Tips for first day of school
Tips for first day of school
ad2

क्या करें जब बच्चा पहली बार स्कूल जाए? , बच्चों को स्कूल कैसे भेजे?, प्री स्कूल एडमिशन टिप्स, Tips for first day of school, first day of school tips for parents, how to prepare yourself for your child starting school, first day to school, pre school admission tips in hindi

ऐसा कहा जाता है कि बच्चों की शिक्षा घर से ही शुरू होती है और उसकी सबसे पहली शिक्षक उसकी मां होती है. माँ अपने बच्चे को बहुत सारी ऐसी आदतें सिखाती हैं जिन्हें सीखना उनके लिए बेहद जरूरी है. जब बच्चे पहली बार स्कूल जाते हैं तो माता-पिता को उन्हें कई सारी ऐसी बातें सिखानी चाहिए जो उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. यदि आप ये आदतें अपने बच्चे को स्कूल जाने के पहले ही डाल दें तो बच्चे को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

कैसा होता है पहली बार स्कूल जाना

first day to school

वैसे तो पहली बार स्कूल जाना बच्चों के लिए डरावना और माता-पिता के लिए घबराहट भरा हो सकता है। किसी भी बच्चे के लिए अजनबियों से भरी नई जगह पर जाने और माता-पिता से दूर रहना काफी मुश्किल हो सकता है। आज इस आर्टिकल में मै आपको बताने जा रही हूँ कुछ टिप्स जिन्हें अपनाकर बच्चे को स्कूल के लिए तैयार करना आपके लिए आसान हो जाएगा.

यह भी पढ़ें – दूसरे बच्चे की प्लानिंग से पहले ये 6 काम ज़रूर कर लें महिलाएं

स्कूल के लिए तैयार करने के तरीके

Tips for first day of school

अपने बच्चे को प्रीस्कूल के लिए कैसे तैयार करें यह एक सवाल है जो कई माता-पिता के पास होता है। ज्यादातर बच्चे किसी नई जगह जाने और ऐसे लोगों से मिलने के बारे में सोचकर चिंतित हो जाते हैं जिन्हें उन्होंने पहले कभी नहीं देखा। आप स्कूल के प्रति उत्साह और सकारात्मक दृष्टिकोण को बढ़ावा देकर अपने बच्चे को स्कूल जाने की चिंता को दूर कर सकते हैं। अपने बच्चे को स्कूल शुरू करने के लिए तैयार करने के कुछ बेहतरीन तरीके यहां दिए गए हैं:

सबसे पहले लिस्ट तैयार करें

यह जानने के लिए कि स्कूल के पहले दिन की तैयारी कैसे करें, आपके बच्चे को पहले यह समझना चाहिए कि स्कूल का दिन कैसा होगा। अपने बच्चे को स्कूल के नियमित कार्यक्रम के बारे में समझाएं। उसे बताएं कि आपके बच्चे के साथ कक्षा में कौन होगा और उसे वहां सबसे कैसा व्यव्हार करना है। उसे लंच बॉक्स से खाने का अभ्यास कराएं। अपने बच्चे को शांत बैठे रहने और निर्देशों को सुनने का अभ्यास कराएं। यह उसे कक्षा में लंबे समय तक बैठने और शिक्षक के निर्देशों का पालन करने के लिए तैयार करेगा।

Tips for first day of school

एक साथ स्कूल जाएँ

स्कूल शुरू होने से पहले आप अपने बच्चे के साथ स्कूल घूमे. ताकि वो स्कूल परिसर को जान सके. इस तरह, आप और आपके बच्चे को पता चल सकता है कि स्कूल परिसर कैसा दिखता है। आप बच्चे के शिक्षक और अन्य बच्चों के माता-पिता से भी मिल सकेंगे। आपका बच्चा अन्य बच्चों से दोस्ती कर सकता है जो स्कूल शुरू होने के बाद उसके सहपाठी होंगे। स्कूल में होने वाले किसी भी फंक्शन को अवॉयड ना करें.

साफ-सफाई करना सिखाएं

जब बच्चे छोटे होते हैं तो माता पिता ही उनका पूरा ध्यान रखते है, लेकिन जैसे-जैसे वह समझदार होते जाते हैं और स्कूल जाने लगते हैं वैसे-वैसे उनमें खुद की साफ-सफाई की आदत डेवलप करवाना माता पिता का पहला कर्तव्य होता है. आप अपने बच्चे को सिखाएं की टॉयलेट और वॉशरूम के बाद खुद को कैसे क्लीन करें. इसके अलावा उन्हें यह भी बताएं की कैसे अपने टीचर को बताएं अगर उन्हें टॉयलेट या वॉशरूम जाना हो तो.

यह भी पढ़ें – बच्चे के सोते समय इन चीज़ों पर किया गौर तो कभी नहीं पड़ेगा बीमार

घर पर स्कूल यूनिफार्म पहनाएं

बच्चे को स्कूल यूनिफॉर्म घर पर ट्राई करवाएं। इससे आपका बच्चा यूनिफॉर्म में स्कूल जाने के लिए उत्साहित होगा। यदि कोई यूनिफॉर्म नहीं है, तो आप स्कूल जाने के लिए लंच बॉक्स, वाटर बोतल, पेंसिल बॉक्स, खरीद सकते हैं और अपने बच्चे को स्कूल बैग में पैक कर सकते हैं। आप अपने बच्चे को रोज बैग में ये चीज़े रखने का अभ्यास कराएं. यह आपके बच्चे के लिए अपना स्कूल बैग स्वयं पैक करने का अभ्यास करने का एक तरीका है।

बच्चे से पूछें कि वह कैसा महसूस करता है

अपने बच्चे से पूछें कि वह स्कूल जाने के बारे में कैसा महसूस करता है। उसके डर या चिंताओं को ख़तम करने का प्रयास करें। स्कूल के बारे में बातचीत करते समय अपने बच्चे की प्रतिक्रिया को नोट करें। देखें कि आपका बच्चा उत्साहपूर्वक या उत्सुकता से प्रतिक्रिया करता है या नहीं। अपने बच्चे के सभी सवालों के जवाब देकर उसे आश्वस्त करने का प्रयास करें। सकारात्मक व्यवहार को बढ़ावा देकर अपने बच्चे को प्रोत्साहित करें।

Tips for first day of school
Tips for first day of school

सकारात्मक बातें करें

स्कूल के बारे में सकारात्मक बातें करें। बच्चे को स्कूल जाने की अच्छी अच्छी बातें बताएं. उसे बताएं कि कैसे नए दोस्त बनाना और नई चीजें सीखना बहुत मजेदार हो सकता है। आप अपने बच्चे को यह भी बता सकते हैं कि जब आप बच्चे थे तब स्कूल आपके लिए कितना मजेदार था। यह सब उसकी पहली बार स्कूल जाने की घबराहट को कम करेगा.

स्लीप रूटीन को नियमित करें

बढ़ते बच्चों के लिए नींद बहुत जरूरी है। स्कूल के दिनों में जल्दी सोना और जल्दी उठना जरूरी है। स्कूल शुरू होने से कुछ दिन पहले, अपने बच्चे को जल्दी सोना शुरू करें और उसे जल्दी उठने के लिए प्रशिक्षित करें। इस तरह, बच्चे की नींद की दिनचर्या नियमित हो जाती है, और उनकी नींद भी पूरी होती है. वर्ना अगर बच्चो की नींद पूरी नहीं होती तो वे और भी चिडचिडे हो जाते हैं.

यह भी पढ़ें – बच्चे का नाम रखते समय न करें ये 5 गलतियां, पड़ेगा पछताना

पहले से बच्चे को प्रशिक्षित करें

यदि आपके बच्चे की पूर्व तैयारी नहीं है तो स्कूल चुनौतीपूर्ण हो सकता है। स्कूल शुरू होने से पहले, अपने बच्चे को अपना नाम पढ़ने और लिखने के लिए प्रोत्साहित करें। उसे संख्याओं, रंगों और वर्णमाला के अक्षरों की मूल बातें सिखाएं। अपने बच्चे को क्ले का उपयोग करके फिंगर पेंटिंग या आकृतियाँ बनाने जैसी कलाकृतियाँ करने दें। साथ ही बच्चो को थैंक यू बोलना भी सिखाएं.

सुनने की क्षमता विकसित करें

जिन बच्चों को किताबें पढने का अनुभव है, उनके लिए पढ़ना और सीखना आसान होगा। अपने बच्चे थोडा थोडा पढ़ाने का अभ्यास कराएं इससे उसे सुनने की क्षमता विकसित करने में भी मदद मिलती है। अपने बच्चे के साथ गेम खेलें जिसमें निर्देशों को सुनना और बोलने के लिए उसकी बारी का इंतजार करना शामिल है। यह उसे स्कूल में निर्देशों को सुनने और समझने में भी मदद करेगा.

अधिक महत्वाकांक्षी ना हों

अपने बच्चे को ओवरशेड्यूल न करें। कई बार यह देखा गया है की माता-पिता अपने बच्चे को बहुत सी गतिविधियाँ सिखाने के लिए अलग अलग क्लासेज ज्वाइन करवा देते हैं. स्कूल के शुरुआती दिनों में ऐसा ना करें और अतिमहत्वाकांक्षी न हों. ऐसा करने से बच्चे को मानसिक तनाव हो सकता है. शेड्यूल को तब तक हल्का रखें जब तक बच्चा सारी चीज़े अच्छे से मैनेज करना ना सिख जाए।

रिलेटेड पोस्ट (Parenting Tips)

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

Previous articleक्यों मनाया जाता है गंगा दशहरा 2022 का पर्व, जानिए शुभ मुहूर्त, कथा, पूजन विधि और महत्व
Next articleनिर्जला एकादशी का व्रत करने वालों को ध्यान रखनी चाहिए 10 बातें | Nirjala Ekadashi Importance
Avatar
I am a freelance content writer. I write articles related to women's lifestyle, health, beauty, and wellness in both English and Hindi language. It is my pleasure and I love to share my thoughts with you through writing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here