ad2

क्या होता है व्हाइट डिस्चार्ज, वाइट डिस्चार्ज क्यों होता है, सफेद पानी क्यों आता है?, सफेद पानी या ल्यूकोरिया के लक्षण, वाइट डिस्चार्ज के कारण, सफेद पानी को रोकने के घरेलू उपाय, Home Remedies For Leucorrhoea, White discharge kya hota hai, safed pani aana, White Discharge Kyu Hota Hai, Safed Pani kyu aata hai, Safed Pani ke Lakshan, White Discharge ke karan, Safed pani rokne ke nuskhe

हेल्लो दोस्तों, आमतौर पर सभी महिलाएं व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज (Home Remedies For Leucorrhoea) का अनुभव करती हैं। महिलाओं में सफेद पानी (लिकोरिया) यानि व्हाइट डिस्चार्ज आना (safed pani aana) एकदम सामान्य बात है। लेकिन कई बार जब हमें इस पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए, तभी नहीं दे पाते। ऐसा जानकारी के अभाव के कारण होता है।

अब जिस चीज़ को आप लगभग रोज़ अनुभव करती हैं, उसके बारे में आपको सही जानकारी तो होनी ही चाहिए … हम यहां आपको व्हाइट डिस्चार्ज या वैजाइनल डिस्चार्ज (White Discharge) के बारे में पूरी जानकारी दे रहे हैं। साथ ही जानिए सफेद पानी के घरेलू नुस्खे के बारे में बात रहे हैं।

यह भी पढ़ें – सुबह केला खाकर गर्म पानी पीने से होंगे चौंकाने वाले फ़ायदे

क्या होता है व्हाइट डिस्चार्ज – White discharge kya hota hai

सभी महिलाओं को कभी न कभी वाइट डिस्चार्ज की समस्या होती ही है। आमतौर पर या पीरियड आने से पहले (White discharge after period) या फिर पीरियड्स के कुछ दिनों के बाद (White discharge before period) में होती है तो इसे एक सामान्य समस्या माना जाता है। आखिर यह वाइट डिस्चार्ज क्या है? यदि हम साधारण भाषा में कहे तो वाइट डिस्चार्ज कुछ प्राकृतिक तरीकों से वजाइना को साफ करने में भी काफी मदद करता है। इंटर कोर्स के दौरान इसके वजह से एक तरह की चिकनाई प्रदान करता है तथा यौन संक्रमण रोकने में काफी कारगर साबित होता है। यह वाइट डिस्चार्ज गाढ़ा या पतला भी हो सकता है। इसका रंग पीला भूरा हरा या सफेद रंग का भी हो सकता है।

वाइट डिस्चार्ज जिसे हम श्वेत या सफेद पानी का प्रदर कहते हैं यह एक प्राकृतिक शारीरिक प्रक्रिया होती है जिसके कारण योनि से स्राव होता है। अक्सर महिलाओं को जब पीरियड होता है तब वह तनावग्रस्त एवं चिड़चिड़ी हो जाती है। यहां हम तो आप पर थोड़ा चिपचिपा एवं पतला होता है। इन सबके अलावा वे अपनी सेक्स लाइफ को लेकर थोड़ा तनावग्रस्त रहने लगती हैं साथ ही साथ उनके हॉर्मोन भी असंतुलित होना शुरू हो जाता है। इसी वजह से महिलाओं को वाइट डिस्चार्ज के समस्याएं होती हैं।

Home Remedies For Leucorrhoea
Home Remedies For Leucorrhoea

आमतौर पर यह समस्या पानी की तरह पारदर्शी होती है परंतु कभी-कभी यह गाढ़ी अजीब रंग की तथा गंध हीन भी होती है तथा इसे ही ल्यूकोरिया कहां जाता है। ल्यूकोरिया या लिकोरिया एक तरह का रोग होता है जो औरतों में पाया जाता है इसे श्वेत प्रदर भी कहते हैं। महिलाओं में इस तरह के रोग से ग्रस्त होने के कारण उनकी योनि से अधिक मात्रा में सफेद बदबूदार पानी निकलने लगता है जिसे वेजाइनल डिस्चार्ज कहा जाता है।

वाइट डिस्चार्ज क्यों होता है White Discharge Kyu Hota Hai

व्हाइट डिस्चार्ज, जिसे सफेद पानी या श्वेत प्रदर भी कहते हैं, यह एक प्राकृतिक शारीरिक प्रक्रिया है जिसके परिणामस्वरूप योनि से स्राव होता है (White Discharge Kyu Hota Hai)। यह आमतौर पर पतला और थोड़ा चिपचिपा होता है। अक्सर पीरियड से पहले या जब पीरियड अनियमित होता है, तब महिलाएं चिड़चिड़ी और तनावग्रस्त हो जाती हैं। इसके अलावा वे सेक्स लाइफ को लेकर तनाव में रहने लगती हैं। साथ ही उनके हॉर्मोन भी असंतुलित होने लगते हैं। परिणामस्वरूप महिलाओं को व्हाइट डिस्चार्ज होने लगता है।

आमतौर पर यह पानी की तरह पारदर्शी होता है। हालांकि, कभी-कभी यह गाढ़ा, अजीब रंग का और गंधहीन भी हो जाता है, जिसे ल्यूकोरिया कहते हैं। ल्यूकोरिया या लिकोरिया (likoria ka ilaj) औरतों को होने वाला एक रोग है, जिसे श्वेत प्रदर भी कहते हैं। इस रोग से ग्रस्त महिला की योनि से बहुत ज्यादा मात्रा में सफेद बदबूदार पानी निकलता है, जिसे वेजाइनल डिस्चार्ज कहते हैं।

यह भी पढ़ें – अगर बच्चेदानी में रसौली या गाँठ हो जाए तो ये हैं घरेलू उपाय

सफेद पानी क्यों आता है? – Safed Pani kyu aata hai

ज्यादातर महिलाओं में मासिक धर्म आने से कुछ दिन पहले योनी से सफेद पानी आता है। क्योंकि इस दौरान गर्भाशय ग्रीवा और गर्भाशय में मासिक धर्म से पहले योनि को साफ करने के लिए अधिक द्रव का उत्पादन होता है, जो कि हमें सफेद पानी के तौर पर नजर आता है। Home Remedies For Leucorrhoea

सफेद पानी या ल्यूकोरिया के लक्षण Safed Pani ke Lakshan

महिलाओं में सफेद पानी की समस्या होना आम बात है। वैसे तो इससे डरने की काई ज़रूरत नहीं है, लेकिन ये कैसे पता चलेगा कि वैजाइनल डिस्चार्ज की वजह से अब आपको डॉक्टर की सलाह की ज़रूरत है। अगर आपको यहां बताए गए कुछ लक्षण नज़र आ रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लेने में ज़रा भी देर न करें।

  • अगर बार-बार बुखार होता है और तापमान काफी बढ़ जाता है।
  • अगर पेट में कभी-कभी असहनीय दर्द होता है।
  • बहुत मेहनत न करने के बावजूद आपको थकान ज्यादा हो जाती है।
  • अगर बार-बार टॉयलेट जाना पड़ता है।
  • सफेद और गाढ़ा योनिस्त्राव यानि कि वाइट डिस्चार्ज होना।
  • अगर आपका वजन अचानक बिना किसी कारण कम होने लगे।
  • यदि दो पीरियड्स के बीच इंटरकोर्स के दौरान दर्द होता है और वैजाइना से रक्तस्राव होता है।
  • अगर वैजाइना हमेशा गीली रहती है और उसमें खुजली महसूस होती है।
  • इंटरकोर्स के दौरान योनि में दर्द या जलन होना।
  • वैजाइना से अत्यधिक बदबू का आना।
Home Remedies For Leucorrhoea
Home Remedies For Leucorrhoea

वाइट डिस्चार्ज के कारण – White Discharge ke karan

वैसे यह योनि से सफेद पानी का आना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। लेकिन जब ये पानी गाढ़ा व बदबूदार होने लगे तो सफेद पानी की समस्या को इग्नोर करना सही नहीं है। क्योंकि प्राइवेट पार्ट की साफ-सफाई न रखने और यौन मार्ग में संक्रमण आदि की वजह से योनि से सफेद पानी आने लगता है। सफेद पानी की समस्या होने के कई कारण होते हैं, जो ज्यादतर लोगों को पता ही नहीं होते हैं। तो आइए जानते हैं इनके बारे में –

  • एंटीबायोटिक्स का ज्यादा सेवन
  • बैक्टीरियल इन्फेक्शन जैसे- असुरक्षित सेक्स, यूरिन के लिए पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल, स्वच्छता की कमी, एनल इन्फेक्शन (गुदा संक्रमण) आदि।
  • रोज़ गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन
  • वैजाइना में साबुन का इस्तेमाल
  • मल्टीपल सेक्स पार्टनर

अन्य कारण – जैसे ज्यादा डायटिंग करना, अश्लील बात-चीत, रोगग्रस्त पुरुष से संबंध बनाने, इंटरकोर्स के बाद योनि को साफ न करना, अंडरग्रामैंट गंदे व रोज न बदलने, यूरीन के बाद योनि को पानी से न धोने या बार-बार गर्भपात करवाना

यह भी पढ़ें – महीनेभर में ही गायब हो जाएगा मोटापा, रोजाना पीएं ये 5 नैचुरल ड्रिंक

सफेद पानी को रोकने के घरेलू उपाय Safed pani rokne ke nuskhe

इन दिनों लगभग सभी उम्र की लड़कियां सफेद पानी की समस्या को झेल रहीं है। एक्सपर्ट का कहना है कि व्हाइट डिस्चार्ज या श्वेत प्रदर की दिक्कत को साफ सफाई रखने, हेल्दी डाइट और कुछ घरेलू नुस्खों द्वारा कंट्रोल किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं सफेद पानी की समस्या को दूर करने के आसान घरेलू उपाय के बारे में, जिनको महिलाएं आसानी से घर में कर सकती हैं –

  • गूलर का फूल पीसकर उसमें मिश्री व शहद मिलाकर दो-तीन बार सेवन करने से वैजाइनल डिस्चार्ज की समस्या से छुटकारा मिलता है।
  • कच्चे केले को सुखाकर उसका चूरन बना लें। अब उसमें समान मात्रा में गुड़ मिलाकर दिन में तीन बार कुछ दिन तक लेने से वैजाइनल डिस्चार्ज में आराम मिलता है।
  • आप चाहें तो फालसे का शर्बत भी पी सकती हैं, हालांकि यह फल सीज़नल होता है। इसलिए जितने समय यह मिलता है, आप इसका फायदा उठा सकती हैं।
  • हरे आंवले को पीस कर उसे जौ के आटे में मिलाकर उसकी रोटी एक महीने तक खाने से व्हाइट डिस्चार्ज से आराम मिलता है। इसके अलावा 3 ग्राम आंवले का पाउडर शहद के साथ दिन में तीन बार चाटने से भी इस समस्या से छुटकारा मिलता है।
Home Remedies For Leucorrhoea
Home Remedies For Leucorrhoea
  • भिंडी को उबालकर आप इसका सेवन कर सकती हैं। कुछ लोग दही में भिंडी को मिलाकर इसका सेवन करते हैं। भिंडी से वैजाइनल इन्फेक्शन दूर होता है।
  • धनिया के बीज को रातभर भिगोकर रखें। इसके बाद अगली सुबह इसका सेवन खाली पेट करें। इसका सेवन से सफेद पानी की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।
  • तुलसी की पत्तियों का जूस बनाकर उसमें शहद मिला लें। इसका सेवन करके भी यह समस्या दूर होती है।
  • 15 से 20 अमरूद की पत्तियों को तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा न हो जाए। अब इस पानी को छान लें और ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें।
  • चावल को पकाते समय चावल के स्टार्च को अलग निकाल लें। इसके बाद इसका सेवन करें। इससे भी आपकी परेशानी दूर हो जाएगी।
  • अनार की पत्तियां भी इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार होती हैं। आप अनार के पत्तों का पेस्ट बनाकर इसका सेवन सुबह खाली पेट कर सकती हैं।

रिलेटेड पोस्ट Health Post

अगर हो रही है व्हाइट डिस्चार्ज की समस्या, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे मिलेगा आराम
जानिये क्या होता है जब मर्दों की तरह औरतों को भी झेलना पड़ता है स्वप्न दोष, जान कर रह जाएंगे दंग
महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट के साथ ऐसी गलतियां करना आज ही छोड़ दें

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

Previous articleइन बीमारियों के लिए रामबाण औषधि है तुलसी की चाय, ये है बनाने का परफेक्ट तरीका
Next articleजया एकादशी का व्रत कब है? जानिये शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व
Nidhi
I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here