जानिए वास्तु शास्त्र के अनुसार किस दिशा में होना चाहिए घर का मुख्य द्वार

0
132

हेल्लो दोस्तों आमतौर पर प्रत्येक घर में एक मुख्य द्वार होता है जिसे प्रवेश द्वार के नाम से भी जाना जाता है। किसी भी घर में मुख्य द्वार का बहुत ही महत्व होता है। इस द्वार से घर में तो प्रवेश तो किया ही जाता है साथ में यह भी माना जाता है कि घर के मुख्य द्वार से सभी प्रकार की सकारात्मक ऊर्जा घर के अंदर प्रवेश करती है। Vastu Tips For Main Door

ये भी पढ़िए : जानिए वास्तुशास्त्र के अनुसार कहां लगाना चाहिए आईना?

ज्योतिषों का मानना है कि घर का मुख्य द्वार वास्तु के अनुसार बनवाना चाहिए ताकि घर में सुख समृद्धि बनी रही और किसी भी तरह की परेशानी ना आए। लेकिन क्या आपको मालूम है कि घर का मुख्य द्वार बनवाते समय वास्तु से जुड़े कुछ नियमों का पालन करना बेहद जरूरी होता है। आइये जानते हैं कि घर का मुख्य द्वार का महत्व क्यों है और इसे बनवाते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

वास्तु के अनुसार इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि घर के मुख्यद्वार का दरवाजा खोलते या बंद करते समय किसी तरह की आवाज नहीं आनी चाहिए अन्यथा आपको कोई अशुभ समाचार सुनने को मिल सकता है।

Vastu Tips For Main Door
Vastu Tips For Main Door

घर के मुख्य द्वार से संबंधित जरूरी बातें :

  • घर का मुख्यद्वार हमेशा पूरब या उत्तर दिशा में बनवाना चाहिए।
  • प्रवेशद्वार के ठीक सामने सीढ़ियां नहीं होनी चाहिए।
  • मुख्य दरवाजे से लगनी वाली सीढ़ियों की संख्या विषम होनी चाहिए।
  • घर के दरवाजे से लगने वाली सीढ़ियों की संख्या 3, 5 अथवा 7 रखें।
  • मुख्यद्वार घर के बीचों बीच नहीं होना चाहिए बल्कि यह घर के दाएं या बाएं किनारे पर होना चाहिए।
  • प्रवेश द्वार के ठीक सामने पेड़, दीवार या खंभा हो तो उसे हटा दें। इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि इनकी छाया मुख्यद्वार के दरवाजे पर नहीं पड़नी चाहिए।

ये भी पढ़िए : सुबह उठते ही करे हथेलियों के दर्शन तो आप पर होगी धन, यश और…

  • घर के मुख्यद्वार की चौखट सड़क से ऊंचा होना चाहिए।
  • मुख्य दरवाजे अनुपात में चौड़ाई आधी रखें। अगर मुख्य द्वार की लंबाई 10 फ़ीट है तो दरवाजे की चौड़ाई 5 फ़ीट ही रखें।
  • घर की दिशा में ही मेन गेट होना चाहिए। कभी भी विपरीत दिशा में दरवाजे नहीं रखें। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचरण नहीं होता है।
  • घर का मेन गेट घर के अन्य सभी कमरों के दरवाजों से ऊंचा होना चाहिए। वास्तु शास्त्र में यह शुभ होता है।
Vastu Tips For Main Door
Vastu Tips For Main Door

अंदर की ओर खुलना चाहिए घर का मुख्यद्वार :

वास्तु के अनुसार घर के मुख्य द्वार का दरवाज इस तरह से बनवाना चाहिए कि वह दरवाजा बाहर की बजाय अंदर की तरफ खुले। बाहर की ओर दरवाजा खुलना अशुभ माना जाता है। यदि आपके घर के मुख्य द्वार का दरवाजा बाहर की तरफ खुलता है तो आपको आर्थिक संकट सहित कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here