शिशु को पर्याप्त दूध मिल रहा है या नहीं इसका पता हमें कैसे चलेगा ?

नवजात शिशुओं में सबसे ज्यादा ध्यान रखने योग्य बात यह है कि उन्हें पर्याप्त पोषण मिलें। अधिकांश शिशु स्तनपान करते हैं और जन्म के छह महीने तक कोई भोज्य पदार्थ नहीं खाते हैं,तो हमें कैसे पता लगेगा की शिशु को पर्याप्त दूध मिल रहा है? Baby is Getting Enough Milk or Not

आखिरकार आपके स्तनों का दूध बोतल में नाप कर नहीं दिया जाता है, तो आपको इस बात का कभी पता नहीं चलेगा की आपका शिशु कितना दूध पी रहा है। आप अंत में सिर्फ यह दुआ मांगते हैं की काश आपका शिशु बोल पाता की उसका पेट भर चुका है।

यह वास्तव में पता लगाया जा सकता है,जब आपका शिशु भूख लगने के संकेत देता है। यह है कुछ तरीके जिनके द्वारा शिशु दर्शाते हैं की उन्हें भूख लगी है :

नियमित रूप से शिशु के वज़न की जांच करते रहे –

आपके शिशु का वजन इस बात का पहला संकेत है की उन्हें पर्याप्त मात्रा में दूध मिल रहा है या नहीं। आदर्श रुप से आपके शिशु का वज़न जन्म के 10-14 दिनों के बीच में दोबारा बढ़ना चाहिए और इसके बाद कुछ महीनों तक के लिए हर दिन में (28 grams) बढ़ना चाहिए। यह याद रखें की शिशु का वज़न जन्म के पहले हफ्ते में 5 से 10% कम होता है। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद शिशु रोग विशेषज्ञ द्वारा वजन जांचने का नियमित कार्यक्रम उपलब्ध कराया जाता है यह निश्चित करने के लिए कि आप सही मार्ग पर है।

शिशु के मल पर ध्यान दें –

आपका शिशु प्रत्येक बार स्तनपान करने के बाद मल त्याग करते हैं, जिसका मतलब है औसतन 12 बार। इसका मतलब यह है की शिशु को 6-8 बार पेल, रंगहीन नैपी और 2-5 बार स्टिडी, ढीली,पीली जो की स्तनों के दूध का मल है। यह स्तनों के दूध के पचने का सामान्य संकेत है। दो महीनों के अंत तक आपका शिशु कम मल त्याग करता है और फिर यह दिन में एक बार होता है।

शिशु का मूड –

व्यस्कों की तरह शिशु भी भोजन करने के बाद थक जाते हैं। स्तनपान करने के बाद शिशु संतुष्ट प्रतीत होना चाहिए। कभी-कभार आपके शिशु को नींद आ सकती है। डकार लेना या अंत में धीमी गति से चूसना भी यह दर्शाता है की शिशु का पेट पूरी तरह भर चुका है।

अपने शरीर के संकेतों को भी जांचें –

आपके स्तनो की बनावट भी बता सकती है की आपका शिशु पर्याप्त मात्रा में खा रहा है या नहीं। स्तनपान के बाद अगर आपके स्तन मुलायम बने रहते है तो इसका मतलब यह की शिशु ने पर्याप्त मात्रा में भोजन कर लिया है। लेकिन अगर आपके स्तन कठोर बने रहते है तो इसका मतलब यह है कि शिशु को पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं मिल रहा है।

चेतावनी के संकेतों पर ध्यान दें –

आमतौर पर और भी कई संकेत होते हैं अगर आपका शिशु दूध पीने के 45 मिनट के बाद चिड़चिड़ा हो और रोता हो,गाढ़े रंग की दुर्गंध भरा मूत्र त्याग करता हो, तो इसका मतलब यह है कि शिशु को पर्याप्त मात्रा में दूध नहीं मिल रहा है।

याद रखें –

आवश्यकता हो तो शिशु को अतिरिक्त सप्लिमेंट दें। हालांकि स्तनों के दूध में सभी पोषण होते हैं, अगर स्तनों के दूध में पोषक तत्वों की कमी होती है तो आप कुछ अलग से ले सकते हैं। कुछ सप्लिमेंट जैसे ओरल विटामिन डी शिशु के लिए और विटामिन बी12 मां के लिए डॉक्टर के सुझाव के बाद लिया जा सकता है।

लेकिन माताएं, सबसे जरूरी बात शांत रहे और अपने शिशु को पोषित करने की अपने शरीर की क्षमता पर विश्वास रखें। इन सभी जानकारियों के साथ आप उचित प्रकार से शिशु को स्तनपान करा सकती है। अगर आप इनमें से किसी भी समस्या का सामना कर रहे, तो आप यहां समाधान पा सकती है।

इस जानकारी को अन्य माताओं के साथ साझा करें। क्या पता किसी को इस जानकारी की जरूरत हो।

Share
Nidhi

I am a freelancer content writer, and I am writing contents for many websites since very long time.

Published by

Recent Posts

मिल्क पाउडर गुजिया बनाने की विधि

गुजिया होली की खास मिठाई है. यह अनेक तरह की स्टफिंग और आकार में बनाई… Read More

February 23, 2020

शिशुओं में डायपर रैशेस के लिए घरेलू उपचार

Natural Remedies For Diaper Rash : बच्चों में डायपर से रैशेस पड़ना बहुत आम बात… Read More

February 22, 2020

फाल्गुन अमावस्या 2020 में कब है, जानिए शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि और कथा

फाल्गुन अमावस्या को साल की आखिरी अमावस्या माना जाता है, इस दिन किसी पवित्र नदीं… Read More

February 22, 2020

मूंग दाल की मंगौड़ी बनाने की विधि

दोस्तों आज हम बेहद कुरमुरी ज़ायकेदार स्वास्थ्य के हिसाब से लाभकारी एक प्रमुख व्यंजन मंगौड़ी… Read More

February 20, 2020

भगवान शिव के उपवास में भूलकर भी न करें इन व्यंजनों का सेवन

हिन्दू धर्म में महाशिवरात्रि का पर्व बहुत श्रद्धा से मनाया जाता है. यह भगवान शिव… Read More

February 20, 2020

स्वादिष्ट मूली का अचार बनाने की विधि

मूली का अचार खाने में बहुत ही बढ़िया लगता है और ठंड में तो इसे… Read More

February 19, 2020