Benefits and side effects of eating papaya
Benefits and side effects of eating papaya
ad2

Benefits and side effects of eating papaya : फल खाना सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है क्योंकि फलों में सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर को बेहतर बनाने के लिए बेहद जरूरी होते हैं। सुबह सुबह खाली पेट पपीता खाने के फायदे (benefits of eating papaya in the morning) अनगिनत होते हैं। पपीता जरुरी पोषक तत्वों में सबसे ऊपर होता है।

पपीता केवल बच्चों को ही नहीं बल्कि बुजुर्गों को भी पसंद आता है क्यों कि यह आसानी से खाया जा सकता है। बहुत से लोगों को पपीते का जूस (papaya juice) भी बेहद पसंद होता है। इस आर्टिकल में मैं आपको बताउंगी कि खाली पेट सुबह पपीता खाने (benefits of eating papaya empty stomach in morning) के कौन से लाभ होते हैं ।

यह भी पढ़ें – डेंगू बुखार के लिए रामबाण हैं ये चीजें, तेजी से बढ़ाते हैं प्लेटलेट्स

एक्सपर्ट की मानें तो पपीता खाना इसलिए भी अच्छा होता है क्योंकि इसमें कैलरी कम होती है और फाइबर अधिक मात्रा में होता है। यह पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है और वजन कम करने में भी सहायता करता है। सुबह सुबह खाली पेट (subah khali pet papita khane ke fayde) पपीता खाने से कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित रहता है और यह विषाक्त पदार्थों को भी साफ करता है। इसमें पाचन वाले एंजाइम होते हैं जो मल त्याग को सुचारू बनाते हैं। पपीता, पेट संबंधित सभी शिकायतें दूर करता है और सूजन, पेट खराब या कब जैसे विकारों को भी दूर रखता है।

खाली पेट पपीता खाने के फायदे

बढ़ाता है इम्यूनिटी

पपीते का सेवन इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए (eating papaya to boost immunity) फायदेमंद होता है। यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है तो सुबह सुबह खाली पेट पपीते का सेवन आपके लिए बहुत लाभकारी होगा। इसमें विटामिन सी और कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो immunity को मजबूत (immunity badhane ke liye papita) करने में सहायता करते हैं। पपीता Vitamin A का अच्छा स्त्रोत है जो स्वास्थ्य और कार्यात्मक प्रतियोगिता प्रणाली के लिए महत्वपूर्ण विटामिन है।

Benefits and side effects of eating papaya
Benefits and side effects of eating papaya

करे पाचन शक्ति दुरुस्त

पाचन क्रिया (eating papaya to improve digestion) को दुरुस्त करने के लिए पपीते का सेवन बहुत ही गुणकारी होता है। पपीते में फाइबर पाए जाते हैं जो पाचन के लिए (pachan shakti ke liye papita) बहुत अच्छे होते हैं। इसमें रीजन यानी लैक्सटिव का गुण भी पाया जाता है। यदि आप गैस या कब्ज की शिकायत से परेशान रहते हैं तो पपीते का सेवन इन सारी शिकायतों को दूर कर देगा और पाचन क्रिया को दुरुस्त कर देगा।

आंखों की सेहत के लिए

पपीते का सेवन आंखों की सेहत (eating papaya to improve eyesight) के लिए बहुत अच्छा होता है। पपीता में विटामिन सी और विटामिन इ पाया जाता है जो आंखों से जुड़ी समस्या को दूर करने में अधिक प्रभावशाली होता है। पपीता विटामिन ए का एक अच्छा स्रोत है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने (ankhon ki roshni ke liye papita) में लाभकारी होता है। यदि आप आंखों में थकान महसूस करते हैं तो पपीते के स्लाइस को आंखों में थोड़ी देर रगड़ने से यह आंखों को काफी ठंडक देता है और थकान भी दूर करता है।

यह भी पढ़ें – महिलाओं को जरूर खाना चाहिए कच्चा पपीता, होते हैं गजब के फायदे

डायबिटीज के रोगियों के लिए लाभकारी

यदि आप मधुमेह या डायबिटीज के रोगी है तो सुबह-सुबह खाली पेट पपीता खाना (papaya benefits for diabetes patient) आपके लिए बेहद लाभकारी होगा। इसमें नाचूरल शुगर पाई जाती है और इसके एंटी ऑक्सीडेंट गुणों के कारण यह डायबिटीज मरीजों के लिए (sugar patients ke liye papita) एक अच्छा विकल्प होता है। इसको खाने से शरीर पर हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है जो ब्लड शुगर का स्तर कम करता है।

दिल को रखें स्वस्थ

नियमित पपीते का सेवन ह्रदय रोगों (papaya benefits for heart patients) को दूर रखता है। इसमें फाइबर, पोटेशियम और विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो धमनियों के भीतर जमा खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। पपीते में विटामिन ए, विटामिन सी, और विटामिन ई के उच्च स्तर होते हैं जो ह्रदय रोग के जोखिम को कम कर सकते हैं। पपीता कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी प्रभावशाली होता है जिस वजह से यह दिल भी दुरुस्त (dil ki bimari ke liye papita) रखता है और हार्ट संबंधी बीमारियों को दूर रखता है।

Benefits and side effects of eating papaya
Benefits and side effects of eating papaya

बुढ़ापे के लक्षणों को करता है कम

पपीते में अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड पाया जाता है जो त्वचा को चमकदार (papaya benefits for skin), और हेल्दी बनाता है। पपीते का नियमित सेवन करने से त्वचा (benefits of eating papaya fruit for skin) में निखार आता है और यह त्वचा को हाइड्रेट रखता है। आप चाहे तो पपीते का फेस पैक बनाकर भी अपने चेहरे पर लगा सकते हैं इससे भी चेहरा चमकदार होता है। पपीते में सोडियम की मात्रा कम होती है इसी कारण इसका सेवन स्किन हेल्थ के लिए (skin ke liye papita) लाभकारी होता है।

चेहरे को चमकदार (eat papaya for glowing skin) बनाने के लिए आप पपीते का फेस पैक भी बना सकते हैं। इसके लिए पपीता के दो छोटी क्यूब, दूध और शहद को अच्छे से मिक्स कर लें और 15 मिनट के लिए चेहरे पर लगा लें। इससे चेहरे पर निखार आता है और झुर्रियों की समस्या भी दूर होती है।

पपीता करे कोलेस्ट्रॉल कम

यदि आप बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल की समस्या (eating papaya reduce cholesterol) से जूझ रहे हैं तो पपीते को अपनी डाइट में जरूर शामिल करें। विटामिन सी, एंटी ऑक्सीडेंट और फाइबर के गुणों से भरपूर पपीते का सेवन कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करता है। यदि आप पपीते को पके हुए दलिया के साथ खाते हैं तो यह शरीर से कम घनत्व वाले लिपॉप्रोटीन को खत्म करने में मदद करता है और ख़राब कोलेस्ट्रॉल का लेवल भी कम करता है।

यह भी पढ़ें – सही समय पर खाएं सही फल, नहीं तो होगा नुकसान

पपीता खाने के नुकसान

वैसे तो पपीते का सेवन करना सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है क्योंकि इसमें सारे जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं। किंतु पपीते का सेवन कुछ लोगों को नहीं (Side effects of Papaya) करना चाहिए क्योंकि यह नुकसानदेह भी साबित हो सकता है।

प्रेग्नेंट महिलाएं

प्रेग्नेंट महिलाओं (side effects of papaya in pregnancy) को पपीते का सेवन करने से बचना चाहिए। इसमें पैपीन और लेटेक्स होता है जो गर्भवती महिलाओं के लिए अच्छा नहीं होता। पैपीन और लेटेक्स गर्भाशय को संकुचित करते हैं जिसकी वजह से लेबर पेन समय से पहले ही होने लगता है। यह भ्रूण में पल रहे शिशु के लिए भी जानलेवा हो सकता है।

एलर्जी वाले लोग करें अवॉइड

कुछ लोगों को लेटेक्स से भी एलर्जी (side effects of papaya in allergies) होती है और पपीते में लेटेक्स पाया जाता है जिसकी वजह से ठीक से सांस लेने में घुटन, खांसी या आंखों में पानी आने जैसी समस्या हो सकती है। पपीते में चिटिनासेस नामक एंजाइम पाया जाता है जो बॉडी में जाकर क्रॉस रिएक्शन बनाता है।

Benefits and side effects of eating papaya
Benefits and side effects of eating papaya

किडनी स्टोन वाले लोग

जिन लोगों को किडनी में स्टोन की समस्या (side effects of papaya for kidney stone patients) है उन लोगों को भी पपीता खाना अवॉइड करना चाहिए। पपीते में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो किडनी स्टोन की समस्याओं को बढ़ा सकता है इसलिए पथरी के रोगियों को पपीते का सेवन करने से बचना चाहिए।

हाइपोग्लाइसीमिया के रोगी

जिन लोगों को हाइपोग्लाइसीमिया की समस्या (side effects of papaya for Hypoglycemia patients) हो उन्हें पपीता नहीं खाना चाहिए। हालांकि डायबिटीज के मरीजों के लिए पपीते का सेवन शुगर कंट्रोल करने में मदद करता है किंतु हाइपोग्लाइसीमिया की समस्या से जूझ रहे व्यक्तियों को पपीता का सेवन नहीं करना चाहिए।

पपीता खाने का सही समय क्या है –

आयुर्वेद के अनुसार कुछ फलों को जिसमें पपीता का नाम भी आता है, शाम के समय खाने से बचना चाहिए क्योंकि ये फल पाचन क्रिया को प्रभावित कर सकते हैं. सुबह के समय पपीते का सेवन (Papita Khane Ka Sahi Samay) सबसे उत्तम होता है. पपीता पेट के लिए एक अत्यंत उपयोगी फल माना जाता है और यह कम अम्लीय है, यदि इसे सुबह के समय नाश्ते में खाते हैं, तो यह आपके पाचन तंत्र के लिए अच्छा है. नाश्ते में पपीते का सेवन करने से आप पूरे दिन फिट और तरोताजा महसूस करेंगे.

यह भी पढ़ें – कद्दू के बीज खाने के है अनेकों लाभ, जानिए किन-किन बीमारियो में है फ़ायदेमंद

दुनिया में प्रचलित पपीते के नाम

दुनिया भर में पपीता (papaya name in different countries) को अलग अलग नाम से जाना जाता है। ऑस्ट्रेलिया में, इसे pawpaw कहा जाता है। दक्षिणी एशिया में, इसे कभी-कभी केपया, लापया या तपय कहा जाता है। फ्रेंच में इसका नाम कभी-कभी “figueir des iles” या द्वीपों का अंजीर होता है। पपीते के लिए कुछ स्पेनिश नामों में “तरबूज ज़पोटे,” “फ्रुटा बोम्बा” या “मामोना” शामिल हैं।

किस प्रकार करें पपीते का सेवन

पपीता खरीदते समय विचार करे की इसे कब (when to eat papaya) और कैसे खाना चाहिए, जिससे शरीर के लिए पपीता खाने के फायदे (papaya health benefits) अनगिनत हों।

  • सुबह सुबह खाली पेट पपीते का जूस पाचन क्रिया को दुरस्त बनाता है।
  • सुबह नाश्ते करने के आधे घंटे बाद पपीते का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।
  • रात के समय पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। रात में खाना खाने के बाद पपीते जैसे फलों के सेवन से परहेज करना चाहिए क्योंकि आपके पाचन तंत्र के लिए हानिकारक हो सकता है। 

यह भी पढ़ें – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए खाइये ये 6 चीज़ें

पपीते से क्या-क्या बना सकते हैं ?

आप इसे कई प्रकार के व्यंजनो (papaya dishes) में शामिल करके भी खा सकते हैं जैसे:

आपको ये रेसिपी कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार जरुर शेयर करें, और कोई सवाल हो तो पूछिए हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे ! और ऐसी ही अन्य रेसिपीज के लिए आप हमारे YouTube चैनल को जरुर सब्सक्राइब कीजिये ! बहुत बहुत धन्यवाद्

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

Previous articleसाइंस की दुनिया में भारत की 10 मशहूर महिला साइंटिस्ट | Top women in science fields in india
Next articleबच्चे की गर्भनाल देरी से काटने के फ़ायदे | Benefits and risks of delayed cord clamping
Avatar
I am a freelance content writer. I write articles related to women's lifestyle, health, beauty, and wellness in both English and Hindi language. It is my pleasure and I love to share my thoughts with you through writing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here