हिंदी फिल्मों की पार्श्वगायिका अलका याग्निक की अनसुनी बातें

0
44

हेलो फ्रेंड्स, बॉलीवुड की मशहूर गायिका अलका याग्निक आज अपना 54वा जन्मदिन मना रही हैं. ये एक भारतीय, प्रसिद्ध पार्श्वगायिका है। ये अपनी गायिकी से सिनेमा में तीन दशकों तक राज किया है और संगीत के क्षेत्र में अपनी गायिकी का लोहा मनवाया है। अलका याग्निक को कई नेशनल अवार्ड और फिल्मफेयर अवार्ड से नवाज़ा जा चूका है। सिनेमा के तीन दशकों तक पुराने करियर में, इन्होने एक से बढ़ के एक गाने गाये है। अलका ने अपने करियर के दौरान हिंदी के अलावा उर्दू, गुजराती, अवधी, भोजपुरी, तमिल, तेलुगु और मलयालम भाषा में भी गाने गाये है। Alka Yagnik Biography

अलका याग्निक जानी-मानी एक भारतीय पार्श्वगायिका हैं. अलका याग्निक ने अपने तीन दशक पुराने करियर में एक से बढकर एक गीत में अपनी काबिलियत का लोहा मनवाया हैं. लता मंगेशकर ओर आशा भोसले के बाद किसी गायिका का नाम लिया जाता हैं तो वह अलका याग्निक ही हैं. अलका याग्निक के इसी हुनर के कारण उन्हें कई बार नेशनल अवार्ड और फिल्मफेयर से सम्मानित किया जा चुका हैं.

यह भी पढ़ें – सुरीली आवाज की मलिका श्रेया घोषाल मना रही है अपना 36वां जन्मदिन

जन्म :

अलका याग्निक का जन्म 20 मार्च 1966 को पश्चिम बंगाल, कोलकाता में हुआ था। अलका की माता का नाम शुभा याग्निक है और वो एक क्लासिकल सिंगर थी। अलका गुजराती हिन्दू परिवार से आती है। इन्होंने ने 6 साल की उम्र में ही कोलकाता रेडीयो के लिए गाना शुरू कर दिया था। 10 साल की उम्र में वो मुंबई स्थानांतरित हो गयीं और वहीं से वो गायन के क्षेत्र में तरक्की की राह पर अग्रसर हुई।

अलका ज़्यादातर बॉलीवुड की फिल्मों के लिए गाती है। वो अब तक 700 फिल्मों के लिए गीत गा चुकी है। इन्होंने कुमार सानु व उदित नारायण के साथ ज्यादा गीत गाये हैं। कुमार सानु के साथ गाये गये उनके जुगलबंदी गीत श्रोताओं द्वारा बहुत पसंद किये गये।

Alka Yagnik Biography
Alka Yagnik Biography

परिवार :

अलका ने शिल्लोंग के मशहूर बिज़नेसमैन नीरज कपूर के साथ 1989 में शादी की। उनकी बेटी का नाम सयेशा है।

करियर :

14 साल की छोटी सी उम्र में अलका ने फिल्म ‘पायल की झंकार’ के गाने ‘थिरकत अंग लचक झुकी’ गीत से अपना डेब्यू किया। जिसके बाद 1981 में आयी फिल्म ‘लावारिस’ का गाना ‘मेरे अँगने में’ अलका को शोहरत की बुलंदियों तक पहुंचा दिया।
साल 1988 आयी फिल्म ‘तेजाब’ के गाने ‘एक दो तीन’ के लिए इन्हे पहली बार फिल्मफेयर अवार्ड मिला। इन्होने जानी मानी बड़ी-बड़ी फिल्मों के लिए गाने गाये, और आज अलका एक विख्यात हस्ती है, जिनके गाये हुए गाने लोग आज भी बेहद पसंद करते है.

यह भी पढ़ें – हैप्पी बर्थडे : 91 साल की हुईं सुरों की मल्लिका लता मंगेशकर

अल्का याग्निक ने 1985 में भोजपरी फिल्म में गाने गाए जिसमें एक सोहर गीत “युग युग जिया तू लालानवा” काफी पसंद किया गया,इस गाने को आज भी सोहर गीत का सबसे अच्छा गीत के रूप में पसंद किया जाता है।

पुरस्कार :

15 फरवरी 2000 को उन्हें नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में राष्ट्रपति के आर नारायणन द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्होंने दो राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार, सात फिल्मफेयर पुरस्कार, तीन ज़ी सिने पुरस्कार, इत्यादि जीते हैं।

जीवनी
पूरा नाम : अल्का याग्निक
जन्मतिथि : 20 मार्च 1966
जन्म स्थान : कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत
लम्बाई : 5 फुट 4 इंच (5’4”)
काम काज : पार्श्व गायिका
स्कूल : मॉडर्न गर्ल हाई स्कूल, कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत
शैक्षिक योग्यता :ज्ञात नहीं
फैमिली : माता – शुभा याग्निक
पिता : – ज्ञात नहीं
भाई : समीर याग्निक
पति : नीरज कपूर (शिलांग के व्यापारी)
बेटी : सैशा कपूर
बालों का रंग : गहरा भूरा
आँखों का रंग : काला
धर्म : हिन्दू
पसंद का खाना : गुजराती व्यंजन, महाराष्ट्री व्यंजन, इतालवी चाइनीज व्यंजन
पसंद का हीरो : अमिताभ बच्चन, सलमान खान, राज कपूर और आमिर खान
पसंद की हिरोइन : ऐश्वर्या राय, रवीना टंडन, रेखा और आलिया भट्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here