मकर संक्रांति पर क्यों बनाई जाती है खिचड़ी, जानें बनाने का तरीका

0
85

हेल्लो दोस्तों मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी बनाई जाती है. इस दिन खिचड़ी दान करने और खाने का विशेष महत्व है. इस अवसर पर लोग खिचड़ी और तिल का दान करते हैं और सबसे पहले तिल खाकर खिचड़ी का सेवन करते हैं. बिना खिचड़ी के मकर संक्रांति का त्‍योहार अधूरा समझा जाता है. इस बार आप भी खिचड़ी इस तरह बनाएं. ये इतनी स्‍वादिष्‍ट बनेगी कि घर में सबको पसंद आएगी और लोग इसे बार बार मांगेंगे. आइए जानते हैं उड़द दाल की खिचड़ी बनाने का तरीका Makar Sankranti Khichdi Recipe

ये भी पढ़िए : जानें मकर संक्रांति शुभ मुहूर्त और पूजा विधि, बन रहा है विशेष संयोग

ऐसे पड़ा खिचड़ी नाम :

मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी की जगह पर कुछ लोग दही, पापड़, घी, और आचार का मिश्रण भी खाया जाता है। इन दिन खिचड़ी का दान भी किया जाता है। माना जाता है कि खिलजी के आक्रमण के वक्त नाथ योगियों को भोजन बनाने का समय नहीं मिल पाता था। इस वजह से योगी अक्सर भूखे रह जाते थे और लगातार कमजोर हो रहे थे।

जिसके बाद योगियों की बिगड़ती तबीयत को देखते हुए बाबा गोरखनाथ ने इसका समाधान निकालते हुए दाल, चावल और सब्जी को एक साथ पकाने की सलाह दी। यह भोजन पौष्टिक होने के साथ-साथ काफी स्वादिष्ट भी माना गया था। इसके साथ ही शरीर को तुरंत उर्जा भी मिलती थी। नाथ योगियों को यह व्यंजन काफी पसंद आया। बाबा गोरखनाथ ने इस व्यंजन का नाम खिचड़ी रखा।

Makar Sankranti Khichdi Recipe
Makar Sankranti Khichdi Recipe

इसके बाद ही बाबा गोरखनाथ ने इस व्यंजन का नाम खिचड़ी रख दिया। झटपट तैयार होने वाली खिचड़ी से नाथ योगियों की भोजन की परेशानी का समाधान हो गया और इसके साथ ही वे खिलजी के आतंक को दूर करने में भी सफल हुए। खिलजी से मुक्ति मिलने के कारण गोरखपुर में मकर संक्रांति को विजय दर्शन पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन गोरखनाथ के मंदिर के पास खिचड़ी मेला आरंभ होता है। कई दिनों तक चलने वाले इस मेले में बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी का भोग लगाया जाता है और इसे प्रसाद के रूप में वितरित किया जाता है।

ये भी पढ़िए : हलवाई स्टाइल तिल की बर्फी बनाने की विधि

क्यों बनाई जाती है खिचड़ी :

आपको हम बताते हैं कि मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी बनाने का महत्व आखिर क्यों है। खिचड़ी को मकर संक्रांति पर इसलिए बनाया जाता है क्योंकि चावल को चंद्रमा का प्रतीक माना जाता है और काली दाल को शनि का प्रतीक। दूसरी ओर हरी सब्जियां बुध से संबंध रखती है। ऐसा माना जाता है कि खिचड़ी की गरमाहट इंसान को मंगल और सूर्य से जोड़ती है। इस दिन खिचड़ी खाने से राशि में ग्रहों की स्थिती मजबूत होती है।

Makar Sankranti Khichdi Recipe
Makar Sankranti Khichdi Recipe

खिचड़ी बनाने के लिए सामग्री :

  • चावल – 200 ग्राम
  • उड़द की छिलके वाली दाल – 150 ग्राम
  • घी – 2 बड़े चम्मच
  • नमक – स्वादानुसार
  • हरा धनियां – 1 बड़ा चम्मच
  • हींग – 1 चुटकी
  • जीरा – 1 छोटा चम्मच
  • हरी मिर्च – 2 (बारीक कटी हुई)
  • अदरक – 1 इंच का लम्बा टुकड़ा (बारीक कटा हुआ)
  • हल्दी पाउडर – 1/2 छोटा चम्मच
  • हरी मटर के दाने – 1 छोटा कटोरी

ये भी पढ़िए : मकर संक्रांति के दिन राशि के अनुसार करें ये दान, मिलेंगे ये लाभ

खिचड़ी बनाने की विधि :

  • सबसे पहले थोड़ा पानी डाल कर चावल को भिगोएं और इसको अच्‍छी तरह धो लें.
  • इसके बाद कुकर में घी डालकर गर्म कीजिए और इसमें हींग और जीरा डालिए.
  • जीरा भुनने के बाद इसमें हरी मिर्च, अदरक, हल्दी पाउडर और मटर के दाने डाल कर 2 मिनट तक भूनिए.
  • अब इस मसाले में चावल को डालिए और 2-3 मिनट तक चमचे से चला कर खिचड़ी को भूनिए.
  • जब यह भुन जाए तो इसमें दाल और चावल की मात्रा का चार गुना पानी डालकर कुकर बन्द कीजिए.
  • एक सीटी आने के बाद 5 मिनट तक धीमी गैस पर खिचड़ी को पकने दीजिए.
  • अब गैस को बन्द कर दीजिए.
  • कुकर का प्रेशर खत्‍म होने के बाद कुकर का ढक्कन खोलिए.
  • आपकी खिचड़ी तैयार है.
  • खिचड़ी को बाउल में निकालिए. हरा धनियां ऊपर से डाल कर सजाइए.

आपको ये रेसिपी कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार जरुर शेयर करें, और कोई सवाल हो तो पूछिए हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे !

और ऐसी ही अन्य रेसिपीज के लिए आप हमारे YouTube चैनल को जरुर सब्सक्राइब कीजिये ! बहुत बहुत धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here