हेलो फ्रेंड्स, झाड़ू (Broom) एक उपयोगी वस्तु है. जिसका इस्तेमाल हर घर में ज़रुर होता है. अक्सर हम घर में झाड़ू का कोई ध्यान ना रखते हुए काम होने के बाद घर के बेकार से कोने में पटक देते हैं. लेकिन वास्तु की दृष्टि से झाड़ू बेहद ही खास चीज़ है बल्कि वास्तु शास्त्र में इसे मां लक्ष्मी का दर्जा दिया गया है. जिससे संबंधित कुछ विशेष बातों का ध्यान अवश्य तौर पर रखना ही चाहिए. अन्यथा इसके दुष्परिणाम भी झेलने पड़ सकते हैं. तो चलिए बताते हैं झाड़ू (Ghar Me Jhadu Kahan Rakhen) से संंबंधित कुछ विशेष नियम जिनका पालन आपको अवश्य रूप से करना चाहिए.

झाड़ू एक ऐसा घरेलू सामान है जिससे घर की साफ-सफाई की जाती है. यह घास, फाइबर, प्लास्टिक या सींख की होती है और इसका इस्तेमाल हर घर में ही किया जाता है.

यह भी पढ़ें – पैसों की रहती है तंगी तो मुख्य द्वार पर लगाएं ये चीजें

झाड़ू से जुड़े वास्तु टिप्स – Vastu Tips Related To Broom

वास्तु के अनुसार झाड़ू कभी भी ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्व दिशा में नहीं रखनी चाहिए. इस दिशा में झाड़ू रखने से घर में धन का आगमन बंद हो जाता है. वहीं दक्षिण या दक्षिण- पश्चिम दिशा में झाड़ू रखना शुभ माना गया है.

वास्‍तु के अनुसार, झाड़ू को हमेशा दूसरो की नजरों से छिपाकर रखना चाहिए.

बेडरूम में भी झाड़ू रखने से बचना चाहिए.

किचन में भी झाड़ू रखने से बचना चाहिए. इससे धन-धान्य में कमी आती है.

घर आए मेहमानों की नजर झाड़ू पर कभी नहीं पड़नी चाहिए.

झाड़ू पर पैर पड़ना बहुत अशुभ माना गया है. ऐसा करने से मां लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं.

Ghar Me Jhadu Kahan Rakhen
Ghar Me Jhadu Kahan Rakhen

परिवार के किसी सदस्य के घर से बाहर जाने पर झाड़ू लगाना अशुभ होता है.

झाड़ू को हमेशा लिटाकर रखना चाहिए.

वहीं, सपने में झाड़ू दिखना अच्छा माना गया है. सपने में झाड़ू दिखने से धन लाभ के योग बनने हैं.

वास्तु शास्त्र के अनुसार टूटी हुई झाड़ू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और शनिवार के दिन ही घर में नई झाड़ू लानी चाहिए.

गुरुवार और शुक्रवार के दिन पुरानी झाड़ू कभी भी घर से बाहर नहीं निकालनी चाहिए, इससे मां लक्ष्मी और विष्णु जी का अपमान होता है.

वास्तु शास्त्र के मुताबिक सूर्यास्त के बाद भी कभी झाड़ू नहीं लगानी चाहिए.

अगर आप इन टिप्स के मुताबिक अपने घर में झाड़ू रखेंगे तो इसका फायदा होगा. मां लक्ष्मी की कृपा आपके घर पर हमेशा बरसती रहेगी.

यह भी पढ़ें – पोछा लगाते समय करे नमक का ये उपाय, परिणाम जान कर दंग रह जायेंगे

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here