प्रेगनेंसी के दौरान वजन बढ़ाने के बारे में ये बातें आपको मालूम होनी चाहिए

गर्भावस्था के दौरान वजन बढ़ना सामान्य है क्योंकि आपके बच्चे का विकास हो रहा होता है। हालांकि, यह केवल आपके बच्चे के विकास का कारण नहीं है बल्कि आपका शरीर एक अतिरिक्त ऊतक विकसित कर रहा होता है, जिसमें बड़े स्तन और गर्भाशय शामिल हैं, जिसमें प्लेसेंटा, अतिरिक्त तरल पदार्थ और रक्त भी शामिल है। Weight Gain During Pregnancy

हालांकि यह महत्वपूर्ण है कि आप गर्भावस्था के दौरान अच्छी तरह से खाएं, ताकि आपके बच्चे को स्वस्थ शुरुआत मिल सके। अक्सर लोगों की अवधारणा होती है कि ‘दो के लिये खाना’। इस तरह के माइंड-सेट से आपको केवल गर्भावस्था के दौरान अतिरिक्त वजन प्राप्त करने का मौका मिलेगा, जिसे बाद में कम करना मुश्किल हो सकता है।

यहां हम आपको प्रेग्नेंसी के दौरान वजन बढ़ने के लाभ और उसे मैनेज करने के बारे में बताने जा रहे हैं।

गर्भावस्था के दौरान वजन बढ़ाने वाले कारक:

जबकि गर्भावस्था के दौरान अधिकांश महिलाओं का वजन 12 किलोग्राम से 16 किग्रा बढ़ता है, गर्भावस्था के दौरान आपका वजन बढ़ना निम्नलिखित कारकों से प्रभावित हो सकता है:

गर्भावस्था के दौरान आपका वजन बढ़ना आपके पूर्व-गर्भावस्था के वजन पर भी निर्भर हो सकता है। उदाहरण के लिए, यदि आप प्रेग्नेंसी से पहले कम वजन वाले थे, तो आपको थोड़ा और वजन बढ़ाने की आवश्यकता हो सकती है। दूसरी तरफ, यदि आप अधिक वजन रखते हैं, तो आपको सावधानीपूर्वक अपना वज़न बढ़ाना चाहिए।

यदि आपके जुड़वा हैं तो प्रेग्नेंसी के दौरान आदर्श वजन बढ़ाना आपके लिए मुश्किल भरा काम होगा।

गर्भावस्था के दौरान जब आप सुबह मितली और बीमारी से जूझ रहे हो तो आप शुरूआत में वजन कम कर सकते हैं, और एक बार जब आप चार महीने बाद इस बीमारी से उबर आएं तो अपना वजन बढ़ाने की शुरूआत कर सकते हैं।

यह प्री-प्रेग्नेंसी बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) और आपके दैनिक ऊर्जा सेवन पर भी निर्भर करता है।

गर्भावस्था के दौरान आदर्श वजन क्या होना चाहिए?

गर्भावस्था के दौरान, आप तिमाही में वजन बढ़ा सकती हैं। लेकिन आपको प्रत्येक तिमाही के दौरान आदर्श वजन बढ़ाने के बारे में अवगत होना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि, गर्भावस्था के दौरान वजन बढ़ने से, मां और बच्चे के स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ सकता है।

  • गर्भावस्था की शुरुआत में, अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की जांच करना आवश्यक है, और इसके आधार पर, आप स्वस्थ वजन बढ़ाने के कार्यक्रम की योजना बना सकते हैं।
  • बीएमआई आपकी ऊंचाई और वजन के आधार पर शरीर की वसा जांचने का एक तरीका है, और यह निर्धारित करने में मदद करता है कि आप कम वजन वाले, सामान्य या अधिक वजन वाले हैं या नहीं।
  • अपने बीएमआई को खोजने के लिेए, अपने वजन को किलोग्राम में, ऊचांई को मीटर में बांट लें, और आपको अपना BMI मिल जाएगा।अन्यथा, वैल्यू जानने के लिए ऑनलाइन बीएमआई कैलक्यूलेटर का उपयोग करें।
  • यदि आपका प्रेग्नेंसी से पहले सामान्य वजन है तो आपका वजन बढ़ाना आदर्श रूप से 11.5 किलोग्राम और 16 किलोग्राम के बीच होना चाहिए। इसे डिलीवरी तक हर महीने 1.5 किलोग्राम से 2 किलो वजन में विभाजित किया जा सकता है।
  • यदि प्रेग्नेंसी से पहले आपका वजन अधिक है तो आपको कम वजन बढ़ाना होगा। अन्यथा, यदि आप कम वजन रखते हैं, तो आप और अधिक प्राप्त कर सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान अपना वजन कैसे बढ़ाएं?

आपके वजन के बावजूद, यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप एक स्वस्थ, पौष्टिक आहार खाते हैं जिसमें फलियां, अनाज, मछली, मांस और कम वसा वाले डेयरी उत्पादों के अलावा ताजा सब्जियां, साबुत अनाज और ताजे फल सम्मिलित होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि ये खाद्य पदार्थों प्रेग्नेंसी के दौरान आपका वजन बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।

स्वस्थ पोषक तत्वों के लिए हमेशा अपना आहार जांचें, क्योंकि आपके और आपके बच्चे को स्वस्थ रहने के लिए यह आवश्यक है। इससे आपके बच्चे को पर्याप्त आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम, आयोडीन और प्रोटीन के साथ स्वस्थ शुरुआत करने में भी मदद मिलेगी।

इस बीच आपको नियमित रूप से कुछ प्रेग्नेंसी एक्सरसाइज भी शामिल करनी चाहिए। जैसे- चलना। यदि आप योग-उत्साही हैं, तो अपने डॉक्टर और अपने योग प्रशिक्षक से उचित अभ्यास के बारे में बात करें जो अतिरिक्त वजन बढ़ने के बिना आपके शरीर को लचीला रखने में आपकी मदद कर सकती है।

सख्ती से तले हुए भोजन, फ्रोजन फूड्स, फैटी और पेय पदार्थों से बचें। गर्भावस्था के शुरूआती दिनों में आपको डिहाइड्रेशन हो सकता है क्योंकि आप मितली करते हैं इसलिये जरूरी है कि आप दिन में लगभग दो लीटर पानी पीएं। यदि आप पर्याप्त तरल पदार्थ बनाए रखने में असमर्थ हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें।

गर्भावस्था के दौरान आदर्श वजन प्राप्त करना एक महत्वपूर्ण पहलू है। सामान्य से अधिक वजन प्राप्त करने से मां और बच्चे के लिए कुछ स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे गर्भावस्था के दौरान मधुमेह, उच्च रक्तचाप संबंधी विकार और प्री-टर्म डिलीवरी का जोखिम, और यदि आप वजन कम बढ़ाते हैं तो आपक बच्चा अंडरवेट पैदा हो सकता है।

इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने डॉक्टर से गर्भावस्था के इस महत्वपूर्ण पहलू पर जरूर चर्चा करें, और आदर्श शरीर के वजन का आकलन करने के लिए डिलीवरी से पहले नियमित जांचें करवाते रहें। हालांकि, अपने वजन के बारे में ज्यादा तनाव न लें। पौष्टिक आहार, अच्छी तरह से आराम करें, सक्रिय रहें और अपनी गर्भावस्था के वजन बढ़ाने के बारे में अपने डॉक्टर की सलाह का पालन जरूर करें।

Share
Nidhi

Hello Friends, I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Recent Posts

घर में बनाएं ग्रीन टी फेस मिस्‍ट और डल स्किन को ग्‍लोइंग बनाएं

बदलते मौसम में त्‍वचा का निखार कम होने लगता है, तेज धूप के कारण त्‍वचा रूखी, बेजान और डल होने लगती… Read More

May 25, 2019 5:38 pm

पुदीने की हरी चटनी बनाने की विधि

पुदीने की चटनी उत्तरी भारत में ज्यादा खाई जाती है. समोसे, कचौड़ी, पकोड़े के साथ और खाने के साथ खाते… Read More

May 25, 2019 2:12 pm

30 के बाद हर महिला को जरूर करवाने चाहिए ये टेस्ट

नमस्कार दोस्तों, आज मैं जिस टॉपिक पर बात करने जा रही हूँ वो हम सभी महिलाओं के लिए बहुत ही… Read More

May 25, 2019 2:03 pm

पुत्र प्राप्ति के महत्वपूर्ण असरदार उपाय

क्या आप सफलता पूर्वक एक पुत्र को जन्म देने की कोशिश कर रहे है ? यदि हां, तो यह लेख… Read More

May 24, 2019 6:03 pm

नहाने के पानी में मिलाएं ये खास चीजें, त्वचा से जुड़ी समस्यायें होगी दूर

शरीर की सफाई के साथ त्वचा की सही देखरेख के लिये हम सभी लोग रोज नहाते है सर्दियों के मौसम… Read More

May 24, 2019 5:53 pm

गर्भावस्था में योगासन है फायदेमंद, नॉर्मल डिलिवरी में करता है मदद

योग हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद हैं, शायद यह बात हमें आपको बताने के जरूरत नहीं है। जी हां… Read More

May 24, 2019 3:46 pm