कांटेक्ट लेंस छीन सकते हैं आपकी आंखों की रोशनी

Contact Lens Causes of Eyesight : आंखों की रोशनी कम होने पर एेनक या फिर कांटेक्ट लैंस का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ लोग ऐनक लगाने से बचते हैं और इसकी जगह पर कांटेक्ट लैंस का इस्तेमाल करते हैं, वहीं कुछ लोग शोंकिया तौर पर भी कलरफुल आई कांटेक्ट लैंस यूज करते हैं लेकिन क्या कांटेक्ट लैंस आपकी आंखों के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं।

कॉन्टेक्ट लेंस लगाना आज कल लोगों के लिए काफी आम बात हो गई है. चश्मे से निजात दिलाने वाला ये अविष्कार लोगों की खूबसूरती में चार चांद लगा रहा है. डिब्बी में बंद छोटे से कांच की तरह दिखने वाली ये चीज बड़े ही कमाल की है. लेकिन क्या आपको पता है कि इसका उपयोग जितना आकर्षक है उतना ही हानिकारक इसका परिणाम हो सकता है.

कॉन्टेक्ट लेंस लगाने वाले लोग अक्सर कई समस्याओं की शिकायत करते हैं. यदि आप भी कॉन्टेक्ट लेंस उपयोग करते है तो समस्या होना आम बात है लेकिन इसका उपाय होना भी जरूरी है.

आंखे लाल हो जाना :

कॉन्टेक्ट लेंस पहनने वाले लोगों को आंखों के लाल होने की समस्या आम ही लगती है, लेकिन ये सही नहीं है. शरीर का हर अंग अपनी बिगड़ती प्रक्रिया को एक अलग तरीके से प्रदर्शित करता है. आंखों में कुछ भी गड़बड़ होने पर वे तुरंत लाल हो जाती है. कॉन्टेक्ट लेंस पहनने से अगर ऐसा होता है तो जरूरी है आप विशेषज्ञ से सलाह लें.

लेंस का अटक जाना :

ज्यादा देर तक लेंस को पहने रखने से वे कई बार आंखों में चिपक जाते हैं. इन्हें खींचने पर आंखों की झिल्ली भी उसके साथ खिंचती है. इसमें दर्द का अनुभव होता है, साथ ही आँख में घाव भी हो जाते हैं. इससे बचने के लिए लेंस के ब्रांड और वैराइटी पर फिर एक बार सलाह लें. इसके दुष्परिणाम आपकी आंखों की रोशनी भी छीन सकते हैं.

पानी सूख जाना :

कभी कभी घंटों तक लेंस लगाने से आंखों का पानी सूख जाता है. इसके चलते लेंस भी कठोर हो जाते हैं. ऐसे में आंखों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है और दृष्टि में भी बाधा उत्पन्न होती है. इसके लिए आंखों में लेंस सॉल्यूशन डाल सकते हैं. समस्या ज्यादा है तो नेत्र चिकित्सक को दिखाएं.

अक्नथामोईबा केराटिटिस इंफैक्शन :

एक ताजा अध्ययन में यह तथ्य सामने आया है कि कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल करने वाले लोगों की आंखों में एक प्रकार का संक्रमण पाया गया है जिससे आंखो की रोशनी जा सकती है। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन( यूसीएल) और मूरफिल्ड्स आई हॉस्पिटल के वैज्ञानिकों की टीम ने 273 लोगों पर अध्ययन किया तथा इस नतीजे पर पहुंची है। टीम ने कहा कि कांटेक्ट लेंस लगाने वाले लोगों की आंखों में ‘अक्नथामोईबा केराटिटिस’ संक्रमण पाया गया है और इस संक्रमण से वर्ष 2011 में तीन गुणा बढ़ोतरी हुई है। ब्रिटिश जनरल ऑफ ऑप्थलमोजी में इस सप्ताह प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि कांटेक्ट लेंस लगाने वाले उन लोगों में यह संक्रमण हो सकता है जो लेंस की साफ-सफाई सही तरीके से नहीं करते हैं और संक्रमित लेंस सोल्यूशन का उपयोग करते हैं।

केराइटिसिस के लक्षण :

इस बीमारी में आंखों में दर्द और खुजली होने लगती है। कॉर्निया में दर्द की वजह से सूजन हो सकती है, जिससे आंखों की रोशनी को बहुत नुकसान पहुंचता है। परेशानी बढ़ने के कारण आंखों की रोशनी जा भी सकती है। इससे पहले हुए एक शोध में पता चला है कि इस तरह का इंफैक्शन रोजाना 10,000 में से 4 लोगों को होता है। जिसके मामले बढ़ने से परिणाम आगे चलकर चिंताजनक भी हो सकते हैं।

बरतें सावधानियां :

  • साफ हाथों से लैंस पहनें और उतारे
  • कांटेक्ट लेंस स्टोरेज केस को सलूशन से साफ करके सूखा कर रखें।
  • तीन महीने बाद स्टोरेज केस को बदल दें।
  • ज्यादा लंबे समय तक कंटेक्ट लेंस न पहनें, निश्चित अवधि के बाद इसे बदल लें।
  • सिलिकॉन कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल करना बेहतर है। इससे ऑक्सीजन का प्रवाह सामान्य रहता है, जिससे इंफैक्शन से बचाव रहेगा।
  • आंखों को लेकर जरा-सी लापरवाही भारी पड़ सकती है। लालगी,जलन, आंखों की सूजन और दर्द महसूस करें तो तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें।

पढ़े दिशा-निर्देश :

यूसीएल के प्रोफेसर जॉन डार्ट ने कहा कि कांटेक्ट लेंस के इस्तेमाल से पहले दिशानिर्देशों को अच्छी तरह पढ़ लेना चाहिए और उस पर अमल करना चाहिए। उन्होंने कहा,ऐसा करके हम इस खतरनाक संक्रमण से बच सकते हैं।

Share
Nidhi

Hello Friends, I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Recent Posts

मानसून में फंगल इंफेक्शन का कारण और इससे बचने के घरेलू उपचार

बेशक सभी मौसमों की अपनी स्किनकेयर रूटीन होती हैं लेकिन मॉनसून में स्किनकेयर अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है। और इसका… Read More

August 16, 2019 5:40 am

ऐश्वर्या पिस्सी मोटरस्पोर्ट में वर्ल्ड चैम्पियन बनीं, यह खिताब जीतने वाली पहली भारतीय रेसर

Aishwarya Pissay Won Motorsports World Cup : किसी काम को करने सनक की हद तक दीवानगी उस काम में क़ामयाबी… Read More

August 15, 2019 3:45 pm

मूंगफली की कतली बनाने की विधि

मिठाई खाना और बनाना पसंद है और चाहते हैं कि घर पर काजू कतली बनाई जाए, लेकिन काजू बहुत महंगी… Read More

August 14, 2019 5:16 pm

बारिश के मौसम में बाल झड़ने की समस्या को चुटकी में दूर करेंगें ये 6 आयुर्वेदिक नुस्खे

इस भाग दौड़ भरी ज़िंदगी और गलत खानपान की आदतें व व्यस्त लाइफ़स्टाइल की वजह से बालों के झड़ने की… Read More

August 13, 2019 5:41 pm

झटपट कलाकन्द बनाने की विधि

पारम्परिक तरीके से कलाकन्द बनाने में और समय भी अधिक लगता है. 2 बर्तन में अलग अलग बराबर -2 दूध… Read More

August 13, 2019 1:58 am

इस बार राशि के अनुसार चुनें अपने भाई के लिए राखी का रंग

रक्षा बंधन का त्यौहार आने ही वाला है ऐसे में सभी बहने अपने भाइयों के लिए राखी की खरीददारी करेंगी।… Read More

August 12, 2019 5:47 pm