अगर बच्चा लड़ाता है आपसे जबान तो अपनाएं ये 5 टिप्स

हेल्लो दोस्तों, मैं निधि स्वागत करती हूँ आप सभी का आपकी अपनी साईट पर. आज मैं आपको  बताने वाली हूँ की अगर बच्चा लड़ाता है आपसे जबान तो ये टिप्स अपनाये , कई बार बच्चे माता-पिता की बातों का ठीक से जवाब नहीं देते या चिल्ला कर जवाब देते हैं। उनके एेसे व्यवहार से माता-पिता का आहत होना स्वाभाविक ही है, परंतु माता-पिता को एेसे समय पर अपने बच्चों को समझाना चाहिए, उनका दिल टटोलना चाहिए। यदि बच्चों के उग्र के व्यवहार को माता-पिता सही दिशा नहीं देते हैं, तो बच्चे लागातार उसी तरह का व्यवहार को संतुलित किया जा सकता है। Improved Child Behavior

1. उसकी बात सुनें

जब भी पलट कर जबाव दे तो माता-पिता को अपनी प्रतिक्रिया बहुत सावधानी से देनी चाहिए, क्योंकि यह बच्चे के साथ उनके संबंधों को खराब कर सकती है। जब बच्चा गुस्से में हो, तब उसके प्रति अधिक उदार बनने की जरूरत है। एेसे में यदि आप सख्ती से पेश आएंगे तो बच्चे को लगेगा कि आप उसे कुछ भी बोलने की इजाजत नहीं दे रहे। इसकी अपेक्षा उसके मन में जो भी बात है, उसे निकल जाने दें।

अक्सर माता-पिता बच्चे से यह कहते सुने जा सकते हैं कि हम तुम्हारे माता-पिता हैं और तुम इस तरह कैसे बात कर सकते हो…, तो यह बात बच्चे को और चिढ़ाने वाली ही होगी। यदि आप एेसे में बच्चे से यह कहें कि उस विषय पर आप उसके साथ बाद में बात करेंगे तो यह एक बेहतर तरीका होगा।

2. बच्चे की परेशानी जानें

बच्चे के चिढ़ने पर माता-पिता का गुस्सा जायज नहीं होगा, बल्कि बच्चे के चिढ़ने की वजह जानने की कोशिश करनी चाहिए। हो सकता है बच्चा इसलिए गुस्सा कर रहा हो क्योंकि वह स्कूल में खुद को ठीक परिस्थितियों में ना पा रहा हो। स्कूल के होमवर्क का दबाव भी उसे चिढ़ा सकता है। जब भी वह पलट कर जवाब दे, तो शांति के साथ उससे पूछें कि आज उसके साथ क्या हुआ। वह बहुत सहजता के साथ आपके बातचीत करेगा।

3. बातचीत से समझाएं

जब भी बच्चा तेज आवाज में आपको फ्लट कर जवाब दे, तो उसे बहुत शांति के साथ समझाएं कि उसका इस तरह का व्यवहार ठीक नहीं हैं। बच्चे अक्सर अपने दोस्तों को देखकर इस तरह का व्यवहार करना सीखते हैं और यदि उन्हें समझाया जाए कि इस तरह के व्यवहार के कारण उन्हें कोई पसंद नहीं करेगा, तो वे इस तरह का व्यवहार दोबारा नहीं करेंगे।

4. वह आप से ही सीखता है

यदि आप बच्चों को कुछ सिखाना चाहते हैं,तो उसके लिए आपको खुद मॉडल बनना होगा। यदि माता-पिता आपस में ठीक से बातचीत नहीं करते या सही संबोधनों का प्रयोग नहीं करते या एक-दूसरे से ऊंची आवाज में बात करते हैं, तो बच्चे भी उन चीजों को सीखते हैं, इसलिए यदि बच्चे को उचित व्यवहार सिखाना है, तो माता-पिता को आपस में अच्छा व्यवहार करना होगा।

5. उसकी तारीफ करें

जब भी बच्चे कोई अच्छा काम करते हैं, तो उनकी तारीफ करने से ना चूंके। एेसा होना पर अगली बार वे उस तरह का व्यवहार करने को प्रेरित होंगे।

Share
Nidhi

Hello Friends, I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Recent Posts

कच्चे आम की कढ़ी बनाने की विधि

कच्चे आम से बनी हुई कढी का स्वाद दही मिलाकर बनी की कढी से अलग होता है. आमतौर पर इसमें… Read More

June 23, 2019 5:17 pm

टाइफाइड बुखार से बचाव के घरेलू इलाज

टाइफाइड एक खतरनाक बीमारी है, इस बीमारी में तेज बुखार आता है, जो कई दिनों तक बना रहता है। यह… Read More

June 23, 2019 3:21 pm

स्वादिष्ट काजू कतली बनाने की विधि

काजू की बर्फी बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है दिवाली जैसे बड़े-बड़े त्योहारों में हर घर में आपको काजू की बर्फी… Read More

June 22, 2019 6:15 pm

इन घरेलू उपचारों से कम कर सकते हैं कोलेस्ट्रॉल लेवल

मानव शरीर में कोलेस्ट्रॉल का बहुत महत्वपूर्ण काम होता है, परन्तु केवल इसकी मात्रा उतनी ही होनी चाहिए जितनी की… Read More

June 22, 2019 2:37 pm

चटपटी अचारी दही भिंडी बनाने की विधि

यदि आपको भिंडी की सब्‍जी काफी ज्‍यादा पसंद है तो आप अचारी दही भिंडी बना सकती हैं। अचारी दही भिंडी… Read More

June 22, 2019 11:15 am

दिल के रोग, कैंसर सहित कई बीमारियो में फायदेमंद है स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी एक ऐसा मनमोहक फल है, जिसे देख कर हर कोई उसे खाने की इच्छा करता है, दिल के आकार… Read More

June 21, 2019 5:33 pm