आलू कचौरी बनाने की विधि

0
1515

हेल्लो दोस्तों, मैं निधि स्वागत करती हूँ आप सभी का आपकी अपनी साईट पर. आज मैं आपको आलू की कचौरी बनाने की आसान विधि बताने वाली हूँ, आलू की कचौरी बनाने के लिये दाल भरी कचौरी की तरह पहले से कोई तैयारी नहीं करनी पड़ती. जब भी गर्मागर्म खस्ता कचौरियों को खाने का मन हो, आलू उबालने रखिये, आटा गूंथिये और पिट्टी बना कर कचौरिया तल लीजिये. उत्तर भारत में विशेष रूप से आगरा मथुरा में तो सुबह सबेरे आलू की कचौरियां बहुत ही पसंद की जाती हैं. Aloo Kachori Recipe In Hindi

आवश्यक सामग्री –

आटा लगाने के लिए

  • मैदा – 2 कप (250 ग्राम)
  • तेल – ¼ कप ( 60 ग्राम)
  • नमक – ½ छोटी चम्मच से थोडा़ सा ज्यादा या स्वादानुसार
  • तेल – तलने के लिए

स्टफिंग के लिए

  • आलू – 4-5 (250 – 300 ग्राम) उबले हुए
  • हरा धनिया -2 टेबल स्पून (बारीक कटा हुआ)
  • हरी मिर्च – 2 (बारीक कटी हुई)
  • अदरक – ½ इंच टुकडा़ कद्दूकस किया हुआ
  • लाल मिर्च पाउडर – ¼ – 1/2 छोटी चम्मच
  • गरम मसाला – ¼ छोटी चम्मच
  • जीरा पाउडर – ½ छोटी चम्मच
  • धनिया पाउडर – 1 छोटी चम्मच
  • अमचूर पाउडर – ½ छोटी चम्मच
  • नमक – 3/4 छोटी चम्मच या स्वादानुसार

Aloo Kachori Recipe In Hindi

बनाने की विधि –

  • मैदा को किसी बड़े प्याले में निकाल लीजिए, इसमें नमक और तेल डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये, और थोड़ा थोड़ा पानी डालकर नरम चपाती के आटे जैसा आटा गूंथ कर तैयार कर लीजिये,आटे को ज्यादा मसल कर चिकना मत कीजिये, आटे को सिर्फ बाइन्ड कर लीजिये, आटे को ढककर 20 मिनिट के लिये रख दीजिये, आटा फूल कर सैट हो जायेगा. जब तक आटा सैट होता है तब तक कचौरी के लिए स्टफिंग बनाकर तैयार कर लीजिये.
  • उबले हुए आलू को छीलकर ले लीजिए. पैन गरम कीजिये, पैन में 2 छोटे चम्मच तेल डाल दीजिये, तेल गरम होने पर बारीक कटी हुई हरी मिर्च डाल दीजिए साथ ही कद्दूकस किया हुआ अदरक डालकर मसाले को थोडा़ सा भून लीजिए. धनिया पाउडर, जीरा पाउडर और छिले हुए आलू को हाथों से बारीक तोड़ कर मसाले में डाल दीजिए.
  • लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर, गरम मसला पाउडर, नमक और बारीक कटा हुआ हरा धनियां डाल कर सभी चीजों को अच्छे से मिलाते हुए 2-3 मिनिट धीमी आंच पर भून लीजिए. स्टफिंग बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए और स्टपिंग को प्याले में निकाल लीजिये ताकि वह जल्दी से ठंडी हो जाय.
  • आटा सैट हो कर तैयार होने के बाद आटे से छोटे नीबू के आकार की लोईयां तोड़कर तैयार कर लीजिए. अब एक लोई उठाएं इसे गोल कर लीजिये और हाथ पर रखकर उसे उंगलियों की सहायता से बड़ा कर, टोकरी जैसा बना लीजिये. आटे की इस टोकरी में 2 छोटे चम्मच स्टफिंग डाल दीजिये और आटे को चारों ओर से उठाकर स्टफिंग को अच्छी तरह बन्द कर दीजिये, सारी कचौरियां इसी तरह भरकर तैयार कर लीजिये.
  • कचौरियां तलने के लिये कढ़ाई में तेल डालकर गर्म कीजिये. भरी हुई कचौरी को हाथ से या बेलन से हल्का दबाव देते हुये मोटी कचौरी बेल कर तैयार कर लीजिये, और कचौरी बेल कर मीडियम गरम तेल में डाल दीजिये, जितनी कचौरी एक बार में कढ़ाई में आ जाय उतनी कचौरी कढ़ाई में डाल दीजिये.
  • कचौरियां जब फूल कर तैरने लगे और नीचे की ओर से थोड़ी सिक जाय तब उन्हें पलट दीजिये, कचौरियों को पलट पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लीजिये, गैस मीडियम और धीमी रखिये, तब ही कचौरियां खस्ता बनेंगी. गोल्डन ब्राउन कचौरियों को प्लेट में लगे नैपकिन पर निकाल कर रख लीजिये. सारी कचौरियां इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.

आलू की खस्ता कचौरियां तैयार है, कचौरियों को हरे धनिये की चटनी या मीठी चटनी या टमोटो सॉस के साथ परोसिये.

सुझाव

  • कचौरियों के लिये आटा नरम लगायें. कचौरियों को भरते समय स्टफिंग को अच्छी तरह आटे से बन्द कीजिये.
  • कचौरियों को बेलते समय हल्के दबाव से बेले कचौरियां फटनी नहीं चाहिये.
  • कचौरियों को तलते समय धीमी या मीडियम गैस पर तलें. कचौरियां एकदम खस्ता और बहुत अच्छी बनकर तैयार होंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here