इन चीज़ों से हो सकता है गर्भपात, गर्भवती महिलाएं भूलकर भी न खाएं ये चीज़ें

प्रेगनेंसी एक महिला और उसके बच्चे के लिए बहुत खूबसूरत और नाजुक समय होता है. इसलिए अगर आप प्रेगनेंट हैं, तो आपको अपना कुछ ज्यादा ख्याल रखना शुरू करना होगा. मां बनने का जब पहला अनुभव होता है, तो महिलाओं को यह नहीं पता होता कि उन्हें किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए. विशेषतौर पर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए. इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि गर्भावस्था के समय किन-किन चीजों को नहीं खाना चाहिए. इन चीज़ों का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत घातक हो सकता है और यह गर्भपात का भी कारण बन सकता है. In Cheezon Se Ho Sakta Hai Garbhpaat

पपीता खाने से बचें :

गर्भावस्था के समय कच्चा पपीता नहीं खाना चाहिए. कच्चा पपीता खाने से प्रसव जल्दी होने की संभावना होती है. गर्भावस्था के समय तीसरे और अंतिम तिमाही के समय पका हुआ पपीता खाना बहुत अच्छा होता है. पके हुए पपीते में विटामिन सी और अन्य पौष्टिक तत्वों की प्रचुरता होती है, जो गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों जैसे कब्ज़ को रोकने में मदद करती है. शहद और दूध के साथ मिश्रित पपीता गर्भवती महिलाओं के लिए एक उत्कृष्ट टॉनिक के समान होता है.

अनानास खाने से बचें :

गर्भवस्था के समय गर्भवती महिलाओं के लिए अनानास खाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. इसके सेवन से भी जल्दी प्रसव की संभावना बढ़ जाती है.

ज्वार का रस :

वैसे तो ज्वार के रस को सेहत के लिए फायदेमंद बताया जाता है. लेकिन लोगों को पता नही कि इसमें बैक्टीरिया बहुत जल्दी पनपते हैं जिसके कारण महिलाओं को उलटी और डायरिया की समस्या हो सकती है. गर्भावस्था में इसका ज्यादा सेवन करना गर्भपात की संभावना को बढ़ा सकता है.

अंगूर खाने से बचें :

डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को उसके गर्भावस्था के अंतिम तिमाही में अंगूर खाने से मना करते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इसकी तासीर गरम होती है. इसलिए बहुत ज़्यादा अंगूर खाने से असमय प्रसव पीड़ा हो सकती है. कोशिश करें कि गर्भावस्था के समय अंगूर न खायें.

सॉफ्ट ड्रिंक से बचें :

एक अध्ययन के मुताबिक, गर्भावस्था में सॉफ्ट ड्रिंक पीने से शिशु का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है. बच्चों को मोटापे की शिकायत हो सकती है. विशेषज्ञों की मानें तो गर्भावस्था में सॉफ्ट ड्रिंक पीने वाली महिला के होने वाले बच्चे का बॉडी मास इंडेक्स काफी उच्च होता है और छोटी उम्र में ही बच्चे को पाचन और वजन से जुड़ी समस्याएं हो जाती हैं. इतना ही नहीं, प्रेगनेंसी में सॉफ्ट ड्रिंक पीने से गर्भपात की भी समस्या हो सकती है.

Share
Nidhi

I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Published by

Recent Posts

लाजबाब पंजाबी पालक पनीर बनाने की विधि

पालक पनीर (Punjabi Palak Paneer Recipe) उत्तर भारत की बेहद लोकप्रिय करी (सब्ज़ी) है जिसका… Read More

February 25, 2020

चाहते हैं स्किन पर ना चढ़े गहरा रंग, तो अपनाएं ये 5 टिप्स

दोस्तों, होली आने वाली है और इसलिए होली के रंग को अपनी स्किन से छुड़ाने… Read More

February 25, 2020

मिल्क पाउडर गुजिया बनाने की विधि

गुजिया होली की खास मिठाई है. यह अनेक तरह की स्टफिंग और आकार में बनाई… Read More

February 23, 2020

शिशुओं में डायपर रैशेस के लिए घरेलू उपचार

Natural Remedies For Diaper Rash : बच्चों में डायपर से रैशेस पड़ना बहुत आम बात… Read More

February 22, 2020

फाल्गुन अमावस्या 2020 में कब है, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि और कथा

फाल्गुन अमावस्या को साल की आखिरी अमावस्या माना जाता है, इस दिन किसी पवित्र नदीं… Read More

February 22, 2020

मूंग दाल की मंगौड़ी बनाने की विधि

दोस्तों आज हम बेहद कुरमुरी ज़ायकेदार स्वास्थ्य के हिसाब से लाभकारी एक प्रमुख व्यंजन मंगौड़ी… Read More

February 20, 2020