घर पर ऐसे आसानी से बनाएं गुरूद्वारे की लंगर वाली दाल, ये है आसान विधि

हेल्लो दोस्तों लंगर में मिलने वाली दाल प्रसाद खाने में बहुत टेस्टी लगती है. हालांकि गुरुद्वारे में इसका खास महत्त्व होता है. हमने भी कोशिश की इसे घर में बनाने की. आप घर पर ही लंगर वाली दाल बना सकते हैं और गरीबों में बांट भी सकते हैं. यह डिश बनाने में बेहद आसान और खाने में बेहद टेस्टी है. इस ट्रेडिशनल डिश को आप वीकेंड पर भी ट्राई कर सकते हैं. तो हम आपको बता रहे हैं लंगर वाली दाल (Langarwali Dal Recipe) बनाने की आसान विधि।

ये भी पढ़िए : घर में बनायें भंडारे वाली आलू सब्ज़ी

आप अपनी पसंद के अनुसार इस दाल के मसाले के स्तर और मोटाई को समायोजित कर सकते हैं। अगर आप चावल के साथ परोसना चाहते हैं तो इसे थोड़ा पतला कर लें और अगर आप नान, रोटी या कुलचा के साथ परोसना चाहते हैं तो इसे थोड़ा गाढ़ा, दोनों तरह से स्वाद में लाजवाब बनाएं. यह माँ छोले की दाल अमृतसरी दाल और लंगर वाली दाल के नाम से भी लोकप्रिय है क्योंकि इसे सभी गुरुद्वारों के लंगर में नियमित रूप से परोसा जाता है।

Langarwali Dal Recipe
Langarwali Dal Recipe

आवश्यक सामग्री :

काली उरद दाल – 1 कप

चना दाल – आधा कप

लहसुन की कलियां – 8

अदरक का पेस्ट – 2 बड़ा चम्मच

हरी मिर्ची – 2-3

हल्दी

तेल

देसी घी – 1 बड़ा चम्मच

लाल मिर्च पाउडर

प्याज – 1 कटा हुआ

हरा धनिया – बारीक कटा

नमक – स्वादनुसार

ये भी पढ़िए : गुजराती खाने के हैं शौकीन तो घर पर ऐसे बनाएं टेस्टी ‘मिक्स दाल हान्डवो’, ये है विधि

बनाने की विधि :

लंगर वाली दाल बनाने के लिए काली उरद दाल और चने की दाल को अच्छी तरह धो लें.

इसके बाद दोनों दालों को 1 घंटे के लिए गुनगुने पानी में भिगोकर रख दें.

इसके बाद दालों का पानी निकाल कर एक बार फिर से धो लें.

अब कुकर में डाल दें और 4 कप पानी डालें. इसमें 1 चम्मच अदरक का पेस्ट, 4 लहसुन की कलियां और हरी मिर्च डालें.

अब कुकर का ढक्कन बंद कर दें और 7 सीटी आने तक पकाएं. गैस की आंच धीमी करें.

गैस बंद करने के बाद कुकर की स्टीम निकलने दें. तब तक गैस पर एक कड़ाही रखें और उसमें तेल डाल दें.

तेल गर्म होने के बाद इसमें बारीक कटा लहसुन, प्याज और 1 चम्मच अदरक का पेस्ट डाल दें. अब इसे अच्छे से भून लें. इसमें उबली हुई दाल डाल दें.

इसके बाद इसमें लाल मिर्च पाउडर और हल्दी भी मिलाएं. इसे बिना ढके 10 मिनट तक पकाएं.

लीजिए तैयार है आपकी लंगर दाल, इसे रोटी के साथ परोसें.

आप चाहें तो गुरु गोबिंद सिंह जयंती (Guru Gobind Singh Jayanti) पर ढेर सारी दाल बना कर गरीबों में भी बांट सकते हैं.

आपको ये रेसिपी कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार जरुर शेयर करें, और कोई सवाल हो तो पूछिए हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे ! और ऐसी ही अन्य रेसिपीज के लिए आप हमारे YouTube चैनल को जरुर सब्सक्राइब कीजिये ! बहुत बहुत धन्यवाद्

Leave a Comment