इस तरह 5 मिनट में बनाइये मूली का चटपटा अचार, जानें आसान तरीका

0
3315
Mooli Ka Achar Recipe
Mooli Ka Achar Recipe

मूली का अचार खाने में बहुत ही बढ़िया लगता है और ठंड में तो इसे खाने की बात ही अलग है. इसे खासतौर पर ठंड के मौसम में डाला जाता है. Mooli Ka Achar Recipe

अचार एक ऐसी चीज है जिसे हर मौसम में खाया जाता है. पराठे और रोटी के साथ तो इसका मजा ही कुछ और होता है. यहां जानिए मूली के अचार बनाने की विधि.

खाने के साथ में अचार होते हैं तो खाने का स्वाद बढ़ जाता है और भूख भी बढ़ जाती है. मौसम के हिसाब से सब्जियों के अचार भी कई तरह के बनाये जाते हैं जो 15-दिन से 1 माह तक रख कर खाये जा सकते हैं

ये भी पढ़िये – बनारसी लाल मिर्च का अचार बनाने की विधि

आवश्यक सामग्री

  • 4 – फ्रेश मूली
  • 1/2 कप – सरसों का तेल
  • 1/2 चम्मच – हल्दी पाउडर
  • 1/2 चम्मच – मैथी दाना
  • 2 चम्मच राई
  • एक चुटकी – हींग
  • 1/2 चम्मच – लाल मिर्च पाउडर
  • 3 चम्मच – नींबू का रस
  • 2 – साबुत लाल मिर्च
  • नमक स्वादानुसार
Mooli Ka Achar Recipe
Mooli Ka Achar Recipe

बनाने की विधि

  • मूली का अचार बनाने के लिए सबसे पहले मूली को अच्छे से धो कर छील लीजिये.
  • अब मूली को लगभग एक इंच के गोल टुकड़ों में काट लीजिये.
  • इसके बाद गोल टुकड़ों को खड़ा करके लंबाई में पतले स्लाइस काट लीजिये.
  • अब इन टुकड़ों को आधे घंटे के लिए हवा में सूखने रख दीजिये.
  • आधे घंटे बाद एक बड़े बर्तन में मूली के टुकड़ों को रखिये.
  • और साथ में ही मूली के टुकड़ों में हल्दी पाउडर और नमक मिला दीजिये.
  • इसके बाद दरदरी राई, हींग और मिर्च पाउडर डाल कर अच्छे से मिला दीजिये.
  • अब एक पेन में दो चम्मच सरसों का तेल डालिए.
  • तेल गरम होने पर मैथी दाना और साबुत लाल मिर्च के टुकड़े डाल कर तड़का तैयार कीजिये.
  • अब तड़के को ठंडा होने दीजिये.
  • ठंडा होने के बाद तड़के को मसाला लगी हुई मूली के टुकड़ों के ऊपर डाल कर अच्छे से मिक्स कीजिये.
  • और अब बचे हुए सरसों के तेल को भी डाल कर चम्मच की सहायता से मिला लीजिये.
  • अब नीबू निचोड़ कर उसके रस को छान कर, मूली के आचार में मिक्स कर लीजिये.
  • इसे साफ़ और सूखे एयर टाइट डिब्बे में भर कर एक-दो दिन धूप में रखिये.
  • लीजये सर्दी के मौसम में खाया जाने वाला मूली का आचार तैयार है.

सुझाव / टिप्स

  • इस आचार को एक माह तक स्टोर किया जा सकता है। आप जब भी अचार निकालें साफ़ और सूखे चम्मच से ही निकालें।
  • आप चाहें तब नीबू के रस की जगह वाइट बेनेगर का प्रयोग भी कर सकती हैं।
  • मूली के साथ गाजर को काट कर डालने से यह गाजर मूली का कम तेल का अचार बन जाएगा।

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here