Home स्वास्थ्य

सेहत के लिए वरदान है सब्जा सीड्स (बीज), जानिए इसके फायदे, नुकसान और उपयोग के तरीके | Sabja seeds benefits in hindi

0
4832
Sabja seeds benefits in hindi
Sabja seeds benefits in hindi

सब्जा सीड्स क्या है, सब्जा सीड्स (बीज) खाने के फायदे, सब्जा सीड्स का कैसे उपयोग करें, सब्जा सीड्स के नुकसान, Benefits Of Eating Sabja Seeds, Benefits Of Sabja Seeds, Sabja seeds benefits in hindi, Sabja Or Basil Beej, Sabja Seeds Ke Fayde, Sabja Seeds Ke Nuksan, sabja seeds for weight loss, sabja seeds in hindi, sabja seeds benefits, sabja seeds plant, sabja seeds usage,

हेल्लो दोस्तों इस आधुनिक युग में हमारी अनियमित होती जीवनशैली सीधे तौर पर हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। हमारे खान-पान में शामिल होता जंकफूड व पेय पदार्थ हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रही है। इसके अलावा हमारे आसपास के वातावरण में बढ़ता प्रदूषण भी हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ हमारी त्वचा व बालों को प्रभावित करती है। इससे बचाव के लिए हम घरेलू उपायों के तौर पर तुलसी बीज (सब्जा सीड्स) का प्रयोग कर सकते हैं। ये ठंडे ड्रिंक्स जैसे की फालूदा, शरबत, मिल्कशेक इत्यादि में दिखने वाला काले रंग का बीज सब्जा सीड्स होता है। आज की पोस्ट में हम स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद सब्जा बीज की पूरी जानकारी शेयर करेंगे।

सब्जा सीड्स क्या होते हैं? (Sabja Seeds Kya Hai)

सब्जा सीड (बीज) एक प्रकार का बीज होता है। जो औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी की एक प्रजाति है। सब्जा के बीज की तासीर ठंडी है, इसलिए इसका सेवन करने पर शारीरिक गर्मी दूर होती है। फाइबर युक्त सब्जा सीड्स का प्रयोग असंख्य स्वास्थ्य लाभों के साथ ही कई खाने की वस्तुओं में भी किया जाता है। सब्जा के बीज को स्वीट बेसिल सीड, तुकमलंगा या तुकमारिया सीड, फालूदा सीड या चिया सीड के नाम से भी जाना जाता है।

दुनियाभर में मशहूर सब्जा बीज का उत्पन्न स्थान भारत है। इसके अनेक स्वास्थ्यवर्धक लाभों के कारण बहुत सारे लोग इसे खाना या पीना पसंद करते है। अगर आप तेजी से वजन कम करना चाहते है, तो सब्जा सीड्स का सेवन करना लाभदायी है। शारीरिक और मानसिक विकास दोनों में यह बीज फायदेमंद है। उच्च पौष्टिक गुणवत्ता के कारण डॉक्टर अपने मरीज को सब्जा खाने की सलाह देते है। सब्जा सीड्स में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाये जाते हैं जैसे – प्रोटीन विटामिन और फैटी एसिड, यह सभी तत्व हमारे शरीर के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। यह सब तत्व एक ही वस्तु में मिलना हमारे लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं। इस कारण यह कई बिमारियों से हमारी सुरक्षा कर सकता है।

सब्जा बीज का उपयोग कैसे करें (Sabja Seeds Ke Upyog Ka Tarika)

अनेक रूप से स्वास्थ्य के लिए गुणकारी सब्जा बीज को कई तरह से उपयोग में लाया जा सकता है, पर ज़्यादातर लोग इसे ठंडी चीजों में डालकर पीना पसंद करते है। तो आइये जानते सब्जा बीज को रोजाना लाइफ में कैसे उपयोग में लाया जाए।

  • शरबत का स्वाद बढ़ाने और सेहतमंद बनाने में सब्जा के बीज फायदेमंद है। इसलिए अधिकतर इसे जूस या ड्रिंक्स में डाला जाता है।
  • मीठे व्यंजन जैसे की शीरा और खीर को स्वादिष्ट बनाने के लिए भिगोये हुए सब्जा के बीज उसमे डालते है।
  • सब्जा के बीज को नींबू शरबत में डालकर पीना बहुत फायदेमंद है।
Sabja seeds benefits in hindi
Sabja seeds benefits in hindi

सब्जा बीज के फायदे (Sabja Seeds Ke Fayde)

सब्जा सीड (तुलसी बीज) पौष्टिक गुणों का खजाना है। ड्रिंक्स और मीठी रेसिपी का स्वाद बढ़ाने में सब्जा के बीज बहुत उपयोगी है। बेहतरीन स्वाद के साथ यह स्वास्थ्य के लिए भी एक आयुर्वेद औषधि की तरह काम करता है। फ़ालूदा बनाने में सब्जा के भीगे हुए बीज प्रयोग किये जाते हैं इसलिये इन्हें फालूदा बीज (Falooda Seeds) भी कहा जाता है। भारत से ही दुनिया भर में फैले इन सब्जा के बीज का प्रयोग सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है. तो आइए जानते हैं सब्जा सीड्स (बीज) के फायदों के बारे में –

(1) त्वचा संबंधी रोगों में कारगर –

चेहरे को व्यक्तित्व का आइना माना जाता है। खूबसूरत, चमकदार और निखरी हुई त्वचा हर किसी के लिए मायने रखती है, इसलिए बाजार में मिलने वाले सस्ते से लेकर महंगे तक, सभी ब्यूटी प्रोडक्ट्स अच्छे से बिकते है किन्तु इन सब चीजों में भारी मात्रा में हानिकारक केमिकल मिलाए जाते हैं। चेहरे को कोई हानिकारक केमिकल के बगैर ही खूबसूरत बनाना हो तो सब्जा सीड्स फायदेमंद है। त्वचा की समस्याओ (sabza seeds benefits for skin) को दूर करने के लिए सब्जा सीड का फेसपेक बनाना चाहिए। इसके लिए सब्जा के सूखे हुए बीज को पीसकर नारियल या अरंडी के तेल के साथ मिला लें। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाने से त्वचा पर एक अलग ही निखार देखने को मिलेगा।

(2) पाचन क्रिया करता है दुरुस्त –

आज कल के जमाने में लोग वक्त बचाने के चक्कर में बाहर का खाना या पैकेट फूड्स खाते है। कभी कभार तो यह खाना स्वाद के लिए खाया जा सकता है, मगर रोजाना ज्यादा मात्रा में जंक फ़ूड का सेवन करने से पाचन प्रणाली पर बुरा असर पड़ता है। पाचन प्रक्रिया ठीक करने के लिए सब्जा सीड पूरी तरह से उपयुक्त है। सब्जा में मौजूद पाचक एंजाइम, हमारी पाचन संबंधी विकार को दूर करता है। रात को सोने से पहले भिगोए हुए सब्जा सीड बीज को एक गिलास दूध में डालकर पीने से पाचन प्रणाली अच्छी तरह से कार्य करती है।

(3) मानसिक समस्याएं करता है ठीक –

भावनात्मक स्तर से जब व्यक्ति को चोट पहुंचती है, तब व्यक्ति विषाद की परिस्थिति में आ जाता है। यह स्थिति ज़्यादा समय तक रहने से डिप्रेशन की बीमारी होती है। हमारे देश में मानसिक स्वास्थ्य सबंधित समस्याए लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसी स्थिति में दिमागी स्वास्थ्य तंदुरस्त रखना जरूरी है। शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रखने में सब्जा के बीज मददगार है। नियमित रूप से 20 से 30 मिनट तक शारीरिक व्यायाम जैसे की रस्सी कूदना, चलना, दौड़ना आदि करने से हमारी शारीरिक और मानसिक गतिविधि ठीक रहती है. इसके अलावा दूध, शहद के में सब्जा बीज डालकर उस मिश्रण का सेवन करने से डिप्रेशन, सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या दूर होती है।

(4) विषाक्त पदार्थो को बाहर करता है –

ज्यादा तेल की सामग्री या जंक फ़ूड जैसे पदार्थो का ज़्यादा मात्रा में सेवन करने से शरीर में अनावश्यक तत्व इकट्ठे होते है। जिनके कारण पाचन प्रक्रिया का किडनी और लिवर पर बुरा असर होता है। शरीर में विषाक्त पदार्थो की उपस्थिति के कारण अनेक प्रकार के रोग होने की संभावना रहती है। शरीर में से विषाक्त पदार्थो को बहार निकालने में सब्जा सीड अहम् भूमिका निभाता है। हानिकारक टॉक्सिन्स को बहार निकालने के लिए दूध या पानी के साथ सब्जा के बीज का सेवन करना लाभदायक है।

(5) मूत्र मार्ग इन्फेक्शन में बचाव –

गुप्तांगो में स्वच्छता न रखने के कारण मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन लग सकता है। मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन लगने की वजह से कही दिक्क़ते होती है। मूत्र विकार होने से बार बार पेशाब लगना, मूत्र मार्ग में जलन होना, पेशाब आने में कठिनाई, मूत्राशय में सूजन और दर्द होना जैसे लक्षण दिखते है। इन इन्फेक्शन को रोकने के लिए तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। इसके अलावा हम इस संक्रमण से बचने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच शहद और सब्जा के बीज डाल कर पीने से इस समस्या से उबर सकते हैं साथ ही इससे ब्लैडर, किडनी और मूत्र मार्ग के संक्रमण से राहत मिलती है।

(6) रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाता है –

कोरोना महामारी के दौरान इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाने के लिए लोगों ने कई उपाय किए। जिन लोगो की रोग प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है, ऐसे लोग ज्यादा बीमार पड़ते है। रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ाने में तुख मलंगा यानि सब्जा सीड काफी फायदेमंद है। नियमित सब्जा के बीज का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी होती है। सर्दी, खांसी, ज़ुखाम और अस्थमा जैसी बीमारियों से दूर रखने में सब्जा सीड्स कारगर है।

(7) वजन तेजी से कम करता है –

दुनियाभर में मोटापे (sabja seeds benefits for weight loss) से पीड़ित लोगो की संख्या अधिक है। इसके कारण लोगों को कई परेशानियों जैसे बैठने, उठने, चलने और दौड़ने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसके लिए लोग कई सारे उपचार आजमाते है। लेकिन उन सबसे ज़्यादा फायदा नहीं मिल पाता। वजन तेजी से कम करना हो तो नियमित एक्सरसाइज और सब्जा के बीज डालकर स्मूथी पीनी चाहिए। इसके लिए रोजाना सुबह खाली पेट भिगोए हुए सब्जा के बीज के अंदर शहद और नींबू मिलाकर पीने से, मोटापे से राहत मिलती है। सब्जा सीड्स में भरपूर मात्रा में मौजूद फाइबर होता है ये बार बार लगने वाली भूख को रोकता है, जिससे फैट और मोटापे की समस्या से निजात मिलती है।

Sabja seeds benefits in hindi
Sabja seeds benefits in hindi

(8) बालों को स्वस्थ और मजबूत बनाता है –

आज कल प्रदूषण की वजह से स्वास्थ्य के साथ बालों (sabja seeds benefits for hairs) पर भी बुरा असर होता है। ज़्यादा मात्रा में केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने से बाल सफ़ेद होना या बाल झड़ना जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। बालों को प्राकृतिक रूप से खूबसूरत और घना बनाने के लिए सब्जा बीज के फायदे मिलते है। यह बीज प्रोटीन, आयरन और कही उपयोगी पोषक तत्वों से भरपूर है। रोजाना सब्जा सीड्स का सेवन किया जाए तो बाल तेजी से लम्बे होते है।

(9) शरीर का तापमान नियंत्रित करता है –

गर्मियों के मौसम में बाहर घूमने से शरीर का तापमान जल्दी से बढ़ जाता है। हमारे शरीर का तापमान सामान्यत 37 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है। मगर वायरल फीवर या जुकाम लगने के कारण तापमान बढ़ जाता है। शरीर का तापमान व्यक्ति की शारीरिक स्थिती को दर्शाता है। इसके लिए सब्जा सीड (बीज) बहुत लाभदायी है। सब्जा सीड/तुख मलंगा की तासीर ठंडी होने से गर्मियों में ठंडक प्रदान करता है। सब्जा के बीज डाले हुए ड्रिंक्स पीने से हीट स्ट्रोक और अत्यधिक गर्मी लगना जैसी समस्याएं दूर होती है।

(10) हड्डियों को करता है मजबूत –

कैल्शियम की कमी, हड्डियों में चोट लगना या फ्रेक्चर के कारण भी हड्डिया कमजोर होने लगती है। हड्डियों और जोड़ो में अत्यधिक दर्द और कमजोरी होने के कारण बैठने, उठने और चलने में काफी दिक्क़ते होती है। इसके लिए कई दवाओं को खाना पड़ता है किन्तु आजकल इन दवाओं के कई दुष्परिणाम भी सामने आने लगे हैं. अतः हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए कैल्शियम युक्त डेरी प्रोडक्ट्स और सब्जा के बीज का सेवन करना उत्तम है। रोजाना सुबह नाश्ते में दूध के अंदर भिगोये हुए सब्जा के बीज डालकर पीने से बहुत ही कम वक्त में हड्डिया मजबूत होती है।

सब्जा बीज के खाने नुकसान (Sabja Seeds Ke Nuksan)

सब्जा बीज या तुलसी बीज हमें फायदेमंद ही हैं पर कभी-कभी किसी भी चीज की अधिकता हमारे लिए हानिकारक हो सकती है। अत: इसका सेवन उचित मात्रा में ही करना चाहिए। परेशानी होने पर अपने डाक्टर से जरूर सलाह लें।

  1. सब्जा बीज का ज़्यादा मात्रा में सेवन किया जाए तो, पाचन प्रणाली पर बुरा असर होता है। पाचन प्रक्रिया ठीक तरह से कार्य नहीं कर पाती।
  2. गर्भवती महिलाओ को सब्जा सीड्स का सेवन नहीं करना चाहिए। इसका सेवन करने पर मासिक पीरियड्स आने की संभावना रहती है। जिससे माता और शिशु दोनों के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंच सकता है।
  3. सब्जा के बीज का अत्यधिक सेवन करने से रक्त में शर्करा के प्रमाण में बढ़ोतरी होती है। जो डायबिटीज के मरीज के लिए हानिकारक है।
  4. इसका अधिक सेवन करने पर दस्त, सिरदर्द, जी मचलना, पेट दर्द और और भूख की कमी हो सकती है।
  5. सब्जा के बीज को सही तरह से भिगोकर न खाने से यह गले में अटक सकता है और इसे निगलने में परेशानी होती है।
  6. कभी कभी बहुत ही ज़्यादा मात्रा में सब्जा बीज का सेवन करने से खून पतला हो जाता है।
  7. यदि आपकी सर्जरी हुई है या आप दवाओं का सेवन करते हैं तो इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर से एक बार परामर्श जरुर कर लें।
Sabja seeds benefits in hindi
Sabja seeds benefits in hindi

सब्जा सीड्स और चिया सीड्स में अंतर (Sabja aur chia seeds me antar)

अधिकतर लोग चिया सीड और सब्जा सीड्स को एक ही समझते है। पर उन दोनों में काफी फर्क है, हालाकि दोनों बीज दिखने में एक जैसे होते है।

  1. चिया बीज (Chia Seeds) का उत्पादन मुख्य रूप से मेक्सिको में होता है। सब्जा बीज का उत्पादन भारत और अन्य एशियाई हिस्सों में होता है।
  2. चिया बीज बाहर से मंगवाए जाते है, इसलिए इसकी कीमत भारत में ज्यादा (लगभग ₹640 प्रति किलोग्राम) है। जबकि सब्जा सीड्स भारत की पैदाईश है, इस वजह से इसकी कीमत चिया सीड की तुलना में कम (लगभग ₹400 से 500 तक प्रति किलोग्राम) है।
  3. चिया सीड्स को ज़्यादातर दूध में भिगोकर खाया जाता है। जबकी सब्जा को ड्रिंक्स, आइसक्रीम, ठंडाई, मिठाई या खीर में डालकर खाया जाता है।
  4. चिया सीड ज्यादा वक़्त पानी में भीगने पर थोड़े फूलते और नर्म होते है। सब्जा बीज सिर्फ 10 या 15 मिनट में भीगकर अच्छे फूल जाते है।
  5. चिया सीड्स को कच्चा भी खाया जाता है। और सब्जा बीज भिगोने के बाद ही खाया जाता है।
  6. रंग में चिया सीड ब्लैक, ग्रे और ब्राउन होते है। सब्जा बीज सिर्फ गहरे काले रंग के देखने मिलते है।

रिलेटेड पोस्ट (Related Post)

खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान
ब्रेन बूस्टर सीड्स से शरीर में गज़ब के होंगे फायदे
घर पर ऐसे बनाएं छत्तीसगढ़ की लोकप्रिय जिमीकंद (सूरन) की स्वादिष्ट सब्जी
सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है टेस्टी और स्वादिष्ट कश्मीरी कहवा (कावा) रेसिपी,…

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here