ad2

हेल्लो दोस्तों आंवला सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है और सर्दियों में इसे खाना तो किसी जड़ीबूटी से कम नहीं है। विटामिन सी, एंटी ऑक्सीडेंट आदि से भरपूर आंवला आपको कई बीमारियों से निजात दिलाती है। आयुर्वेद में आंवला का बहुत अधिक महत्व हैं। इसका सेवन जूस, फल या फिर पाउडर के रूप में करते हैं। आंवला शरीर को एनर्जी से फुल रखने के साथ-साथ इम्यूनिटी बूस्ट करने में मदद करता है। वहीं गुड़ भी सेहत के लिए फायदेमंद है। गुड़ की तासीर गर्म होती हैं जो शरीर को गर्म रखने के साथ कई रोगों से बचाव करता है। Amla Gur Chutney

ये भी पढ़िए : करी पत्ता की स्वादिष्ट चटनी बनाने की विधि

आंवला और गुड़ का सेवन आपने कई तरह से किया होगा। लेकिन आप चाहे तो दोनों को मिलाकर खट्टी-मिट्टी चटनी बना सकते हैं। यह आपके स्वाद को बढ़ाने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी अच्छी है। जानिए घर पर कैसे बनाएं खट्टी-मिट्टी आंवला-गुड़ की चटनी।

Amla Gur Chutney
Amla Gur Chutney

आवश्यक सामग्री :

आंवला – 200 ग्राम

गुड़ – 200 ग्राम

मेथी – आधा चम्मच

कलौंजी – आधा चम्मच

अदरक (कद्दूकस किया हुआ) – थोड़ा सा

हींग – थोड़ी सी

लाल मिर्च पाउडर – आधा चम्मच

हल्दी पाउडर – आधा चम्मच

काली मिर्च पाउडर – एक चौथाई चम्मच

जीरा (भुना हुआ) – आधा चम्मच

सेंधा नमक (सादा नमक) – स्वादानुसार

तेल – 1 बड़ा चम्मच

ये भी पढ़िए : सदाबहार मूंगफली-टमाटर की चटनी

बनाने की विधि :

सबसे पहले आंवला को साफ करके उबाल लें और फिर गुठली निकालकर छोटे-छोटे आकार में काट लें।

इसके बाद एक पैन में तेल डालकर गर्म करें। गर्म हो जाने के बाद इसमें मेथी, कलौंजी, अदरक डालकर फ्राई कर लें।

इसके बाद इसमें हींग और कटे हुए आंवले डाल दें। इसे धीमी आंच में करीब 1 मिनट फ्राई करें।

अब टूटा हुआ गुड़ डाल दें और इसे जब तक पकाएं तब तक गुड़ पिघल न जाएं। चम्मच की मदद से आंवला के टुकड़ों को और भी ज्यादा बारीकर कर लें।

इसके बाद इसमें हल्दी, लाल मिर्च, जीरा, काली मिर्च सहित सभी पाउडर डाल दें। अंत में सेंधा नमक डालकर अच्छे से मिक्स कर लें।

इसके बाद इसे मीडियम आंच में पकने दें।

जब आपके अनुसार आंवला गुड़ की चटनी गाढ़ी हो जाए तो गैंस बंद कर दें।

Previous article6 जनवरी को है वरद चतुर्थी, जानें शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और कथा
Next articleक्रिस्पी आलू रिंग्स बनाने की विधि
Akanksha
मेरा नाम आकांक्षा है, मुझे नए नए टॉपिक पर आर्टिकल्स लिखने का शौक पहले से ही था इसलिए मैंने आकृति वेबसाइट पर लिखने का फैसला लिया !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here