जानिए वास्तुशास्त्र के अनुसार कहां लगाना चाहिए आईना?

0
5

वास्तु के अनुसार घर में लगे दर्पण से कई तरह की नेगेटिव और पॉजिटिव एनर्जी निकलती है। दर्पण से निकलने वाली ऊर्जा कितनी अच्छी और खराब हो सकती है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि दर्पण किस स्थान पर लगा हुआ है। Vastu Tips For Mirror

शीशे और सौभाग्य का कोई संबंध होता है? क्या घर की दीवार पर टंगा हुआ आईना दुर्भाग्य का कारण बन सकता है? आखिर किन चीजों को नजरंदाज करने पर दर्पण आपके दु:ख कारण बन जाता है? इन सभी सवालों के जवाब वास्तु शास्त्र में मिलते हैं। वास्तु के अनुसार सही जगह पर लगा आईना जहां आपकी तरक्की का कारण बनता है तो वहीं गलत जगह पर लगा या फिर टूटा-चटका हुआ शीशा आपके घर की ऊर्जा के प्रवाह को प्रभावित करता है। गलत दिशा पर लगा आईना नकारात्मक ऊर्जा पैदा करता है। ऐसे में आईना लगाते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है।

यह भी पढ़ें : घर बनवाने से पहले जान लीजिये दिशाओं का महत्व

इस दिशा में लगाएं दर्पण :

आईना लगाते समय उसकी दिशा का विशेष ध्यान रखें। जैसे सकारात्मक ऊर्जा पाने के लिए दर्पण को हमेशा पूर्व और उत्तर वाली दीवारों पर इस प्रकार लगाना चाहिए कि देखने वाले का मुख पूर्व या उत्तर में रहे। आईने से जुड़े इस वास्तु के नियम को अपनाने से जीवन में उन्नति एवं धन लाभ के अवसर बढ़ जाते हैं।

Vastu Tips For Mirror
Vastu Tips For Mirror

यहां भूलकर भी न लगाएं आईना :

वास्तु के अनुसार कभी भी बेडरूम में आईना नहीं लगाना चाहिए। बेडरूम में आईना लगाने से पति-पत्नी के बीच सामंजस्य में कमी आती है। आपसी विश्वास घटने लगता है और दोनों के बीच मतभेद बढ़ने लगता है। यदि यहां पर आईना लगाना मजबूरी या जरूरी हो तो उसे इस तरह रखें कि बेड पर सोते समय आपका प्रतिबिंब नजर न आए। इसके लिए आप उस पर कपड़ा भी डाल सकते हैं।

Read – घर को बुरी नजर से बचाएंगे ये 8 टोटके

कैसा हो आईना :

घर में कभी भी टूटे, चटके और धुंधले दिखाई पड़ने आईने नहीं रखने चाहिए। ऐसे आईने दुर्भाग्य और तमाम तरह की परेशानी का कारण बनते हैं।

दीवार पर न लगाएं आइना :

यदि आपके घर में आमने-सामने दीवार पर आइना लगा है तो उसे आज ही वहां से हटा दें। इस तरह आइना आमने-सामने लगाने से परिवार में अशांति और मानसिक तनाव जैसी स्थिति पैदा हो सकती है।

Vastu Tips For Mirror
Vastu Tips For Mirror

राउंड शेप दर्पण :

कई लोगों को अलग-अलग शेप के दर्पण घर में रखना अच्छा लगता है। अगर आपको भी ऐसा कोई शौंक है तो आप चकौर या फिर डायमंड शेप का शीशा घर पर लगाएं। गोल आकृति वाला दर्पण घर या फिर अपने कार्यस्थल पर लगाने की गलती न करें।

हमेशा साफ रखें दर्पण :

दर्पण हमेशा साफ-सुथरा रखें। अगर शीशा बाथरुम में लगा है तो सभी के स्नान के बाद रोजाना शीशा जरुर साफ करें। बाथरुम में शीशा पूर्वी दीवार पर लगाएं।

Read – घर बनवाने से पहले जान लीजिये दिशाओं का महत्व

सावधानियां –

  • घर या कार्यालय में दक्षिण, पश्चिम, आग्नेय, वायव्य एवं नैऋत्य दिशा की दीवार पर आईना लगाना शुभ नहीं माना है।इस तरह लगे हुए दर्पण को हटा देना चाहिए या कपडे से ढक देना उचित रहता है।
  • वास्तु के अनुसार बेड रूम में आइना लगाना अशुभ है। इस जगह दर्पण लगाने से दांपत्य जीवन पर नेगेटिव असर पडता है और स्वास्थ्य खराब,रिश्ते में तनाव की स्थितियां बनती है।
  • दर्पण को खिड़की या दरवाजे की ओर देखता हुए नहीं लगाना चाहिए।
  • दीवारों पर आमने सामने दर्पण लगाने से सिरदर्द,बैचेनी आदि परेशानियां होती है।
Vastu Tips For Mirror
Vastu Tips For Mirror
  • दर्पण को मनचाहे, अनियमित आकार में कटवाकर लगाने पर दुष्प्रभाव मिलते हैं।
  • घर,कार्यालय में दर्पण का ज्यादा उपयोग करना भी घातक है और रिश्तों पर विपरीत असर पडता है।
  • घर के दरवाजे, खिडकियां पारदर्शी कांच के होना अशुभ माना है और इसकी जगह धुंधले कांच का उपयोग कर सकते हैं।
  • कभी टूटे हुए दर्पण का उपयोग ​नहीं करना चाहिए और इसमें शक्ल भी नहीं देखनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here