14 सितंबर को क्यों मनाया जाता है ‘हिंदी दिवस’, जानिए इसकी खास बातें

0
13

हेल्लो दोस्तों हर साल 14 सितंबर को राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य हिंदी भाषा को बढ़ावा देना है। 14 सितंबर के दिन ही हिंदी को देश की राजभाषा का दर्जा प्राप्त हुआ था। दुनिया में बोली जाने वाली तीसरी सबसे बड़ी भाषा है, लेकिन हिंदी को पूर्ण रुप से सही तरह से समझने, पढ़ने और बोलने वालों की संख्या कम है। हिंदी हमारी मूल भाषा होने पर भी लोग आज के समय में अंग्रेजी पर ज्यादा ध्यान देते हैं जिसके कारण हिंदी पिछड़ गई है। 14 सितंबर के दिन हिंदी को बढ़ावा देने के लिए कई कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं कराई जाती हैं। Hindi Diwas 2020

ये भी पढ़िए : आखिर 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस

आज भारत में लगभग 77% लोग हिंदी पढ़ते, बोलते, लिखते और समझते हैं. हिंदी दिवस का उत्सव 15 दिन पहले ही शुरू हो जाता है, इसे हिंदी पखवाड़ा के रूप में मनाया जाता है. हिंदी विश्व स्तर पर मंदारिन, स्पेनिश और अंग्रजी के बाद चौथे स्थान पर सबसे अधिक बोले जानी वाली भाषा है. विश्व में आज 4% से अधिक लोग हिंदी भाषा लिखते, बोलते और समझते हैं. जानते हैं हिंदी दिवस का इतिहास…  

Hindi Diwas 2020
Hindi Diwas 2020

ऐसे हिंदी बनीं देश की राजभाषा :

सन् 1947 में देश आजाद होने के बाद सबसे बड़ा प्रश्न था कि किस भाषा को राष्ट्रीय भाषा बनाया जाए। उसके बाद काफी विचार विमर्श करने के बाद 14 सितंबर सन् 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया। इसका उल्लेख संविधान के अनुच्छेद 343 (1) में किया गया है। जिसके अनुसार भारत की राजभाषा ‘हिंदी’ और लिपि ‘देवनागरी’ है। हिंदी के महत्व को बताने और इसके प्रचार प्रसार के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति के अनुरोध पर 1953 से प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाने की शुरुआत हुई।

ये भी पढ़िए : Father’s Day 2020 : फिर इस दिन से मनाया जाने लगा फादर्स डे

जब राजभाषा हिंदी पर उठे सवाल :

हिंदी को राज भाषा का दर्जा दिए जाने के बाद गैर हिंदी भाषी लोगों ने इसका विरोध किया। जिसके कारण अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा बनाया गया। हिंदी की सबसे अच्छी बात है कि ये समझने में बहुत आसान है, इसे जैसा लिखा जाता है इसका उच्चारण भी उसी प्रकार किया जाता है। हमारे देश में 77 प्रतिशत लोग हिंदी बोलते, समझते और पढ़ते हैं। आधिकारिक काम-काज की भाषा के तौर पर भी हिंदी का उपयोग होता है।

गांधी जी ने हिंदी को जन मानस की भाषा कहा था। सन् 1918 में हिंदी साहित्य सम्मेलन में गांधी जी ने हिंदी को राष्ट्रीय भाषा बनाने को कहा था। जब हिंदी को राज भाषा के रुप में स्वीकार किया गया, तब देश के प्रथम राष्ट्रपति डा. राजेन्द्र प्रसाद ने हिंदी के प्रति गांधी जी के प्रयासों को याद किया। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने इस दिन के महत्व को देखते हुए इस दिन के हिंदी दिवस के रुप में मनाने को कहा था।

Hindi Diwas 2020
Hindi Diwas 2020

वर्तमान स्थिति में हिन्दी :

आज के समय में हिंदी भाषा लोगों के बीच से कहीं-न-कहीं गायब होती जा रही है और इंग्लिश ने अपना प्रभुत्व जमा लिया है। यदि हालात यही रहे तो वो दिन दूर नहीं जब हिंदी भाषा हमारे बीच से गायब हो जाएगी। हमें यदि हिंदी भाषा को संजोए रखना है तो इसके प्रचार-प्रसार को बढ़ाना होगा। सरकारी कामकाज में हिंदी को प्राथमिकता देनी होगी। तभी हिंदी भाषा को जिंदा रखा जा सकता है।

भारत देश के नागरिक होने के नाते हम सब का कर्तव्य बनता है कि हम हिंदी को आगे बढ़ाने का प्रयास करें। अपने काम-काज की भाषा के रुप में हिंदी का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग करें। हमारे देश के प्रधानमन्त्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी भी अपने भाषण में स्वच्छ हिंदी का प्रयोग कर देश को हिंदी की विशेषता बताते हैं अब हमारी बारी है हमें अपनी भाषा का अधिक प्रयोग करना होगा

यह भी पढ़ें : माँ हमारी पहली टीचर होती है और दोस्त भी

हिन्दी दिवस पर बधाई सन्देश :

ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आप इन संदेशों के जरिए हिंदी दिवस की बधाइयाँ दे सकते हैं

  1. भारत माँ के भाल पर सजी स्वर्णिम बिंदी हूँ. मैं भारत की बेटी आपकी अपनी हिन्दी हूँ…. हिन्दी दिवस पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं |
  2. ना करो हिन्दी की चिंदी, हिन्दी तो है देश की बिंदी| हिन्दी दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं |
  3. टिप्पणी हर भारतीय की शक्ति है हिन्दी, एक सहज अभिव्यक्ति है हिन्दी. हिन्दी दिवस की बधाई
  4. हिंदी है तो हैं हम, बिन हिन्दी हम क्या है. हिन्दी से बढ़ती देश की शान, इससे ही होगा हमारा सम्मान| हिन्दी दिवस की बधाई
  5. हिंदुस्तान की शान हिन्दी, हर हिंदुस्तानी की पहचान है हिन्दी, एकता की अनुपम परंपरा है हिन्दी, हर दिल का अरमान है हिन्दी | हैप्पी हिन्दी दिवस
  6. हिन्दी है भारत की आशा, हिन्दी है भारत की भाषा| हिन्दी दिवस की बधाई
  7. मातृभाषा को जो नहीं करते सम्मान वो कहीं नहीं पाते सम्मान| हिन्दी दिवस की आप सभी को बधाई
  8. हिन्दी है भारत की आशा, हिन्दी है भारत की भाषा | हिन्दी दिवस पर आप सभी को शुभकामनाएं
  9. हिन्दी की ये बात सुनी जब ग्लानी से भर उठी मैं, तब सोचा माँ की पीर बंटा दूँ, जन-जन तक हिन्दी पहुंचा दूँ | हिन्दी दिवस पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं |
  10. मैंने पुछा हिन्दी से इतनी गुमसुम हो कैसे?? अब तो हिन्दी दिवस है है आना सम्मान तुम्हें सब से है पाना |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here