Holika Dahan Upay
Holika Dahan Upay
ad2

Holika Dahan Upay : हिंदू धर्म में होलिका दहन का विशेष महत्व होता है। होली फागुन मास की पूर्णिमा को विधि-विधान से मनाई जाती है। होलिका दहन के दूसरे दिन होली खेली जाती है। धार्मिक दृष्टि से होलिका दहन को बुराई पर अच्छाई के जीत के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। नियमों के अनुसार होलिका दहन की पूजा करते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए।

इस विधि से करें होलिका दहन का पूजन

Holika Dahan Puja Vidhi

होलिका दहन की अग्नि के लिए पहले से ही एक स्थान सुनिश्चित करें। उस स्थान को गंगाजल से पवित्र करें। उसमें सूखी लकड़ी, सूखे उपले, और घास डालें। होलिका दहन की पूजन करते समय हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठना चाहिए। अब इसमें रोली, चावल, गंध, पुष्प, कच्चा सूत, गुड़, साबुत हल्दी, मूंग, बतासे, गुलाल व नारियल और नई फसल की धान जैसे गेहूं की बालियां और चने की बालियां डालें। कच्चे सूत या कलावा को तीन, पांच, या सात परिक्रमा करते हुए होलिका दहन के चारों और लपेटे। परिक्रमा लगाते वक्त इस मंत्र (holika dahan puja mantra) का जाप करें।

यह भी पढ़ें: जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, महत्व और पौराणिक कथा

अहकूटा भयत्रस्तैः कृता त्वं होलि बालिशैः।
अतस्वां पूजयिष्यामि भूति-भूति प्रदायिनीम् ।।

पूजन समाप्त होते ही अग्नि को अर्घ अवश्य दें। हिंदू धर्म के अनुसार बिना अर्घ दिए कोई भी पूजा फलित नहीं होती है।

Holika Dahan Upay
Holika Dahan Upay

होलिका दहन में ज़रूर करें ये उपाय

Holika Dahan Upay

1. होली दहन के दूसरे दिन यानि जिस दिन रंग खेला जाता है। होली की राख को घर लाकर उसमें थोडी सी राई और सेंधा नमक मिलाकर किसी बर्तन में रख लें। ये बर्तन घर में किसी सुरक्षित जगह रखें। इस उपाय से नजर दोष और बुरे समय से मुक्ति मिल सकती है।

2. दांपत्य जीवन में सुख शांति बनाए रखने के लिए इस दिन राधा कृष्ण की पूजा करने का विशेष महत्व है। हिंदू शास्त्रों के अनुसार भी होली को राधा कृष्ण का पर्व माना जाता है। इस दिन राधा कृष्ण की मूर्ति स्थापित करें और विधि विधान से उनका पूजन करें जिससे दांपत्य जीवन में सुख मिलता है।

3. यदि आपके घर की छत पर या पूजा घर में कोई झंडा लगा है तो होलिका दहन के दिन इसे जरूर बदले। ऐसा करने से जीवन में सुख शांति आती है, धन की अपार वर्षा होती है और जीवन से सारी नकारात्मकता दूर होती है।

4. होलिका दहन वाले दिन 108 मखानों की माला लेकर मां लक्ष्मी को अर्पित करें इससे घर में कभी भी धन की कमी नहीं होगी और मां लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें: क्यों करते हैं होलिका दहन, जानिये इसकी पौराणिक कथा

5. होलिका दहन की शाम को लाल गुलाल मुख्य द्वार पर छिड़क दें और मुख्य द्वार पर दोनों तरफ घी का दीपक जलाएं। दीपक ठंडा हो जाने पर होलिका की आग में इसे डाल दें। इससे नकारात्मकता दूर होगी और मां लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहेगी।

6. यदि आपके घर पर कोई बार बार बीमार होता है तो एक पान का पत्ता, लाल गुलाब और एक बताशा लेकर रोगी पर से 21 बार उतारे और इसे होलिका की आग में डाल दे। इससे रोगी को जल्दी आराम मिलेगा।

7. यदि आप बेरोजगारी से परेशान हैं तो Holika dahan की रात 12:00 बजे एक नींबू लेकर चौराहे पर जाएं और उसे चार टुकड़ों में काटकर चारों दिशाओं में फेंक दें। फिर घर वापस आ जाए और आते समय पीछे मुड़कर बिल्कुल ना देखें।

8. यदि आपको उधार दिए हुए पैसे किसी से वापस लेने हैं और काफी प्रयासों के बाद भी ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है तो एक अनार की लकड़ी लें और उसमें उधार वाले का नाम लिखकर उस लकड़ी को गुलाल में लपेट कर होलिका की आग में डाल दें। इससे आपका उधार दिया हुआ पैसा जल्द मिल जाएगा।

Holika Dahan Upay
Holika Dahan Upay

होलिका जलाते समय बरते यह सावधानी

  • होलिका में अरंडी की लकड़ी या गूलर की लकड़ियों का उपयोग करना चाहिए जिससे हमारे जीवन की सभी नकारात्मकता दूर होती हैं।
  • फागुन में अरंडी की लकड़ी और गूलर की लकड़ियों से पत्ते झड़ना शुरू हो जाते हैं और यदि इन लकड़ियों को काटकर जलाया नहीं जाए तो इन में कीड़े उत्पन्न होने लग जाते हैं। प्राकृतिक दृष्टि से भी इन लकड़ियों को जलाना अनिवार्य हो जाता है।
  • यदि आप होलिका में लकड़ियों को जलाते हैं तो इससे वायु भी शुद्ध होती है और आसपास के बैक्टीरिया भी समाप्त हो जाते हैं। इसलिए दोनों लकड़ियों को गाय के उपलों के साथ होलिका में जलाना चाहिए।
  • आमतौर पर होलिका में लोग आम की लकड़ियां जलाते हैं किंतु आम, पीपल, और वट वृक्ष की लकड़ियां जलाना अशुभ माना जाता है holika dahan puja। इस समय इन पेड़ों में नई कोंपले लगती हैं ऐसे में इन्हें जलाना पर्यावरण को नुकसान पहुंचाता है।

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

Previous articleआइसक्रीम स्टिक्स से पेन स्टैंड बनाइये | Ice Cream Sticks Pen Stand
Next articleसूजी के रसगुल्ले बनाने की विधि | Sooji Ke Rasgulle
Avatar
I am a freelance content writer. I write articles related to women's lifestyle, health, beauty, and wellness in both English and Hindi language. It is my pleasure and I love to share my thoughts with you through writing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here