नारी शक्ति : एक सैलून वाले की बेटी बनी UNADAP की गुडविल एंबेसडर

0
16

तमिलनाडु के मदुरै में एक सैलून चलाने वाले की बेटी को यूनाइटेड नेशंस एसोसिएशन फॉर डेवलपमेंट एंड पीस (UNADAP) के लिए “गुडविल एंबेसडर टू द पुअर” नियुक्त किया गया है. Salon Owner Daughter Appointed as UNADAP Goodwill Ambassador

लड़की का नाम एम नेत्रा है. नेत्रा ने पढ़ाई के लिए बचाकर रखे गए 5 लाख रुपये को गरीबों की मदद पर खर्च करने के लिए अपने पिता को मनाया.

यह भी पढ़ें : साइंस की दुनिया में भारत की इन 8 महिलाओं ने बनाई अनोखी पहचान

इन पैसों का उपयोग कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के बीच दिक्कतों का सामना कर रहे गरीबों की मदद पर किया गया है. पीएम मोदी ने भी मन की बात कार्यक्रम में नेत्रा और उसके पिता की प्रशंसा की थी.

UNADAP ने कहा कि नेत्रा को संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन न्यूयॉर्क और जेनेवा में बोलने का मौका दिया जाएगा. इसके अलावा 13 साल की नेत्रा को एक लाख रुपये की छात्रवृत्ति भी दी गई है.

Salon Owner Daughter Appointed as UNADAP Goodwill Ambassador
Salon Owner Daughter Appointed as UNADAP Goodwill Ambassador

नेत्रा का कहना है कि उसके परिवार का एकमात्र उद्देश्य गरीबों की मदद करना था और अब UNADAP के माध्यम से उसे लोगों की सेवा करने में मदद मिलेगी.

तमिलनाडु के मंत्री सेलुर राजू ने नेत्रा के इस काम की तारीफ करते हुए कहा कि वह मुख्यमंत्री पलानीसामी से स्वर्गीय मुख्यमंत्री जे जयललिता के नाम पर एक पुरस्कार से इस बच्ची को सम्मानित करने का आग्रह करेंगे.

यह भी पढ़ें : नई कंपनी में जुड़ने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें

मंत्री ने कहा, “कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेत्रा की तारीफ की थी. वह मदुरै का गर्व है.” उन्होंने कहा, “मैं मुख्यमंत्री से सिफारिश करूंगा इस लड़की को आगामी दिनों में जे जयललिता पुरस्कार से सम्मानित किया जाना चाहिए.”

Salon Owner Daughter Appointed as UNADAP Goodwill Ambassador

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात कार्यक्रम’ के दौरान नेत्रा के पिता सी मोहन की भी तारीफ की थी. उन्होंने कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच मुश्किल में फंसे लोगों के लिए अपनी बचत खर्च की है.

पीएम मोदी ने कहा, “मोहन जी मदुरै में सैलून चलाते हैं. कड़ी मेहनत से उन्होंने अपनी बेटी की पढ़ाई के लिए 5 लाख रुपये जोड़े थे. लेकिन इस मुश्किल समय में उन्होंने अपनी बच्ची की पढ़ाई के लिए बचाकर रखे गए पैसों को गरीब और जरूरतमंद लोगों पर खर्च कर दिया.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here