शिशु के कमरे में एसी चलाने से पहले इन ज़रूरी बातों का रखें ध्यान

गर्मी का मौसम दस्तक दे चुका है और लोग इस भीषण गर्मी से बचने के लिए कूलर और एसी का सहारा लेना शुरू कर चुके हैं। जब मौसम में बदलाव होता है तो सबसे ज़्यादा जो किसी को परेशानी होती है वो है छोटे बच्चे। ठंडी से गर्मी और गर्मी से ठंडी होने पर सबसे ज़्यादा मुसीबत नवजात शिशुओं को होती है क्यूंकि इससे उनके सेहत पर भी बहुत प्रभाव पड़ता है क्यूंकि ज़्यादा ठंड हो या ज़्यादा गर्मी हो वो अपनी बात को बोलकर व्यक्त नहीं कर पाते। Navjaat Shishu Ke Liye AC Ka Prayog

ऐसे में अगर गर्मी के दिन में आप अपने शिशु को गर्मी से आराम दिलाने के लिए एसी का इस्तेमाल करती हैं और सोचती है की यह आपके शिशु को आराम दिलाएगा तो हो सकता है आप ग़लत भी हो सकते हैं क्यूंकि आराम दिलाने के साथ-साथ यह आपके शिशु को बीमार भी कर दे। इसलिए आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम आपको कुछ ज़रूरी बातें बता रहे हैं जिनका अपने शिशु के कमरे में एसी चलाते वक़्त आपको ध्यान रखना ज़रूरी है।

तापमान का रखें ध्यान :

जब कभी भी आप अपने शिशु के कमरे में एसी चलाएं तो एक बात का ध्यान ज़रूर रखें की कमरे का तापमान ज़्यादा ठंडा ना हो। अगर कमरे का तापमान अधिक ठंडा होगा तो हो सकता है आपके शिशु को ठंड के वजह से कंपकपी हो और इससे आपके शिशु के जान को भी खतरा हो सकता है।

ठंडी-गर्मी से बचाएं :

जब भी आप शिशु को एसी कमरे में रखें तो तुरंत शिशु को कमरे से बाहर निकालकर बहार खुले में या किसी गर्म कमरे में ना ले जाएं, इससे उन्हें ठंडी-गर्मी हो सकती है और वो बीमार भी हो सकते हैं। इसलिए बेहतर यह होगा की जब आप शिशु को बाहर ले जाना चाहें तो कमरे का एसी थोड़े देर के लिए बंद कर दें ताकि वो धीरे-धीरे बाहर के तापमान के हिसाब से खुद को ढाल सकें।

गर्म कपड़े हैं ज़रूरी :

हमेशा याद रखें की शिशु के कमरे का एसी चलाने से पहले शिशु को या तो गर्म कपड़े या तो पुरे कपड़े पहना दें, इसके अलावा आप उन्हें चादर भी ओढ़ा सकती हैं और साथ ही साथ शिशु के सर को टोपी या किसी कपड़े से भी ढक सकती हैं ताकि उन्हें ठंड ना लगे।

सर्दी-ज़ुखाम का रखें ख्याल :

हमेशा याद रखें की एसी चलाने से पहले आप ध्यान रखें की कहीं आपके शिशु को सर्दी-ज़ुखाम तो नहीं है और साथ ही साथ एसी के तापमान का भी ख्याल रखें ताकि आपका शिशु बीमार ना हो। क्यूंकि शिशु का इम्युनिटी पावर बहुत कम होता है और ऐसे में अगर तापमान में थोड़ी भी गड़बड़ी हुई तो आपका शिशु बीमार हो सकता है या उसे इन्फेक्शन भी हो सकता है।

एसी को ज़रूर बंद करें –

हमेशा याद रखें एसी में टाइमर ज़रूर लगा दें ताकि कमरा ठंडा होने के बाद आपका एसी अपने आप बंद हो जाए। अगर आपका एसी टाइमर वाला नहीं है तो एक नियमित वक़्त के बाद एसी बंद करना ना भूलें।

एसी का उपयोग करना बुरा नहीं परन्तु अगर आप अपने शिशु को एसी वाले कमरे में रख रही हैं तो आपको इन बातों का ध्यान ज़रूर रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें : ये लक्षण बताएंगे की आपके शिशु को निकलने वाले हैं दांत

Share

Recent Posts

भुट्टे का उपमा बनाने की विधि

उपमा सेहत के लिए काफी हेल्दी माना जाता है अगर इसे सुबह-सुबह बनाकर खाया जाए तो फिर ये सेहत के… Read More

July 16, 2019 1:09 pm

लक्ष्मी के पैर लेकर पैदा होती हैं इस माह में जन्मी बेटी, घर लाती हैं तरक्की और भाग्य

हिन्दू धर्म में लडकीयो को माँ लक्ष्मी का रूप समझा जाता है | अत: हिन्दू धर्मशस्त्रो के अनुसार जिस घर… Read More

July 16, 2019 1:02 pm

महिलाओं में इसलिए बढ़ रही है माइग्रेन की समस्या, इससे होगा फायदा

आज-कल की भागदौड़ वाली लाइस्टाइल में कई लोग मुख्य रूप से महिलाएं माइग्रेन की शिकार हो रही हैं और चिकित्सा… Read More

July 16, 2019 12:53 pm

घर में रसीली जलेबी बनाने की विधि

आपने अक्सर गली-मौहल्ले के नुक्कड़ पर मिलने वाली लाल या नारंगी रंग की कुरकुरी जलेबी का स्वाद जरूर चखा होगा।… Read More

July 15, 2019 5:42 pm

ब्लाउज के गले की आकर्षक डिजाइन

भारतीय महिलाओं के पसंदीदा कपड़ों में सबसे ज्यादा पहनी जाने वाली ड्रेस है साड़ी । इसे देश के हर राज्य… Read More

July 15, 2019 5:35 pm

चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिला रखे इन 7 बातों का खास ध्यान

साल 2019 का दूसरा चंद्र ग्रहण 16 जुलाई यानि कल शाम लगने जा रहा है, जो केवल भारत में ही… Read More

July 15, 2019 11:04 am