जानिये सिजेरियन (सी सेक्शन) डिलीवरी के बाद क्या खाएं क्या ना खाएं ?

0
13

हेल्लो दोस्तों प्रसव के बाद जल्दी ठीक होने के लिए पर्याप्त आराम के साथ-साथ सही खाना भी बहुत आवश्यक है। अगर आप सी-सेक्शन प्रसव से गुजरी हैं तब तो आपके लिए यह और भी आवश्यक हो जाता है कि आप अपने आहार को लेकर पूरी सावधानी बरते। सी-सेक्शन प्रसव के बाद आहार ऐसा होना चाहिए जो आपको आसानी से पच जाए। हालाँकि पहली बार माँ बनी महिलाओं को सी-सेक्शन प्रसव के बाद अपने आहार को लेकर अधिक जानकारी नहीं होती जिसके कारण वो अन्य लोगों की मदद लेती हैं। Foods after Cesarean Delivery

सी सेक्शन के बाद क्या खाएं :

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद शरीर का ध्यान रखने के साथ यह जानना बेहद आवश्यक है कि सी-सेक्शन प्रसव के बाद क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या खाना चाहिए इस पर एक नजरः

ये भी पढ़िए : गर्भावस्था में सोते समय भूलकर भी ना करें ऐसा, बच्चे पर पड़ता है खतरनाक

1. साबुत अनाज खाएं :

साबुत अनाज में बहुत से पोषक तत्व होते हैं जैसे कार्बोहायड्रेट, विटामिन, फोलिक एसिड, लौह और फाइबर आदि। इसलिए ब्राउन राइस, गेहूँ, ओट्स आदि का सेवन करें। यह न केवल आपके बल्कि आपके शिशु के स्वास्थ्य के लिए भी बेहतरीन हैं।

2. दालें खाएं :

दालों से हमें प्रोटीन, विटामिन, फ़ाइबर जैसे तत्व प्राप्त होते हैं जो सी-सेक्शन डिलीवरी के बाद बेहद आवश्यक है। अपने आहार में ऐसी दालों को शामिल करें जो आसानी से पच जाएं जैसे मूंग और मसूर की दाल। ये डालें ना केवल आपके सेहत के लिए बेहतर हैं बल्कि इससे आपको फेट और मोटापा जैसी समस्याओं से भी ग्रसित नहीं होंगे.

Foods after Cesarean Delivery
Foods after Cesarean Delivery

3. फल और सब्जियां :

फल और सब्जियां भी शरीर को स्वस्थ और चुस्त बनाये रखने में सहायक है। अपने आहार में अधिक से अधिक सब्जियां और फल लें ताकि आपको कब्ज या पाचन सम्बन्धी समस्याएं न हो। फल और सब्जियां जैसे तरबूज, नींबू, ब्रोकली, पालक, परवल, टिंडा, सेम, मेथी आदि शरीर के लिए लाभदायक होते हैं। नींबू में विटामिन सी होता है जो सी सेक्शन प्रसव के बाद होने वाले इन्फेक्शन से सुरक्षित रखने में मदद करता है।

4. मेवे जरूर खाएं :

ड्राई फ्रूट जैसे अखरोट और बादाम आपको फोलिक एसिड, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, जिंक, पोटेशियम और मैगनीज़ के अच्छे स्रोत हैं, जो स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं। इनको खाने से शरीर को एक नई ताकत मिलती है

ये भी पढ़िए : इन चीज़ों से हो सकता है गर्भपात, गर्भवती महिलाएं भूलकर भी न खाएं ये…

5. मसाले जो खा सकते हैं :

मसाले जैसे जीरा, अजवायन, हल्दी, हींग आदि भी सी-सेक्शन प्रसव के बाद स्वास्थ्यवर्धक हैं। जैसे जीरा स्तनों में दूध की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है। मेथी में कैल्शियम, लौह, खनिजों और विटामिन अच्छी मात्रा में होते हैं जिनका प्रसव के बाद सेवन करना उपयोगी होता है। हींग पाचन सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने में भी सहायक है जो प्रसव के बाद बहुत ही सामान्य होती हैं। हल्दी में विटामिन बी 6, सी, फ़ाइबर, पोटेशियम, मैगनीज़ और मैग्नीशियम होता है जो प्रसव के बाद घावों को भरने में मददगार है। हल्दी टांकों की सूजन को भी दूर करने में भी प्रभावी है।

6. फैट रहित डेयरी प्रोड्क्ट्स लें :

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद कम फैट वाले डेयरी प्रोड्क्ट्स जैसे स्किम्ड मिल्क, दही, सोया पनीर आदि खाना बेहतर है। बच्चों को मां के दूध से कैल्शियम मिलता है जिससे उसकी हड्डियां मजबूत होती हैं। इसलिए कम से कम दिन में दो से तीन गिलास दूध या अन्य डेयरी प्रोड्क्ट्स अवश्य अपने आहार में शामिल करें।

Foods after Cesarean Delivery
Foods after Cesarean Delivery

7. खूब पानी पिएं :

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद क्या खाएं यह तो सब सोचते हैं लेकिन पी क्या-क्या सकते है इसपर कोई ध्यान नहीं देता। सी सेक्शन या ऑपरेशन से डिलीवरी के बाद आपको कम से कम दिन में आठ या दस गिलास पानी अवश्य पिलाएं। पानी स्तनों में दूध की आपूर्ति को सुनिश्चित करता है। शुरुआत में हल्का गुनगुना पानी पिएं। आप इस दौरान अजवाइन का पानी भी पी सकती हैं। सी सेक्शन डिलीवरी के बाद नारियल पानी, संतरे का जूस, छाछ आदि

8. अजवाइन का पानी पिएं :

सी सेक्शन डिलीवरी हो या नॉर्मल डिलीवरी अजवाइन का पानी हमेशा महिलाओं के लिए बेहतर होता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। इसके अलावा यह मां का दूध बढ़ाने में भी सहायक होता है।

ये भी पढ़िए : गर्भावस्था में करेंगी इन चीजों का सेवन तो होने वाले बच्चे का रंग होगा

9. रागी, दलिया और ओट्स खाएं :

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद आपको फाइबर युक्त चीजों का सेवन अधिक करना चाहिए। फाइबर युक्त आहार प्रसव के बाद होने वाली कब्ज से राहत दिलाने व पेट साफ कराने के लिए बहुत जरूरी होता है।

सी सेक्शन के बाद क्या न खाएं :

1. तला-भुना खाना ना खाएं :

सी-सेक्शन प्रसव के बाद केवल हल्का आहार ही लेना चाहिए। तले भुने और अधिक मसालेदार भोजन का सेवन न करें क्योंकि यह आसानी से नहीं पचेंगे जिसके कारण पाचन से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। घी और अधिक घी से बने खाने से भी बचे क्योंकि यह भी पचने में आसान नहीं होते।

Foods after Cesarean Delivery
Foods after Cesarean Delivery

2. चाय-कॉफी का सेवन ना करें :

अधिक चाय या कॉफी का सेवन करना भी शिशु और महिला के स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है क्योंकि इनमें कैफीन होती हैं जिसका अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। जितने जल्दी हो सके इसको छोड़ देना चाहिए।

3. अल्कोहल ना लें :

सी-सेक्शन प्रसव के बाद अल्कोहल और धूम्रपान से भी बचना चाहिए। इनका भी गलत प्रभाव आपके शरीर पर पड़ सकता है। इसके साथ ही अगर आप स्तनपान करा रही हैं तो शिशु के लिए भी यह नुकसानदायक है। इसलिए इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

4. मसालेदार भोजन ना खाएं :

डिलीवरी के बाद कुछ दिनों तक मसालेदार भोजन से तौबा करें। मसालेदार आहार से दूध पर भी फर्क पड़ता है। इससे बच्चे को खट्टी डकारें या पेट दर्द भी हो सकता है। इसको खाने से पेट में चर्बी तेजी से बढ़ेगी और मोटापा बढ़ जाता है इसके अलावा तीखा खाने से खुजली और अलग तरह के रोगों का आना भी जायज होता है।

5. गैस बनाने वाले आहार ना खाएं :

सी सेक्शन डिलीवरी के बाद बैंगन, छोले, मूली, अरबी जैसी चीजें खाने से बचें। इन चीजों से पेट में गैस बनती है जो टांको के लिए अच्छी नहीं होती। इस दौरान खट्टा मीठा, खाली पेट चाय, अलग अलग तरह के व्यंजन आदि खाने से बचें। भिंडी, आचार, चावल, चना, मटर, राजमा, गोभी, बेसन आदि ऐसे ही आहार हैं। इसके अलावा सी सेक्शन डिलीवरी के बाद बैंगन, छोले, मूली, अरबी जैसी चीजें खाने से बचें। इन चीजों से पेट में गैस बनती है जो टांको के लिए अच्छी नहीं होती।

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here