Pradosh Vrat Poojan Vidhi
Pradosh Vrat Poojan Vidhi
ad2

प्रदोष व्रत माह में दो बार किया जाता है. प्रदोष व्रत को शास्त्रों में सुख प्रदान करने वाला माना गया है. माघ मास का शुक्ल प्रदोष व्रत 14 फरवरी, सोमवार के दिन है. सोमवार के दिन प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat Poojan Vidhi) पड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ जाता है. सोम प्रदोष व्रत करने से चंद्रमा का शुभ प्रभाव प्राप्त होता है. साथ ही इस दिन भगवान शिव की उपासना से मनुष्य की सारी मनोकामना पूरी होती है. पंचांग के मुताबिक इस बार सोम प्रदोष व्रत पर 3 शुभ योग का अद्भुत संयोग बन रहा है. आइए जानते हैं इस बारे में.

शिव भक्तों के लिए प्रदोष व्रत का एक खास महत्व होता है. हर माह होने वाले प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat)को भक्त पूरी श्रद्धा और निष्ठा के साथ पूरा करते हैं. प्रदोष व्रत करने से जीवन की सभी परेशानी और कष्टों को भगवान भोलनाथ दूर कर देते हैं. प्रदोष व्रत में प्रदोष काल में पूजा करने का खास महत्व होता है. अगर आप इस व्रत को करते हैं तो शिव जी की कृपा से जीवन में सुख और शांति आएगी.

यह भी पढ़ें – जानिए भौम प्रदोष व्रत शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और कथा

हिंदू पंचांग के अनुसार, हर माह की त्रयोदशी तिथि (Trayodashi Tithi) को प्रदोष व्रत होता है. इस बार माघ मास का शुक्ल पक्ष है. शुक्ल पक्ष का प्रदोष व्रत काफी फलदायी माना जाता है. प्रदोष व्रत के दिन भगवान शिव की विधि विधान से पूजा-अर्चना की जाती है. भगवान शिव की कृपा से उत्तम स्वास्थ्य, आयु, धन, सौभाग्य, समृद्धि आती की प्राप्ति होती है. ऐसे में आइए जानते हैं कि माघ शुक्ल पक्ष का प्रदोष व्रत कब है? और पूजा का मुहूर्त क्या है?

प्रदोष व्रत 2022 तिथि एवं पूजा का मुहूर्त Pradosh Vrat Muhurt

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार इस वर्ष 2022 में माघ मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि का प्रारंभ 13 फरवरी को शुरू हो रहा है. 13 फरवरी को शाम 06 बजकर 42 मिनट पर ये शुरू होकर, इसका समापन 14 फरवरी को रात 08 बजकर 28 मिनट पर होगा. ऐसे में प्रदोष व्रत पूजा का मुहूर्त 14 फरवरी को ही व्रत करने से मिलेगा. जिस कारण से भक्त प्रदोष व्रत 14 फरवरी दिन सोमवार को व्रत रखेंगे.

Pradosh Vrat Poojan Vidhi

इतना ही नहीं सोमवार को प्रदोष व्रत पड़ने के कारण से यह सोम प्रदोष व्रत है. इस दिन शिव पूजा के लिए प्रदोष मुहूर्त शाम 06 बजकर 10 मिनट से रात 08 बजकर 28 मिनट तक का शुभ माना जा रहा है. इस मुहूर्त में आपको शिव की पूरी भक्ति के साथ पूजा करनी चाहिए.

आयुष्मान योग में प्रदोष व्रत 2022

इतना ही नहीं बता दें कि माघ शुक्ल पक्ष का प्रदोष व्रत आयुष्मान योग में पड़ रहा है. 14 फरवरी को प्रदोष व्रत के दिन आयुष्मान योग रात 09 बजकर 29 मिनट तक रहने वाला है. इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग का भी फलदेने वाला संयोग बन रहा है.

प्रदोष व्रत के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग इसी दिन, दिन में 11 बजकर 53 मिनट शुरू होगा जो अगले दिन 15 फरवरी को सुबह 07 बजे तक रहने वाला है. बता दें कि इस दिन का शुभ मुहूर्त दोपहर 12 बजकर 13 मिनट से दोपहर 12 बजकर 58 मिनट तक रहने वाला है.

यह भी पढ़ें – शिवजी के इस व्रत में शामिल होने पृथ्वी पर आते है देवी देवता, जानिए…

प्रदोष व्रत की पूजा विधि – Pradosh Vrat Poojan Vidhi

किसी भी प्रदोष व्रत में भगवान शिव की पूजा सूर्यास्त से 45 मिनट पहले और सूर्यास्त के 45 मिनट बाद तक की जाती है. सुबह स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण करें. हल्के लाल या गुलाबी रंग का वस्त्र धारण करना शुभ रहता है. चांदी या तांबे के लोटे से शुद्ध शहद एक धारा के साथ शिवलिंग पर अर्पण करें. उसके बाद शुद्ध जल की धारा से अभिषेक करें तथा ॐ सर्वसिद्धि प्रदाये नमः मन्त्र का 108 बार जाप करें. आज के दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए.

Pradosh Vrat Poojan Vidhi

प्रदोष व्रत का महत्व – Pradosh Vrat Mahatva

हिन्दू धर्म में प्रदोष व्रत को बहुत शुभ और महत्वपूर्ण माना जाता है. इस दिन पूरी निष्ठा से भगवान शिव की अराधना करने से जातक के सारे कष्ट दूर होते हैं और मृत्यु के बाद उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है. पुराणों के अनुसार एक प्रदोष व्रत करने का फल दो गायों को दान जितना होता है. इस व्रत के महत्व को वेदों के महाज्ञानी सूतजी ने गंगा नदी के तट पर शौनकादि ऋषियों को बताया था. उन्होंने कहा था कि कलयुग में जब अधर्म का बोलबाला रहेगा, लोग धर्म के रास्ते को छोड़ अन्याय की राह पर जा रहे होंगे उस समय प्रदोष व्रत एक माध्यम बनेगा जिसके द्वारा वो शिव की अराधना कर अपने पापों का प्रायश्चित कर सकेगा और अपने सारे कष्टों को दूर कर सकेगा.

Previous articleबच्चों के लिए ब्रेकफास्ट में बासी रोटी से बनाएं टेस्टी सैंडविच
Next articleआज कुछ नया ट्राई करना है तो बनायें बीटरूट मंचूरियन, जानिये पूरी रेसिपी
Nidhi
I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here