वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया के रूप में मनाया जाता है। कई स्थानों पर इस तिथि को अखतीज के नाम से भी जाना जाता है। इस बार अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2021) का पर्व 14 मई 2021 को मनाया जाएगा। यह तिथि बहुत ही शुभ और पुण्यदायिनी मानी गई है। जानकारों के अनुसार इस दिन यदि कोई भी शुभ कार्य करना हो तो पंचांग देखने की आवश्यकता नहीं होती है।

माना जाता है कि इस दिन किए गए दान पुण्य का फल अक्षय होता है यानी जिसका नाश नहीं होता है। मान्यता है कि इस दिन खरीदे गए सामान की अक्षय बढ़ोत्तरी होती है, इसलिए लोग इस दिन सोने चांदी के बने आभूषणों और चीजों की खरीददारी भी करते हैं। अक्षय तृतीया कई मायनों में बहुत ही खास तिथि मानी जाती है।

यह भी पढ़ें – इस दिन है वरुथिनी एकादशी, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, कथा और महत्व

शुभ मुहूर्त :

अक्षय तृतीया – शुक्रवार 14 मई 2021 को
अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त – 05:38 AM से 12:18 PM
अवधि – 06 घण्टे 40 मिनट्स
तृतीया तिथि प्रारम्भ – मई 14, 2021 को 05:38 AM बजे
तृतीया तिथि समाप्त – मई 15, 2021 को 07:59 AM बजे

 Akshaya Tritiya 2021
Akshaya Tritiya 2021

अक्षय तृतीया का महत्व :

अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त रहता है। यानी इस दिन कोई भी शुभ काम बिना मुहूर्त देखे किये जा सकते हैं।
मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन भगवान परशुराम का जन्म हुआ था।
इस पवित्र दिन पर दान- पुण्य करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।
अक्षय तृतीया के पर सोना खरीदने की भी परंपरा है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोने की खरीददारी करने से घर-परिवार में सुख- समृद्धि आती है।

यह भी पढ़ें – कब है कामदा एकादशी, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि और कथा

अक्षय तृतीया पूजा विधि :

अक्षय तृतीया के दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी का पूजन किया जाता है. इस दिन भगवान विष्णु और लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा- अर्चना करने पर भक्त की सभी मनोकामनायें पूर्ण होती है. शास्त्रों का मत है कि इस दिन पितरों का तर्पण करना बहुत ही लाभदायक होता है.

अक्षय तृतीया के दिन व्रती को चाहिए कि सुबह उठकर नित्यकर्म, स्नानादि करके पूजा स्थल पर बैठ जाएँ. पूजा चुकी पर भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी की प्रतिमा /चित्र के साथ धन कुबेर का चित्र आदि स्थापित कर, उन्हें पूजन सामग्री अर्पित करें. अब तीनों देवी-देवताओं को केला, नारियल, पान सुपारी, मिठाई और जल चढ़ाएं. कुछ देर भगवान के सामने हाथ जोड़कर उनकी प्रार्थना करें और उनका आर्शीवाद मांगे.

 Akshaya Tritiya 2021
Akshaya Tritiya 2021

सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त :

  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय- 05:38 AM (14 मई) से 05:30 AM (मई 15)
  • अवधि- 23 घण्टे 52 मिनट
  • प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – 05:38 AM से 10:36 AM
  • अपराह्न मुहूर्त (चर) – 05:23 PM से 07:04 PM
  • अपराह्न मुहूर्त (शुभ) – 12:18 PM से 01:59 PM
  • रात्रि मुहूर्त (लाभ) – 09:41 PM से 10:59 PM
  • रात्रि मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) – 12:17 AM से 04:12 AM, मई 15
  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त 15 मई 2021 को
  • अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय- 05:30 AM से 07:59 AM
  • अवधि- 02 घण्टे 29 मिनट्स
  • अक्षय तृतीया के साथ व्याप्त शुभ चौघड़िया मुहूर्त
  • प्रातः मुहूर्त (शुभ) – 07:12 AM से 07:59 AM

यह भी पढ़ें – मई माह में जन्म लेने वालों की कल्पना शक्ति होती है मजबूत, जानें इनके गुण-दोष

अक्षय तृतीया से जुड़ी खास बातें :

ऐसे मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान परशुराम जी का जन्म हुआ था. यह भी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही भगवान विष्णु के चरणों से धरती पर गंगा अवतरित हुई थीं. इसके अलावा अक्षय तृतीया से ही सतयुग, द्वापर और त्रेतायुग के आरंभ की गणना की गई है.

अस्वीकरण : आकृति.इन साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here