय का सेवन किया जाए तो इससे आपका ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। लेकिन अगर आप डायबीटीज के मरीज हैं तो तुलसी की चाय में शहद का इस्तेमाल न करें। इसके अलावा तुलसी की चाय पीने से शरीर में कार्बोहाइड्रेट और फैट का मेटाबॉलिज्म सही रहता है जिससे खून में मौजूद शुगर आपको एनर्जी देने का काम करता है।

यह भी पढ़ें – डेंगू में पपीते के पत्तों का जूस पीना बहुत फायदेमंद, अन्‍य समस्‍याओं में भी है लाभदायक

​अच्छी नींद देती है तुलसी की चाय

अगर आपको भी नींद नहीं आने की समस्या है या फिर अगर आप रात भर बिस्तर में करवट बदलते रहते हैं तो इसमें भी तुलसी की चाय आपकी मदद कर सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादातर मामलों में स्ट्रेस की वजह से जब शरीर थक जाता है तब नींद आने में दिक्कत होती है। ऐसे में नियमित रूप से तुलसी की चाय का सेवन करने से आपका स्ट्रेस कम होगा तो नींद भी अच्छी आएगी।

​डाइजेशन बेहतर करने में मददगार

तुलसी की चाय एक बेहतरीन आयुर्वेदिक नुस्खा है जिसके जरिए आप अपने पाचन तंत्र को मजबूत बना सकते हैं। तुलसी की चाय, डाइजेशन के लिए जरूरी गैस्ट्रिक जूस को रिलीज करने के लिए शरीर को उत्तेजित करती है जिससे पाचन आसानी से होता है। साथ ही साथ इन दिनों कब्ज की दिक्कत भी काफी लोगों में देखने को मिल रही है तो तुलसी की चाय कब्ज में भी फायदेमंद है। इसके अलावा यह लिवर और ब्लैडर को डिटॉक्स करने में भी मदद करती है।

Tulsi Tea Recipe and Benefits
Tulsi Tea Recipe and Benefits

​बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम रखे दूर

इन दिनों बदलते मौसम में सर्दी-खांसी और जुकाम की समस्या आम बात हो गई है। ऐसे में तुलसी की चाय आपको सांस से जुड़ी इन समस्याओं में भी राहत दिलाने में मदद कर सकती है। तुलसी की चाय में पाया जाने वाला यूजिनॉल और ऐंटिऑक्सिडेंट्स बलगम और म्यूकस को बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही साथ तुलसी की चाय में ऐंटिसेप्टिक और ऐंटि-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज भी होती हैं जिससे सर्दी-खांसी के लक्षणों को दूर करने में मदद मिलती है।

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

Previous articleघर पर ऐसे बनाएं बंगाल की मशहूर प्लास्टिक की चटनी, ये है आसान विधि
Next articleआखिर क्यों होता है वाइट डिस्चार्ज, जानिए इसके कारण, लक्षण और घरेलू उपाय | Home Remedies For Leucorrhoea

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here