बारिश के मौसम में बाल झड़ने की समस्या को दूर करने के आयुर्वेदिक नुस्खे

0
86

दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं इस भाग दौड़ भरी लाइफ में गलत खानपान की आदतें व बिजी लाइफ़स्टाइल की वजह से बालों के झड़ने की समस्या आजकल बिल्कुल आम हो गयी है। लड़की हो या लड़का, आजकल सभी को बाल झड़ने की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। Monsoon Hair Care Tips

बारिश में बालों का झाड़ना काफी तेज हो जाता है। बालों को झड़ने से रोकने के लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है, इसके अलावा आयुर्वेद में बालों के लिए कई अमृत समान औषधियां मौजूद हैं जिनका उपयोग करने से बालों का झड़ना कम कर उन्हें स्वस्थ और मज़बूत बनाया जा सकता है।

Read – जानें सर्दियों में कौन सा तेल है बालों के लिए सबसे फ़ायदेमंद

ये देखा गया है की कई बार पुरुषों में बाल झड़ने की समस्या आनुवांशकीय कारण से भी होती है, लेकिन महिलाओं में बाल झड़ने की परेशानी का आनुवांशकीय कारणों से कोई संबंध नहीं होता है। बाल झड़ने की यह परेशानी उनमे पोषक तत्वों की कमी, हार्मोनल बदलाव या किसी बीमारी की वजह से हो सकती है।

बालों का झड़ना आज के समय में सबसे आम समस्या है! चाहे वह पुरुष हों या महिलाएं, कोई भी कमजोर बाल की समस्या से नहीं बचा है, जो बालों के झड़ने का मुख्य कारण मानी जाती है। जबकि बालों के गिरने के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं, जिनमें थायराइड, एनीमिया, प्रोटीन की कमी, विटामिन का स्तर कम होना, बालों की देखभाल करने वाले उत्पादों के नाम पर रसायनों का अधिक उपयोग शीर्ष कारणों में से एक है!

Monsoon Hair Care Tips
Monsoon Hair Care Tips

आइये जानतें हैं बाल झड़ने से रोकने के लिए 6 आसान घरेलू उपाय के बारे में

एलोवेरा :

एलोवेरा के ताज़े जेल में एक प्रकार का एन्जाइम होता है, जिसका इस्तेमाल सिर की त्वचा पर करने से मृत कोशिकाएं (Dead cells) समाप्त होकर नई कोशिकाएं विकसित होती हैं। इसके अलावा यदि आप एलोवेरा को जूस के रूप में लेते हैं या साबूत खाते हैं तो इससे रूसी की समस्या ख़त्म होती है, और बालों का झड़ना रुक जाता है और कुछ समय बाद नए बालों का आना शुरू हो जाता है।

  • एलोवेरा का डंठल लें और जेल निकालें।
  • जेल को अपने बालों और खोपड़ी पर लगाये और इसे लगभग एक घंटे के लिए छोड़ दें।
  • सामान्य पानी से अपने बालों को धो लें।
  • बालों के बेहतर विकास के लिए सप्ताह में तीन से चार बार ऐसा करें।

Read – बाल झड़ने की समस्या से परेशान हैं तो अपनाएं ये उपाय

आंवला :

आंवला को आयुर्वेद की दिव्य औषधि के रूप में जाना जाता है। जिसमे 6 अलग-अलग तरह के रस पाये जाते हैं। इसमें मौजूद विटामिन्स मिनरल्स और एल्कलॉइड बालों का झड़ना रोकने के लिए इसे एक आयुर्वेदिक टॉनिक बनाते हैं। आंवला एक प्राकृतिक प्रतिरक्षा बूस्टर है और बालों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए सबसे पसंदीदा घटक है।

इसमें आवश्यक फैटी एसिड के ओडल्स होते हैं, जो बालों के रोम को मजबूत करते हैं, जिससे आपके बालों को मजबूती और चमक मिलती है, बालों को स्वस्थ रखने और टूटने से बचाने के लिए हमें आंवला और उससे बने खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए। इसके आलावा सुबह-शाम आंवला जूस और चूर्ण का भी सेवन किया जा सकता है।

Monsoon Hair Care Tips
Monsoon Hair Care Tips

“इसमें पाया जाने वाला विटामिन सी समय से पहले बालों का सफ़ेद होने सेरोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद उच्च लौह सामग्री, शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट, गैलिक एसिड और कैरोटीन सिर के चारों ओर रक्त परिसंचरण में सुधार करते हैं जो बालों के विकास को उत्तेजित करता है और रूसी को कम करने के साथ खुजली वाली सर की त्वचा से राहत देता है।”

आंवला का उपयोग कर बालों का झड़ना रोकने के लिए एक सरल घरेलू उपाय जो आप कर सकते है।

  • पेस्ट बनाने के लिए नींबू का रस और आंवला पाउडर मिलाएं।
  • इससे अपने स्कैल्प और बालों में मालिश करें।
  • अपने सिर को ढंकने के लिए शॉवर कैप का उपयोग करें ताकि पेस्ट सूख न जाए।
  • इसे एक घंटे तक रखें और फिर इसे सामान्य पानी से धो लें।

Read – हेयर फॉल की समस्या के लिए ट्राई करें ग्रीन टी

शिकाकाई :

उन दिनों को याद करें जब हमारी दादी बालों की देखभाल के लिए शिकाकाई का इस्तेमाल करती थीं? अपने शानदार बाल-सफाई गुणों के कारण, इसे अक्सर शैम्पू के लिए एक प्राकृतिक विकल्प माना जाता है। विशेषज्ञों का कहना है कि शिकाकाई एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ए, सी, के और डी से भरपूर होता है, जो बालों को पोषण देता है।

यहाँ बाल को बढ़ाने के लिए शिकाकाई का उपयोग करने का एक सरल तरीका बताया गया है:

  • कुछ दिनों के लिए धूप में फली को सुखाकर घर पर शिकाकाई पाउडर बनाएं और फिर इसे मिक्सी में पीस लें।
  • इस पाउडर के 2 बड़े चम्मच लें और इसे नारियल तेल के एक जार में डालें।
  • कंटेनर को लगभग 15 दिनों के लिए ठंडे, अंधेरे स्थान पर रखें।
  • उपयोग करने से पहले अच्छे से हिलाएं। हफ्ते में कम से कम दो बार इससे अपने स्कैल्प की मसाज करें।
Monsoon Hair Fall Tips
Monsoon Hair Fall Tips

रीठा :

रीठा एक अन्य घटक है जिसका उपयोग सदियों से बालों की देखभाल के लिए किया जाता है। रीठा एक सैपोनिन (saponin) है जो आपके बालों को स्वस्थ रखने के लिए जिम्मेदार है।

आप घर पर अपना खुद का रीठा शैम्पू तैयार कर सकते हैं:

  • रीठा और शिकाकाई के कुछ टुकड़े लें।
  • उन्हें 500 मिली लीटर पानी में उबालें।
  • ठंडा होने के लिए मिश्रण को रात भर छोड़ दें।
  • मिश्रण को अच्छे से हिलाएं और इसे शैम्पू के रूप में उपयोग करें।

Read : कम उम्र में ही क्यों सफेद हो जाते हैं बाल, ये हैं वजहें

ब्राह्मी :

आयुर्वेदिक औषधी ब्राह्मी, बालों को झड़ने से रोकने और बालों बालों के विकास में सहायक होती है। यह हमारे बालों की जड़ों को पोषण प्रदान कर उन्हें अंदर से मज़बूत बनाती है। इसके इस्तेमाल के लिए ब्राह्मी की पत्तियों को सुखाकर इसका पाउडर बना लें, इसे आप गर्म पानी में मिलाकर पी सकते हैं। इसके आलवा आप ब्राह्मी तेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं, यह चिंता और तनाव के कारण होने वाले हेयर फॉल (Hair fall) को रोकने में बहुत कारगर होती है।

Monsoon Hair Care Tips

भृंगराज :

भृंगराज तेल सभी तरह से बालों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है। भृंगराज जड़ी-बूटि के पत्तों में कई ऐसे गुण होते हैं जो आपकी सिर की त्वचा को पोषक तत्व प्रदान करती है। आप भृंगराज तेल का उपयोग बालों को फिर से उगाने के लिए कर सकते हैं।

भृंगराज एक प्राकृतिक घटक है जो इन दिनों बालों की देखभाल के लिए सबसे अधिक चर्चित हो गया है। आपको अक्सर ब्यूटी थेरेपिस्ट मिलेंगे जो आपको नियमित रूप से भृंगराज तेल से अपने स्कैल्प की मालिश करने की सलाह देते हैं क्योंकि यह तेजी से बालों के विकास को प्रोत्साहित कर सकता है। भृंगराज एक जड़ी बूटी है जो नम क्षेत्रों में सबसे अच्छा बढ़ता है।

आप शुद्ध भृंगराज, के साथ आप आंवला, नारियल और सेंटेला को शामिल कर सकते हैं जो बालों की जड़े मजबूत करता हैं। और उन्हें सफेद होने से रोकते हैं। बालों के झड़ने के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक उपचारों में से एक, भृंगराज तेल भूरे बालों को कम करने और सर की खुजली को रोकने में भी फायदेमंद है।

Read – महिलाओं में गंजेपन का कारण और घरेलू उपाय

हालांकि विभिन्न प्राकृतिक कॉस्मेटिक ब्रांड भृंगराज तेल के अपने संस्करणों के साथ उपलब्ध हैं, लेकिन आप इसे अपने घर पर बना सकते हैं।

  • कुछ भृंगराज पत्ते लें, उन्हें कुछ दिनों के लिए धूप में सुखाएं।
  • पत्तों को नारियल के तेल के जार में डालें।
  • कंटेनर को दूसरे दो दिनों के लिए धूप में छोड़ दें।
  • हल्के हरे रंग में बदलने के लिए तेल के रंग की प्रतीक्षा करें।
  • इसे सिर की त्वचा और बालों पर मालिश करें और रात भर बालों में लगाये रखें।
Monsoon Hair Fall Tips

आपको ये भी जानना चाहिये –

  • बालों के लिए आंवला रीठा और शिकाकाई के फायदे
  • टूटते बालों से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपाय
  • बालों के विकास के लिए दही का उपयोग और लगाने का तरीका
  • बालों में मेथी लगाने के फायदे और तरीका
  • हेयर मास्क क्या होता है, फायदे, बनाने की विधि और लगाने का तरीका
  • बालों में तेल कैसे और कब लगाएं, बालों में तेल लगाने का सही तरीका
  • बालों को खूबसूरत बनाने के लिए अंडे का मास्क करें इस्तेमाल
  • सफेद बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here