क्या है यूटीआई और यह कितने प्रकार की होती है? जानें इसके कारण, लक्षण और बचाव

यूटीआई यानि यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन महिलाओं को होने वाली एक सामान्य परेशानी है। ज्यादातर महिलाओं को अपने जीवनकाल में इस परेशानी का सामना करना पड़ता है। कुछ लड़कियों में जल्दी-जल्दी यूटीआई की समस्या होती रहती है। ऐसे में कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी है। यूटीआई दरअसल बैक्टीरिया के कारण होता है। यह बैक्टीरिया मूत्रमार्ग से होते हुए ब्लैडर तक पहुंच जाता है और संक्रमण फैलाता है। यहां तक कि कई बार ब्लैडर में सूजन जैसी समस्या भी देखने को मिलती है। बहरहाल विशेषज्ञों की मानें तो संक्रमण की स्थिति में कुछ चीजें करने से हर महिला को बचना चाहिए ताकि उनकी समस्या विकराल रूप इख्तियार न कर ले। UTI Symptoms and Treatment

यूटीआई के लक्षण :

  • पेशाब के दौरान दर्द होना।
  • वैजाइना में दर्द या जलन होना।
  • यूरिन पास करने के दौरान अधिक समय लगना।
  • सेक्स के दौरान अधिक दर्द होना।
  • बार-बार पेशाब आना।
  • मूत्र से दुर्गंध आना।
  • पेट के निचले हिस्से में दर्द होना।
  • हल्का बुखार होना।
  • कभी-कभी मूत्र के साथ खून भी आना।

यूटीआई के कारण :

यूटीआई होने की असली वजह महिलाओं का साफ न रहना है। वेबएमडी में छपे एक आलेख के मुताबिक महिलाओं को पेशाब के बाद नियमित अपने गुप्तांग की सफाई करनी चाहिए। असल में गुप्तांग बेहद संवेदनशील शारीरिक भाग होने के साथ-साथ बाहरी संक्रमण फैलने का खतरा भी इसमें सबसे ज्यादा होता है। अगर यूरेथरा यानी वह ट्यूब जहां से यूरिन पास होता है, कि अच्छी तरह सफाई न की जाए तो संक्रमण वहां से होते हुए ब्लैडर तक पहुंच सकता है जो कि यूटीआई के जिम्मेदार होता है।

क्या है यूटीआई का इलाज :

वैसे यूटीआई से संबंधित ट्रीटमेंट के तहत आपको विशेषज्ञों से संपर्क करने के बाद ही दवा लेनी चाहिए। इसके लिए डाक्टर कुछ एंटीबायोटिक दवा देते हैं जो कि यूटीआई में कारगर होते हैं। कई स्थिति में वे लो डोज एंटीबायोटिक देते हैं, जो लंबे समय तक चलती है। ऐसी दवा तब दी जाती है जब महिला विशेष को बार-बार यूटीआई होता है। बहरहाल इसके अलावा पीड़ित महिला को चाहिए वे नियमित डाक्टर के कहे मुताबिक दवा खाए और पानी ज्यादा से पिए। असल में पानी पीने से बैक्टीरिया के बाहर निकलने की संभावना ज्यादा रहती है। एक बात और हमेशा ध्यान रखें कि पेशाब के बाद अपने गुप्तांग की अच्छी तरह सफाई करें।

यही नहीं संबंध बनाने के बाद भी सफाई बहुत जरूरी होती हैं क्योंकि कई मामलों में संबंध बनाने के बाद भी यूटीआई होने की आशंका में इजाफा हो जाता है। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि अपने गुप्तांग को हमेशा सूखा रखें। दरअसल गीले होने के कारण भी बैक्टीरिया होने की आशंका बढ़ जाती है। इसके अलावा अपने बाथरूम को साफ रखें, गुप्तांग की सफाई के लिए अच्छे प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें। आप चाहें तो इस संबंध में भी डाक्टर की सलाह ले सकती हैं।

Share

Recent Posts

मानसून में फंगल इंफेक्शन का कारण और इससे बचने के घरेलू उपचार

बेशक सभी मौसमों की अपनी स्किनकेयर रूटीन होती हैं लेकिन मॉनसून में स्किनकेयर अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है। और इसका… Read More

August 16, 2019 5:40 am

ऐश्वर्या पिस्सी मोटरस्पोर्ट में वर्ल्ड चैम्पियन बनीं, यह खिताब जीतने वाली पहली भारतीय रेसर

Aishwarya Pissay Won Motorsports World Cup : किसी काम को करने सनक की हद तक दीवानगी उस काम में क़ामयाबी… Read More

August 15, 2019 3:45 pm

मूंगफली की कतली बनाने की विधि

मिठाई खाना और बनाना पसंद है और चाहते हैं कि घर पर काजू कतली बनाई जाए, लेकिन काजू बहुत महंगी… Read More

August 14, 2019 5:16 pm

बारिश के मौसम में बाल झड़ने की समस्या को चुटकी में दूर करेंगें ये 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

इस भाग दौड़ भरी ज़िंदगी और गलत खानपान की आदतें व व्यस्त लाइफ़स्टाइल की वजह से बालों के झड़ने की… Read More

August 13, 2019 5:41 pm

झटपट कलाकन्द बनाने की विधि

पारम्परिक तरीके से कलाकन्द बनाने में और समय भी अधिक लगता है. 2 बर्तन में अलग अलग बराबर -2 दूध… Read More

August 13, 2019 1:58 am

इस बार राशि के अनुसार चुनें अपने भाई के लिए राखी का रंग

रक्षा बंधन का त्यौहार आने ही वाला है ऐसे में सभी बहने अपने भाइयों के लिए राखी की खरीददारी करेंगी।… Read More

August 12, 2019 5:47 pm