दिवाली की पूजा में मां लक्ष्मी को चढ़ाएं ये प्रसाद, हो जाएंगी प्रसन्न

0
93

हेल्लो दोस्तों दिवाली की पूजा के दौरान प्रसाद (Diwali Poojan Bhog) की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. कहा जाता है कि दिवाली की पूजा के दौरान मां लक्ष्मी घर आती हैं, इसलिए घर के दरवाजे पर रंग से देवी के पैरों की छाप और शुभ चिन्ह बनाए जाते हैं. इसके अलावा पूजा के प्रसाद को प्राथमिकता दी जाती है, जो मां विष्णुप्रिया को अतिप्रिय हो.

वैसे तो ईश्वर भाव का भूखा होता है, उन्हें सच्चे मन से जो भी भोग लगा दो, वह पर्याप्त होता है. मगर भक्त मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए हरसंभव प्रयास करते हैं. ऐसे में आप मां लक्ष्मी को 5 प्रकार के भोग लगाकर प्रसन्न कर सकते हैं.

ये भी पढ़िए : धनतेरस पर इन जगहों पर जलाएं दीपक, हो जाओगे मालामाल

मखाना :

मां लक्ष्मी को मखाना बहुत पसंद होते हैं, क्योंकि यह कमल के फूल के बीज से बनता है. इसे फूल मखाना भी कहा जाता है. इसे मां लक्ष्मी के भोग में ज़रूर चढ़ाना चाहिए. आप मखाने की खीर बनाकर या उसे घी में हल्का सेंककर भी भोग लगा सकते हैं.

बताशे :

मां लक्ष्मी को चंद्रमा की बहन कहा जाता है और बताशे का संबंध चंद्रमा से होता है, इसलिए मां लक्ष्मी को बताशे बहुत पसंद हैं. आप बताशे और चीनी के खिलौने मां को प्रसाद के रुप में चढ़ाएं, साथ ही खीर और मिठाई के रुप में अन्य सफेद प्रसाद भी चढ़ाएं.

Diwali Poojan Bhog
Diwali Poojan Bhog

सिंघाड़ा :

मां लक्ष्मी को सभी फल-फूल बहुत रास आते हैं, जो जल में फलते-फूलते हैं. ऐसे में आप कमल, मखाना, कमल ककड़ी और सिंघाड़े का भोग लगा सकते हैं. आप हरे और काले रंग के सिघाड़े माता को प्रसाद के रुप में चढ़ा सकते हैं. दिवाली पर इनका विशेष महत्व होता है. जल में पैदा होने के कारण यह माता लक्ष्मी को प्रसन्न है। मौसमी फल होने की वजह से यह बाज़ार में आसानी से मिल जाएगा और इसका आप भोग लगा सकते हैं

ये भी पढ़िए : नरक चतुर्दशी के दिन करें ये उपाय, मिलेगा सभी कष्टों से छुटकारा

नारियल :

अधिकतर मंदिरों में नारियल का प्रसाद चढ़ाया जाता है. इसे मां लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है, इसलिए दिवाली के पर्व पर नारियल का प्रसाद चढ़ा सकते हैं. इससे मां लक्ष्मी बहुत प्रसन्न होंगी. बता दें कि शिवजी को इसका भोग नहीं लगाया जाता है, लेकिन मां कमला का संबंध विष्णु जी से है, इसलिए उन्हें भी नारियल का प्रसाद चढ़ा सकते हैं.

Diwali Poojan Bhog

पान :

दिवाली की पूजा के दौरान आरती से पहले ही सभी भोग मां को चढ़ा दिए जाते हैं, लेकिन पान ही एकमात्र ऐसा भोग होता है, जो सबसे आखिरी में लगता है. आप मां लक्ष्मी को मीठा पान चढ़ा सकते हैं, लेकिन अगर मीठा पान उपलब्ध न हो, तो आप पान के सादे पत्ते को भी अर्पित कर सकते हैं. माता लक्ष्मी की पूजा में पान का होना बहुत शुभ माना जाता है पान को प्रसन्नता का कारक माना जाता है शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए आप उनकी पूजा में पान का प्रयोग कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here