ताकि नवजात शिशु को ना हो गर्मी के मौसम में परेशानी, कुछ इस तरह रखें ख्याल

गर्मी का मौसम हर किसी के लिए बहुत ही मुश्किलों वाला मौसम होता है क्यूंकि इस दौरान लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पर मौसम का बदलना सबसे ज़्यादा जिन्हें परेशान करता है वो है छोटे बच्चे। खासकर के नवजात शिशु जो गर्मी के मौसम में पैदा होते हैं, हालांकि गर्मी के महीने में शिशुओं को खांसी और सर्दी होने की सम्भावना कम होती है लेकिन फिर भी इसके अलावा भी कई बिमारियों का खतरा रहता है और इसलिए इस मौसम में भी नवजात शिशुओं को काफी देखभाल की ज़रूरत होती है। आज इस ब्लॉग के ज़रिये हम आपको गर्मी के मौसम में पैदा होने वाले शिशुओं के देखभाल के बारे में ही बता रहे हैं। Baby Care Tips During Summer In Hindi

1.

कोई भी शिशु ये नहीं बता सकता की उसे ठंड लग रही है या गर्मी और इसीलिए इसका ख्याल माता-पिता को रखना चाहिए। आप शिशु के शरीर को या शिशु के शरीर कुछ अंगों जैसे – गर्दन या पीठ को छूकर या कपड़ों के नीचे हाथ लगाकर यह पता कर सकते हैं की उन्हें गर्मी लग रही है या नहीं। क्यूंकि गर्दन-पीठ पर शिशुओं को अधिक गर्मी लगती है और जगहों पर उन्हें पसीना भी अधिक चलता है।

2.

नवजात शिशु माँ के दूध पर ही निर्भर रहता है और इसलिए गर्मी के मौसम में शिशु को हर कुछ देर में थोड़े-थोड़े देर के लिए स्तनपान ज़रूर कराएं। नवजात शिशु को पानी भी नहीं दिया जाता इसलिए स्तनपान द्वारा शिशु को पानी और दूध दोनों मिलता है जो उनके लिए बहुत ज़रूरी है। अगर आप शिशु को स्तनपान नहीं करा पा रही हैं रही हैं तो शिशु के लिए फोरेमिल्क या डॉक्टर के परामर्श से बोतल का दूध शिशु को पिलाती रहें ताकि उनका शरीर हाइड्रेटेड रहे।

3.

गर्मी के मौसम में कोशिश करें की आप में अपने नवजात को बाहर ना ले जाए क्यूंकि धुप की तेज़ किरणें आपके शिशु को तकलीफ़ दे सकती है। इसलिए अगर आपको मज़बूरी में दिन के वक़्त शिशु के साथ निकलना पड़ रहे की आप शिशु के शरीर को अच्छे से कवर कर लें ताकि उनपर सूर्य की तेज़ किरणें ना पड़े।

4.

गर्मी के दिनों में शिशु के पहनावे का खास ध्यान रखें। गर्मी में शिशु को कॉटन यानी सूती के हल्के कपड़े पहनाएं ताकि उन्हें गर्मी ना लगे और उन्हें घमोरी या रैसेज़ ना हो।

5.

शिशु का पूरा नींद होना बहुत ज़रूरी है इसलिए शिशु के सोने का बंदोबस्त करके रखें ताकि उन्हें आराम की नींद मिले और उनकी नींद पूरी हो।

6.

शिशु के साफ़-सफाई का पूरा ध्यान रखें, ऐसे तो हर वक़्त शिशु की साफ़-सफाई का ध्यान रखना ज़रूरी है लेकिन गर्मियों में और ज़्यादा सावधानी बरतें। दो से तीन बार कपड़े बदले ताकि पसीने से शिशु को इन्फेक्शन ना हो। इसके साथ ही साथ उन्हें मॉइस्चुराइजर और पाउडर भी ज़रूर लगाएं।

नवजात शिशु की देखभाल हर मौसम में ज़रूरी होती है लेकिन गर्मियों में यह और ज़्यादा ज़रूरी हो जाता है इसलिए शिशु को स्वस्थ रखने के लिए सही तरीके से शिशु का ध्यान रखें।

Share
Vidhya

Recent Posts

कच्चे आम की कढ़ी बनाने की विधि

कच्चे आम से बनी हुई कढी का स्वाद दही मिलाकर बनी की कढी से अलग होता है. आमतौर पर इसमें… Read More

June 23, 2019 5:17 pm

टाइफाइड बुखार से बचाव के घरेलू इलाज

टाइफाइड एक खतरनाक बीमारी है, इस बीमारी में तेज बुखार आता है, जो कई दिनों तक बना रहता है। यह… Read More

June 23, 2019 3:21 pm

स्वादिष्ट काजू कतली बनाने की विधि

काजू की बर्फी बहुत ही लोकप्रिय मिठाई है दिवाली जैसे बड़े-बड़े त्योहारों में हर घर में आपको काजू की बर्फी… Read More

June 22, 2019 6:15 pm

इन घरेलू उपचारों से कम कर सकते हैं कोलेस्ट्रॉल लेवल

मानव शरीर में कोलेस्ट्रॉल का बहुत महत्वपूर्ण काम होता है, परन्तु केवल इसकी मात्रा उतनी ही होनी चाहिए जितनी की… Read More

June 22, 2019 2:37 pm

चटपटी अचारी दही भिंडी बनाने की विधि

यदि आपको भिंडी की सब्‍जी काफी ज्‍यादा पसंद है तो आप अचारी दही भिंडी बना सकती हैं। अचारी दही भिंडी… Read More

June 22, 2019 11:15 am

दिल के रोग, कैंसर सहित कई बीमारियो में फायदेमंद है स्ट्रॉबेरी

स्ट्रॉबेरी एक ऐसा मनमोहक फल है, जिसे देख कर हर कोई उसे खाने की इच्छा करता है, दिल के आकार… Read More

June 21, 2019 5:33 pm