ad2

हेल्लो दोस्तों कई लोग मिठाईयां खाने के इतने शौकीन होते हैं कि उनके दिन की शुरुआत और दिन का अंत मीठा खाकर ही होता है। कोई त्योहार हो या न हो मिठाई मिलनी चाहिए। ऐसे में रोज-रोज मार्केट की मिलावटी मिठाई खाना आपके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं रहता है। इसलिए आज हम आपको घर पर ही खोया के मालपुआ (Malpua Recipe In Hindi) बनाना सिखा रहे हैं। जिसे आप जब चाहें बना सकते हैं।

मालपुआ दो तरह से बनाए जाते हैं. एक चाशनी वाले और दूसरे बिना चाशनी के. बिहार, उत्तरप्रदेश, झारखंड, बंगाल में चाशनी वाले मालपुए कम ही बनाए जाते हैं. जबकि छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश में इसे चाशनी में डुबोकर सर्व किया जाता है. यहां हम बिना चाशनी वाले मालपुए की रेसिपी बता रहे हैं.

अगर आपको नहीं समझ आ रहा है कि मीठे में और क्या व्यंजन बनाऊं तो आप इसे भी शामिल कर सकते है। यह खाने में टेस्टी होने के साथ-साथ मीठा भी होता है। मालपुआ भारत के लगभग सभी राज्यों में पसंद किया जाता है खासकर उत्तरी भारत में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है।

Read : चटपटा आलू मसाला बनाने की विधि

आवश्यक सामग्री –

आटा – एक कप

चीनी – आधा कप

नारियल का बूरा – 2 बड़ा चम्मच

सौंफ – एक बड़ा चम्मच

इलायची – (कूटकर पीस लें) – 4

दूध – आधा कप

घी या तेल – तलने के

Malpua Recipe In Hindi
Malpua Recipe In Hindi

बनाने की विधि –

सबसे पहले दूध को हल्का-सा गरम कर लें. इसमें चीनी डालकर कुछ देर के लिए छोड़ दें.

जब तक दूध में चीनी घुल रही है तब तक एक गहरे बर्तन में आटा छानकर रखें. बर्तन ऐसा हो कि इसमें आसानी से घोल बन सके.

फिर आटे में सौंफ, इलायची पाउडर और नारियल का बूरा डालकर अच्छी तरह मिला लें.

दूध में चीनी घुली या नहीं एक बार चेक कर लें. अगर नहीं घुली है तो इसे चम्मच से चलाकर घोल लें.

अब आटे में थोड़ा-थोड़ा करके दूध डालते जाएं और घोल बनाते जाएं. ध्यान रखें घोल न बहुत ज्यादा गाढ़ा होना चाहिए और न ही बहुत पतला.

अगर घोल बनाने के लिए दूध कम पड़ गया है तो इसमें थोड़ा-सा पानी डाल सकते हैं.

घोल की कंसिस्टेंसी जांच के लिए चम्मच उठाकर देख लें.

कड़ाही में घी डालकर मीडियम आंच पर रखें.

जब घी अच्छी तरह गरम हो जाए तो इसमें एक कड़छी से डालते हुए घोल आकार दे दें.

जब पुआ एक तरह सुनहरा हो जाए तो इसे झंझरी से पलट का दूसरी तरफ भी अच्छी तरह तल लें.

इस तरह से बाकी घोल से भी मालपुए बना लें.

गरमागर्म मालपुआ को खाएं और घर आने वाले मेहमानों, दोस्तों को खिलाएं.

Previous articleइस दिन से शुरू हो रहा है होलाष्टक, जानें- क्या है महत्व
Next articleस्किन से लेकर बालों तक, नीम के पत्ते चबाने से होते हैं कई फायदे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here