इन चीज़ों से हो सकता है गर्भपात, गर्भवती महिलाएं भूलकर भी न खाएं ये चीज़ें

प्रेगनेंसी एक महिला और उसके बच्चे के लिए बहुत खूबसूरत और नाजुक समय होता है. इसलिए अगर आप प्रेगनेंट हैं, तो आपको अपना कुछ ज्यादा ख्याल रखना शुरू करना होगा. मां बनने का जब पहला अनुभव होता है, तो महिलाओं को यह नहीं पता होता कि उन्हें किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए. विशेषतौर पर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए. इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि गर्भावस्था के समय किन-किन चीजों को नहीं खाना चाहिए. इन चीज़ों का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत घातक हो सकता है और यह गर्भपात का भी कारण बन सकता है. In Cheezon Se Ho Sakta Hai Garbhpaat

पपीता खाने से बचें :

गर्भावस्था के समय कच्चा पपीता नहीं खाना चाहिए. कच्चा पपीता खाने से प्रसव जल्दी होने की संभावना होती है. गर्भावस्था के समय तीसरे और अंतिम तिमाही के समय पका हुआ पपीता खाना बहुत अच्छा होता है. पके हुए पपीते में विटामिन सी और अन्य पौष्टिक तत्वों की प्रचुरता होती है, जो गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों जैसे कब्ज़ को रोकने में मदद करती है. शहद और दूध के साथ मिश्रित पपीता गर्भवती महिलाओं के लिए एक उत्कृष्ट टॉनिक के समान होता है.

अनानास खाने से बचें :

गर्भवस्था के समय गर्भवती महिलाओं के लिए अनानास खाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. इसके सेवन से भी जल्दी प्रसव की संभावना बढ़ जाती है.

ज्वार का रस :

वैसे तो ज्वार के रस को सेहत के लिए फायदेमंद बताया जाता है. लेकिन लोगों को पता नही कि इसमें बैक्टीरिया बहुत जल्दी पनपते हैं जिसके कारण महिलाओं को उलटी और डायरिया की समस्या हो सकती है. गर्भावस्था में इसका ज्यादा सेवन करना गर्भपात की संभावना को बढ़ा सकता है.

अंगूर खाने से बचें :

डॉक्टर भी गर्भवती महिलाओं को उसके गर्भावस्था के अंतिम तिमाही में अंगूर खाने से मना करते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि इसकी तासीर गरम होती है. इसलिए बहुत ज़्यादा अंगूर खाने से असमय प्रसव पीड़ा हो सकती है. कोशिश करें कि गर्भावस्था के समय अंगूर न खायें.

सॉफ्ट ड्रिंक से बचें :

एक अध्ययन के मुताबिक, गर्भावस्था में सॉफ्ट ड्रिंक पीने से शिशु का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है. बच्चों को मोटापे की शिकायत हो सकती है. विशेषज्ञों की मानें तो गर्भावस्था में सॉफ्ट ड्रिंक पीने वाली महिला के होने वाले बच्चे का बॉडी मास इंडेक्स काफी उच्च होता है और छोटी उम्र में ही बच्चे को पाचन और वजन से जुड़ी समस्याएं हो जाती हैं. इतना ही नहीं, प्रेगनेंसी में सॉफ्ट ड्रिंक पीने से गर्भपात की भी समस्या हो सकती है.

Share
Nidhi

Hello Friends, I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Recent Posts

भुट्टे का उपमा बनाने की विधि

उपमा सेहत के लिए काफी हेल्दी माना जाता है अगर इसे सुबह-सुबह बनाकर खाया जाए तो फिर ये सेहत के… Read More

July 16, 2019 1:09 pm

लक्ष्मी के पैर लेकर पैदा होती हैं इस माह में जन्मी बेटी, घर लाती हैं तरक्की और भाग्य

हिन्दू धर्म में लडकीयो को माँ लक्ष्मी का रूप समझा जाता है | अत: हिन्दू धर्मशस्त्रो के अनुसार जिस घर… Read More

July 16, 2019 1:02 pm

महिलाओं में इसलिए बढ़ रही है माइग्रेन की समस्या, इससे होगा फायदा

आज-कल की भागदौड़ वाली लाइस्टाइल में कई लोग मुख्य रूप से महिलाएं माइग्रेन की शिकार हो रही हैं और चिकित्सा… Read More

July 16, 2019 12:53 pm

घर में रसीली जलेबी बनाने की विधि

आपने अक्सर गली-मौहल्ले के नुक्कड़ पर मिलने वाली लाल या नारंगी रंग की कुरकुरी जलेबी का स्वाद जरूर चखा होगा।… Read More

July 15, 2019 5:42 pm

ब्लाउज के गले की आकर्षक डिजाइन

भारतीय महिलाओं के पसंदीदा कपड़ों में सबसे ज्यादा पहनी जाने वाली ड्रेस है साड़ी । इसे देश के हर राज्य… Read More

July 15, 2019 5:35 pm

चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिला रखे इन 7 बातों का खास ध्यान

साल 2019 का दूसरा चंद्र ग्रहण 16 जुलाई यानि कल शाम लगने जा रहा है, जो केवल भारत में ही… Read More

July 15, 2019 11:04 am