हेल्लो दोस्तों सावन का महीना चल रहा है। सावन में आने वाले सभी व्रत और त्योहारों का बहुत महत्व होता है। हर माह की तरह सावन मास में दो एकादशी पड़ती हैं। पहली को कृष्ण पक्ष और दूसरी को शुक्ल पक्ष कहा जाता है। सावन मास में पड़ने वाली पहली एकादशी को कामिका एकादशी कहा जाता है। इस साल कामिका एकादशी 4 अगस्त बुधवार को पड़ रही है। इस दिन भगवान विष्णु के गदाधारी स्वरूप की पूजा की जाती है। कामिका एकादशी के दिन तुलसी पत्ते का उपयोग करना शुभ माना जाता है। Kamika Ekadashi 2021

ये भी पढ़िए : देवशयनी एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा और महत्व

शास्त्रों के अनुसार कामिका एकादशी के दिन उपवास रखने और पूजा-अर्चना करने से जातकों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। कामिका एकादशी के दिन शंख, चक्र गदा धारण करने वाले भगवान विष्णु की श्रीधर, हरि, विष्णु, माधव और मधुसूदन आदि नामों से भक्तिपूर्वक पूजा करनी चाहिए। मान्यता है कि कामिका एकादशी के दिन जो व्यक्ति भगवान के सामने घी अथवा तिल के तेल का दीपक जलाता है, उसके पुण्यों की गिनती चित्रगुप्त भी नहीं कर पाते हैं और भक्त पाप मुक्त भी होता है। आइए जानते है शुभ मुहूर्त और कथा।

शुभ मुहूर्त :

एकादशी तिथि प्रारंभ – 3 अगस्त, मंगलवार के दोपहर 12 बजकर 59 मिनट से

एकादशी तिथि समापन – 4 अगस्त, बुधवार को दोपहर 03 बजकर 17 मिनट तक

सर्वार्थ सिद्धि योग – 4 अगस्त सुबह 5 बजकर 44 मिनट से 5 अगस्त को सुबह 4 बजकर 25 मिनट तक

व्रत का पारण – 05 अगस्त को प्रात: 05 बजकर 45 मिनट से सुबह 08 बजकर 26 मिनट के मध्य होगा

Kamika Ekadashi 2021
Kamika Ekadashi 2021

कामिका एकादशी व्रत विधि :

सबसे पहले सुबह जल्दी उठें। शौचादि से निवृत्त होकर स्नान करें और व्रत का संकल्प लें।

भगवान विष्णु जी की प्रतिमा को गंगा जल से नहलाएं।

अब दीपक जलाकर उनका स्मरण करें और भगवान विष्णु की पूजा में उनकी स्तुति करें।

पूजा में तुलसी के पत्तों का भी प्रयोग करें तथा पूजा के अंत में विष्णु आरती करें।

शाम को भी भगवान विष्णु जी के समक्ष दीपक जलाकर उनकी आराधना करें।

विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें। द्वादशी के समय शुद्ध होकर व्रत पारण मुहूर्त के समय व्रत खोलें।

लोगों में प्रसाद बांटें और ब्राह्मणों को भोजन कर कराकर उन्हें दान-दक्षिणा दें।

ये भी पढ़िए : जानिए कब है निर्जला एकादशी व्रत, जानें तिथि, मुहूर्त, व्रत विधि और महत्व

कामिका एकादशी कथा :

एक पौराणिक कथा के अनुसार, बहुत समय पहले एक गांव में पहलवान रहता था। पहलवान नेक दिल का आदमी था लेकिन उसका स्वभाव बहुत क्रोध करने वाला था। इसी वजह से आए दिन उससे किसी न किसी की बहस हो जाती थी। एक दिन पहलवान ने एक ब्राह्मण से झगड़ा कर लिया। उसके ऊपर क्रोध इतना हावी हो गया कि उसने ब्राह्मण की हत्या कर दी। जिसकी वजह से उस पर ब्राह्मण हत्या का दोष लग गया।

इस दोष से बचने और पश्चाताप के लिए वह ब्राह्मण के दाह संस्कार में शामिल होने गया। लेकिन पंडितों ने उसे वहां से भगा दिया। पंडितों ने ब्रह्माण की हत्या का दोषी मानकर पहलवान का समाजिक बहिष्कार कर दिया। ब्राह्मणों ने पहलवान के यहां सभी धार्मिक कार्य करने से मना कर दिया।

सामाजिक बहिष्कार से परेशान होकर पहलवान ने एक साधु से पूछा कि वह कैसे इस दोष से मुक्त हो सकता है। इस पाप से बचने का उपाय जानना चाहा। साधु ने पहलवान को कामिका एकादशी का व्रत करने की सलाह दी। साधु के कहने पर पहलवान ने कामिका एकादशी व्रत का विधि विधान से पालन किया। एक दिन रात पहलवान भगवान विष्णु जी मूर्ति के पास सो रहा था। उसे नींद में भगवान विष्णु के दर्शन हुए और उसने सपने में देखा कि भगवन उसे ब्राह्मण हत्या के दोष से मुक्त कर दिया है। उसी दिन से कामिका एकादशी व्रत रखने का प्रचलन हो गया।

Kamika Ekadashi 2021
Kamika Ekadashi 2021

कामिका एकादशी का महत्व :

सावन महीने के कृष्ण पक्ष की एकादशी को कामिका एकादशी भी कहा जाता है, एकादशी का व्रत करने से समस्त पापों से मुक्ति प्राप्त होती है भगवान विष्णु सभी कष्टों को दूर करते हैं। कामिका एकादशी का व्रत करने से मनोवांचित फलों की प्राप्ति होती है। एकादशी के दिन तीर्थस्थलों में स्नान, दान का भी प्रावधान है। कामिका एकादशी व्रत के फल को अश्वमेघ यज्ञ से मिलने वाले फल के बराबर माना गया है। भगवान विष्णु की आराधना कर उन्हें तुलसी पत्र अर्पित की जाती हैं.

कामिका एकादशी के दिन भगवान विष्णु का पूजन करने से पित्त प्रसन्न होते हैं। जिससे व्यक्ति के जीवन में आने वाले कष्ट दूर होते हैं। इस एकादशी के दिन जो लोग सावन माह में भगवान विष्णु की पूजा करते हैं, माना जाता है कि उनके द्वारा गंधर्वों और नागों की पूजा भी संपन्न हो जाती है। कामिका एकादशी की कथा सुनने मात्र से ही यज्ञ करने के समान फल मिलता है।

आपको ये रेसिपी कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में अपने विचार जरुर शेयर करें, और कोई सवाल हो तो पूछिए हम जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे !

और ऐसी ही अन्य रेसिपीज के लिए आप हमारे YouTube चैनल को जरुर सब्सक्राइब कीजिये ! बहुत बहुत धन्यवाद्

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here