तो इस वज़ह से गर्भ में पल रहा बच्चा मारता है किक

हेल्लो दोस्तों मैं हूँ आकांक्षा और स्वागत करती हूँ आप सभी का आपकी अपनी वेबसाइट aakrati.in पर ! आज हेल्थ सेक्शन में मैं बताने वाली हूँ बेबी किकिंग यानि शिशु के गर्भ में पैर मारने की बात. किसी भी महिला के लिए माँ बनने का अहसास बेहद ही सुखद होता है जिसे वह अपने मन में जीवन भर संजोकर रखती है ये नौ माह का समय प्रतिदिन उसे नए-नए अहसास करवाता रहता है जैसे-जैसे गर्भ में पल रहा भ्रूण आकार लेने लगता है वैसे-वैसे माँ बन्ने का अहसास और तेज होने लगता है प्रेगनेंसी के दौरान बच्चे की लात महसूस करना माँ के लिए बहुत ही स्पेशल अनुभव होता है Why Baby Kicks In Womb During Pregnancy

खासकर तब जब बच्चे ने पहली बार किक मारी हो लेकिन क्या आपको पता है बच्चा ऐसा क्यों करता है अगर नहीं जानते हो तो आइये हम आपको बताते हैं इसके पीछे की सच्चाई.

नए वातावरण में बदलाव होने पर :

जब बच्चा बाहर के परिवर्तन को महसूस कर रहा होता है तो ऐसे में वह तुरंत अपनी प्रतिक्रिया को किक मार कर दिखाता है बाहर से कुछ शोर या माँ के कुछ खाने की आवाज़ सुनकर बच्चा अपने अंगों को फैलाता है लात मारना उनके सामान्य विकास का संकेत भी होता है

बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य का संकेत :

लात मारना नवज़ात शिशु के अच्छे विकास का संकेत होता है इसका मतलब यह होता है कि आपका बच्चा बहुत सक्रिय है आपको बच्चे की लात मारना तब महसूस होता है जब वह गर्भ में हिचकी लेता है या हिलता-डुलता है जब बच्चा अपने अंगों को गर्भावस्था के शुरूआती सप्ताह के दौरान फ़ैलाता है, तो आपको परेशानी महसूस हो सकती है

36वे हफ्ते के बाद कम होता लात मारना :

एक समय ऐसा आता है जब बच्चा गर्भ में 40-50 मिनट तक आराम करता है प्रेगनेंसी के 36वे हफ़्ते के बाद आपके बच्चे का आकार बढ़ जाता है जिसकी वजह से वह ज्यादा हिल नही पाता है इस दौरान आप अपनी पसलियों के नीचे एक या दोनों तरफ़ दोनों पक्षों के पास लात महसूस करेंगी

कम लात मारना परेशान होने का संकेत :

28 हफ़्ते के बाद डॉक्टर आपको बच्चा कितनी बार लात मारता है उसे गिनने को कहते हैं अगर बच्चा लात नहीं मार रहा है या कम मार रहा है तो यह उसके पास ऑक्सीजन सप्लाई ना होने के कारण भी हो सकता है बच्चे का हिलना और लात कम मारने का कारण शुगर लेवल का कम होना भी हो सकता है अगर खाने के बाद भी आपका बच्चा लात नही मार रहा है तो एक गिलास पानी पीकर देखें.

This post was last modified on May 31, 2018 9:31 AM

Share
Akanksha

मेरा नाम आकांक्षा है, मुझे नए नए टॉपिक पर आर्टिकल्स लिखने का शौक पहले से ही था इसलिए मैंने आकृति वेबसाइट पर लिखने का फैसला लिया !

Published by

Recent Posts

लाजबाब पंजाबी पालक पनीर बनाने की विधि

पालक पनीर (Punjabi Palak Paneer Recipe) उत्तर भारत की बेहद लोकप्रिय करी (सब्ज़ी) है जिसका… Read More

February 25, 2020

चाहते हैं स्किन पर ना चढ़े गहरा रंग, तो अपनाएं ये 5 टिप्स

दोस्तों, होली आने वाली है और इसलिए होली के रंग को अपनी स्किन से छुड़ाने… Read More

February 25, 2020

मिल्क पाउडर गुजिया बनाने की विधि

गुजिया होली की खास मिठाई है. यह अनेक तरह की स्टफिंग और आकार में बनाई… Read More

February 23, 2020

शिशुओं में डायपर रैशेस के लिए घरेलू उपचार

Natural Remedies For Diaper Rash : बच्चों में डायपर से रैशेस पड़ना बहुत आम बात… Read More

February 22, 2020

फाल्गुन अमावस्या 2020 में कब है, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि और कथा

फाल्गुन अमावस्या को साल की आखिरी अमावस्या माना जाता है, इस दिन किसी पवित्र नदीं… Read More

February 22, 2020

मूंग दाल की मंगौड़ी बनाने की विधि

दोस्तों आज हम बेहद कुरमुरी ज़ायकेदार स्वास्थ्य के हिसाब से लाभकारी एक प्रमुख व्यंजन मंगौड़ी… Read More

February 20, 2020