सिंदूर लगाते समय भूलकर भी न करें ये गलतियां, वरना पति पर आ सकता है ये संकट

0
23

हिंदू परंपराओं के अनुसार शादीशुदा महिलाओं के लिए सिंदूर लगाने का काफी महत्व है क्योंकि सिंदूर एक सुहागन औरत की निशानी मानी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और सुख समृद्धि के लिए सिंदूर लगाती हैं, लेकिन कई महिलाएं सिंदूर लगाते समय कुछ गलतियां कर बैठती हैं। Mistakes While Applying Sindoor

ये भी पढ़िए : बहुत भाग्यशाली होते हैं वो पति जिनको मिलती हैं ये 4 गुणों वाली पत्नी,…

भारतीय संस्कृति के अनुसार अगर आप गलत तरीके से सिंदूर लगाती हैं, तो इसका असर सीधे सीधे आपके पति के भाग्य पर पड़ता है। शास्त्रों में कहा गया है कि सिंदूर हमेशा सही तरीके से ही लगाना चाहिए, नहीं तो इसका असर आपके शादीशुदा जिंदगी पर भी हो सकता है। बहरहाल आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं।

कैसे लगाएं सिंदूर :

मान्यता के अनुसार कहा जाता है कि अगर आप शादीशुदा हैं, तो सिंदूर लगाते समय हमेशा माता पार्वती का ध्यान अवश्य करें। इसका कारण ये है कि माता पार्वती ही अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद देती हैं।

Mistakes While Applying Sindoor
Mistakes While Applying Sindoor

मांग में सिंदूर ना छिपाएं :

आजकल के फैशन के दौर में अक्सर महिलाएं अपना सिंदूर मांग में छिपा लेती हैं, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। एक शादीशुदा महिला के लिए मांग में सिंदूर छिपाना अच्छी आदत नहीं होती, इसका बुरा असर आपके पति पर पड़ सकता है। शास्त्रों में स्पष्ट उल्लेख है कि एक सुहागन स्त्री के मांग में सिंदूर दिखाई देना चाहिए। कहा गया है कि सिंदूर छिपाने से पति के मान सम्मान में कमी होती है।

सिंदूर छोटा ना लगाएं :

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार जो महिलाएं मांग में लंबा सिंदूर लगाती हैं, उनके पति के मान-सम्मान में बढ़ोतरी होती है। यही नहीं पति को हर जगह इज्जत मिलती है। लिहाजा शादीशुदा महिलाओं को मांग पर कभी छोटा सिंदूर नहीं लगाना चाहिए।

ये भी पढ़िए : शादीशुदा महिलाओं को भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये 6 काम

नाक की सीध में लगाएं सिंदूर :

सुहागन स्त्रियों को नाक की सीध में सिंदूर लगाना चाहिए। टेढ़े मेढ़े सिंदूर लगाने से पति के साथ रिश्ते खराब होते हैं और पति के भाग्य में कमी आती है। अगर कोई शादीशुदा स्त्री टेढ़ी-मेढ़ी सिंदूर लगाती है, तो उसके पति हमेशा कोई न कोई परेशानी मेें घिरे रहते हैं। खैर, अगर आप अपने पति की भलाई चाहते हैं तो एक सीध में ही सिंदूर लगाएं।

Mistakes While Applying Sindoor

हर रोज लगाएं सिंदूर :

वर्किंग महिलाएं या कामकाजी महिलाएं अपने कभी कभी अपने काम काज में इतनी व्यस्त हो जाती हैं कि कई बार मांग पर सिंदूर नहीं लगा पाती हैं, लेकिन कोशिश करें कि आप हर रोज सिंदूर लगाएं। ऐसा करने से पति-पत्नी में प्यार बढ़ता है। लिहाजा हर रोज सिंदूर जरूर लगाएं।

बिना नहाए ना लगाएं सिंदूर :

शास्त्रों में बताया गया है कि शादीशुदा महिलाएं हमेशा ख्याल रखें कि कभी भी सिंदूर बिना नहाए न लगाएं और ना ही कभी भी अपना सिंदूर किसी दूसरी महिला के साथ शेयर करें। कहा जाता है कि ऐसा करने से पति का प्यार बंट जाता है और पति पत्नी में आपसी बैर और गलतफहमियां बढ़कर रिश्ता टूट जाता है।

ये भी पढ़िए : लक्ष्मी के पैर लेकर पैदा होती हैं इस माह में जन्मी बेटी

गिरा हुआ सिंदूर ना लगाएं :

कई दफा होता है कि सिंदूर लगाते समय डिब्बी हाथ से छूट जाती है और सारा सिंदूर जमीन पर गिर जाता है। ऐसे में कई महिलाएं उस सिंदूर को वापस उठाकर डिब्बी में भर देती हैं और उसे लगाना शुरू कर देती हैं, जबकि ऐसा कभी नहीं करना चाहिए। हिंदू शास्त्रों के अनुसार गिरा हुआ सिंदूर लगाने से अपशगुन होता है। माना जाता है कि अगर सिंदूर एक बार नीचे गिर जाए, तो वो अपवित्र हो जाता है। लिहाजा उस सिंदूर से अपना मांग नहीं भरना चाहिए।

Sindoor Lagata Samay Rakhen Dhyan
Sindoor Lagata Samay Rakhen Dhyan

कभी कभी पति के हाथ से सिंदूर लगवाएं :

शादीशुदा महिलाएं कोशिश करें कि सप्ताह में 1 बार कम से कम अपने पति के हाथ से मांग भरवाएं क्योंकि आप सिंदूर अपने पति के लिए ही लगाती हैं। आमतौर पर पति सिर्फ शादी के दिन ही पत्’नी की मांग भरता है और शादी के बाद महिलाएं अपने हाथ से ही सिंदूर लगाती हैं। जबकि शास्त्रों के अनुसार कभी कभी पति के हाथ से सिंदूर लगवाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here