अगर आप भी दिनभर रहते हैं AC में तो इन गंभीर बीमारियों के लिए रहें तैयार

मेरे पड़ोस में रहने वाली 32 वर्षीय नीतू एक MNC में काम करती है लेकिन आजकल उसके पैरों और हाथों के जोड़ों में दर्द रहने लगा था। उसे समझ में नहीं आ रहा था कि इतनी कम उम्र में उसे यह समस्‍या कैसे हो रही है। जब उसने डॉक्‍टर को दिखाया तो उन्‍होंने बताया कि ऐसा लंबे समय तक एसी के इस्‍तेमाल और एक ही पॉश्चर में बैठने के कारण हो रहा हैं। उसको सुनकर बहुत ही आश्‍चर्य हुआ कि एसी में रहना इतना नुकसानदायक भी हो सकता है। Side Effects of Air Conditioner

गर्मियों के आते ही लगभग हम सभी पूरा दिन एसी में बिताते हैं, फिर चाहे ऑफिस में हो या घर में। जी हां ऑफिस में आप एसी में दिन के कई घंटे बिताते हैं और थकान मिटाने के लिए घर में भी एसी में रहते हैं। कुछ लोग तो ऐसे होते है जिनके घर और ऑफिस में चौबीस घण्टे एसी चलता ही रहता है। बेशक एसी में रहने से आपको गर्मी से राहत मिलती है, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि इसके कई नुकसान भी है। जो लंबे समय में आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। अगर आपको विश्‍वास नहीं हो रहा तो आइए जानें कि एसी में रहना कैसे आपके शरीर को बीमारी करता है।

गर्मी तेज या कम कुछ लोगों को हर समय एसी में रहने की आदत होती है। यूं कहें कि आजकल की लाइफस्‍टाइल में एसी लोगों की मूलभूत जरूरतों में शुमार हो चुका है। घर हो या ऑफिस और चाहे कार, हर जगह एसी चाहिए। बिना एसी के तो एक कदम भी चलना मुश्किल हो जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर कई प्रकार के नकारात्‍मक असर डालती है। फिर भी आप गर्मियों में पूरी तरह से एयर कंडीशन से बच नहीं सकते हैं, इसलिए इसका न्‍यूनतम इस्‍तेमाल और नियमित रूप से साफ करना सुनिश्चित करना सबसे अच्‍छा रहता है। तो चलिए आज आप इसके दुष्‍प्रभावों को भी समझ लीजिए। यह आपको कई बड़ी बीमारियों से ग्रसित कर सकता है।

एसी से होने वाली शारीरिक समस्‍याएं

# जोड़ों में दर्द

एसी के लगातार कम तापमान में रहने से न सिर्फ घुटनों की समस्या होती है, बल्कि शरीर के सभी जोड़ों में दर्द के साथ-साथ अकड़न पैदा करता है और उनकी कार्यक्षमता धीरे-धीरे कम होने लगती है।

# इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर होना

एसी में रहने के कारण इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है, और इम्‍यूनिटी के कमजोर होने से आप बीमार रहने लगते है।

# मोटापा

एयर कंडीशनर के इस्तेमाल से मोटापा बढ़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि ठंडी जगह पर हमारे शरीर की एनर्जी खर्च नहीं होती है, जिससे शरीर की चर्बी बढ़ती है।

# इंफेक्‍शन

अगर आप एसी में चार या उससे अधिक घंटे रहते हैं, उनमें साइनस इंफेक्शन होने की सम्भावना अधिक हो जाती है क्‍योंकि बहुत देर तक ठंड में रहने से मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं।

# लगातार थकान

लंबे समय तक एसी में रहने से आपको थकान बने रहने की समस्या हो सकती है। अधिक देर तक एसी में बैठने पर फ्रेश एयर सर्कुलेट नहीं हो पाती है। इतना ही नहीं इसका तापमान ज्यादा कम करने पर आपको सिरदर्द और चिड़चिड़ाहट महसूस हो सकती है।

# ब्रेन की क्षमता पर असर

एसी का तापमान बहुत कम होने पर ब्रेन की कोशिकाएं भी संकुचित होने लगती हैं, जिससे ब्रेन की क्षमता और क्रियाशीलता प्रभावित होती है। इतना ही नहीं आपको लगातार चक्कर आने की समस्या भी हो सकती है।

# लंबी बीमारी

अगर आप किसी पुरानी बीमारी से ग्रस्‍त है, तो एयरकंडीशनर आपके लिए नुकसानदेह हो सकता है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि एयर कंडीशन में लो ब्‍लड प्रेशर और अर्थराइटिस के लक्षण बढ़ जाते हैं। और साथ ही यह दर्द के प्रबंधन को कठिन बना देता है।

# फ्रेश हवा का आभाव

इससे सबसे बड़ी समस्या होती है हमारे शरीर को साफ़ हवा नहीं मिल पाना। एसी ऑन करने से पहले हम सारी खिड़की-दरवाज़े बंद कर लेते हैं। इस कारण कमरे की हवा उतने ही दायरे में बंद हो जाती है, जिस कारण हमारे शरीर को फ़्रेश हवा नहीं मिल पाती और ये हमारे शरीर की ग्रोथ में रुकावट की तरह काम करता है।

# हड्डियों की समस्‍या

एसी में सोने के दौरान हम कमरे का तापमान कई बार अत्याधिक ठंडा कर देते हैं, हमारे शरीर की एक हद तक ठंड को बर्दाशत करने की क्षमता होती है, सोते वक़्त एक समय आता है, जब हमारा शरीर काफ़ी ठंडा हो जाता है और हमें पता भी नहीं चलता। इसी ठंड के कारण हमारे शरीर में हड्डियों से जुड़ी समस्याएं शुरू होती हैं और यही समस्याएं बीमारियों का भी रूप ले लेती हैं।

# त्‍वचा पर झुर्रियां

हम जैसे एसी ऑन करते हैं उसकी ठंडक से हमारा पसीना सूख जाता है। लेकिन एसी कमरे साथ-साथ शरीर की भी नमी खींच लेता है। इस नमी के कम होने से हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है। इससे त्वचा पर झुर्रियां दिखने लगती हैं। शरीर में पानी की कमी से बीमारियां तेजी सी शरीर पर हावी होने लगती हैं और त्वचा के कई रोग हमें जकड़ लेते हैं।

# गर्मी के प्रति कम सहनशीलता

जो लोग एयर कंडीशन कमरों में अधिक समय बिताते हैं, उनमें गर्मी के प्रति सहनशीलता कम होती है, और अधिक समय तक कम तापमान में समय बिताने के बाद उनके शरीर को गर्म तापमान के साथ समायो‍जित होने में बहुत मुश्किल आती है। यह असहिष्‍णुता, विशेष रूप से गर्म जलवायु में रहने वाले लोगों के लिए असुविधाजनक हो जाता है, जब वह गर्मी में बाहर कदम रखते है।

वैसे तो एसी में हमें बहुत आराम मिलता है लेकिन इसके नुकसान हद से ज्‍यादा होने के कारण इसके इस्‍तेमाल से बचना चाहिए। कहीं ऐसा न हो कि हम शरीर को राहत देने के बजाए उसे आहत कर रहे हों। इसलिए एसी के साथ दोस्‍ती ज्‍यादा न बढ़ाएं।

Share
Lovely

Content Writer in Aakrati.in

Recent Posts

चेहरे से पिम्पल्स की छुट्टी कर देंगे ये घरेलू नुस्खें

चेहरे पर दिखाई देने वाले दाग और जिद्दी पिंपल्स सुंदरता को बिगाड़ने के साथ -साथ आपके आत्मविश्वास को भी कम… Read More

May 23, 2019 4:42 pm

खुशबूदार टेस्टी पुदीना गट्टा की सब्जी बनाने की विधि

क्या आप पुदीने की चटनी बनाकर बोर हो गए हैं? पुदीने से ही कुछ नई तरह का रेसिपी बनाना चाहते… Read More

May 23, 2019 11:25 am

साइलेंट हार्ट अटैक के हो सकते हैं ये संकेत, रहेंं सावधान !

साइलेंट हार्ट अटैक उसे कहते हैं जब व्‍यक्ति में हार्ट अटैक के लक्षण महसूस हुए बिना ही दिल काम करना… Read More

May 23, 2019 10:57 am

बच्चों के लिए बनाएं यम्मी मैंगो मफिन

आम का सीजन चल रहा है और हर किसी को आम खाना बेहद पसंद होता है. आम से आप एक… Read More

May 22, 2019 4:57 pm

पति-पत्नी के बीच लड़ाई का कारण बनते हैं ये वास्तुदोष

कहते हैं कि पति-पत्नी का रिश्ता बड़ी ही नाजुक डोर से बंधा होता है। अगर इसमें जरा सी भी नोंक-झोक… Read More

May 22, 2019 3:32 pm

तरबूज के छिलके की सब्जी बनाने की विधि

तरबूज़ के छिलकों का आप क्या करते हैं? ज़ाहिर है, फेंक देते होंगे। लेकिन अगर हम आपको बताएं कि इनसे… Read More

May 22, 2019 3:18 pm