Somvati Amavasya Upay
Somvati Amavasya Upay

सोमवती अमावस्या के उपाय और टोटके, somvati amavasya 2022, somvati amavasya upay, somvati amavasya par kya kare, somvati amavasya totke, सोमवती अमावस्या उपाय, somvati amavasya par kon se upay karen, सोमवती अमावस्या के टोटके

सोमवती अमावस्या का हिंदू धर्म में बहुत खास महत्व है. इस वर्ष सोमवती अमावस्या 30 मई 2022 को पड़ रही है. जब भी अमावस्या सोमवार को पड़ती है उसे सोमवती अमावस्या कहते हैं। इस वर्ष संयोग से सोमवती अमावस्या और वट सावित्री का व्रत एक साथ पड़ रहे हैं इसलिए इसका विशेष महत्व है। आज हम आपको बताएंगे सोमवती अमावस्या से जुड़े कुछ खास उपाय। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन उपायों को करने से आपके जीवन में सुख शांति और समृद्धि बनी रहती है और यदि आपके जीवन में कोई परेशानी चल रही है तो इन उपायों को अपनाकर आप उससे छुटकारा पा सकते हैं।

यह भी पढ़ें – वट सावित्री व्रत का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व, और कथा

सोमवती अमावस्या का महत्व

somvati amavasya mahatva

सोमवती अमावस्या के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। इस दिन भगवान विष्णु और शिव जी का विधि विधान से पूजन किया जाता है। सोमवती अमावस्या के दिन सुहागन स्त्रियां पीपल के वृक्ष की पूजा करती है और अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं। ऐसी मान्यता है कि सोमवती अमावस्या के दिन पितरों को जल अर्पित करने से उन्हें तृप्ति मिलती है और वे खुशहाल होने का आशीर्वाद प्रदान करते हैं. सोमवती अमावस्या के दिन नियमपूर्वक पूजन करने से सौभाग्य में वृद्धि होती हैं।

यह भी पढ़ें – कब है सोमवती अमावस्या, जानें इस दिन क्या करें और क्या नहीं

सोमवती अमावस्या के दिन करें ये उपाय

somvati amavasya upay

  • यदि आपके परिवार में कोई व्यक्ति लंबे समय से बीमार चल रहा है तो अमावस्या के दिन सुबह सुबह जल्दी उठ उठ कर स्नान आदि करने के पश्चात उस बीमार व्यक्ति के कपड़े से एक धागा निकाल लें और उस धागे को रुई के साथ मिलाकर उसकी एक बत्ती तैयार कर लें। अब एक मिट्टी के दीपक में उस बत्ती को रखिए और उसमें सरसों का तेल डालकर दीपक को जलाएं। इस दीपक को हनुमान मंदिर के बाहर रख दे और हनुमान जी से प्रार्थना करें।
  • यदि आप लंबे समय से बेरोजगारी से परेशान है या प्रमोशन में कोई बाधा आ रही है तो सोमवती अमावस्या के दिन एक नींबू लेकर उसके चार अलग-अलग टुकड़े कर दें। और सभी टुकड़ों को चौराहे पर जाकर अलग-अलग दिशाओं में फेंक दें।
  • यदि आपकी कोई इच्छा है या मनोकामना है जो काफी लंबे समय से पूरी नहीं हो रही है तो सोमवती अमावस्या के दिन एक नारियल लेकर उसे देवी मां के नाम से तोड़ दे। अब उस नारियल के 42 टुकड़े करें। आप 9 टुकड़े छोटी कन्याओं में बांट दें, तीन टुकड़े भगवान शंकर को अर्पित करें। दो टुकड़े दरजी को बाँट दें. 4 टुकड़े अपने लिए प्रसाद के रूप में रख लें. शेष बचे हुए टुकड़ों को प्रसाद के रूप में लोगों को बांट दें।
  • अपने करियर में सफलता पाने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन एक पानी वाला नारियल ले और उस पर लाल रंग का कलावा 7 बार लपेट कर अपने इष्टदेव का ध्यान करते हुए बहते पानी में प्रवाहित करें। आप इसे किसी नदी या तालाब में भी प्रवाहित कर सकते हैं और अपने इष्ट देव से सफलता के लिए प्रार्थना करें।
  • अपने जीवन में आने वाली परेशानियों और पारिवारिक कलेश से छुटकारा पाने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन 5 लाल फूल और 5 तेल के दीपक जला कर नदी में प्रवाहित कर दें। यदि यह उपाय आप शाम के समय करेंगे तो अधिक फलदाई होगा।
  • धन संबंधी समस्या से छुटकारा पाने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नानादि करने के बाद देवी मां की पूजा अर्चना करें और उनका स्मरण करते हुए चावल से हवन करें।
  • सोमवती अमावस्या के दिन पितरों को जल दिया जाता है। इस दिन पास के नदी या तालाब में जाकर डुबकी लगायें और पितरों का ध्यान करते हुए पीपल के पेड़ पर काला तिल, गंगाजल, चीनी, चावल, और जल अर्पित करें। साथ ही “ओम पित्रभ्य नमः” मंत्र का जाप करें।
Somvati amavasya vrat muhurt
Somvati amavasya
  • सोमवती अमावस्या के दिन पीपल का एक पौधा अवश्य लगाएं ऐसा करने से पितरों का आशीर्वाद आप पर सदैव बना रहता है और आपके जीवन में खुशहाली आती है।
  • सोमवती अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ की पूजा की जाती है जीवन की सारी परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए पीपल के पेड़ का पूजन करें और पीले रंग के पवित्र धागे को 108 बार परिक्रमा करके बांधे और अपने इच्छित मनोकामना की पूर्ति के लिए भगवान विष्णु से प्रार्थना करें।
  • सोमवती अमावस्या के दिन गणेश पूजन का भी विशेष फल मिलता है। पारिवारिक कलेश से छुटकारा पाने के लिए और जीवन में सुख समृद्धि पाने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन गणेश जी को सुपारी अर्पित करें।
  • सोमवती अमावस्या के दिन शिवलिंग पर कच्चा दूध और दही से अभिषेक कर के काले तेल अर्पित करें। साथ ही भगवान शिव का रुद्राभिषेक कच्चा दूध, दही, और शहद से करें। इससे भगवान भोलेनाथ आपके जीवन की आर्थिक संबंधी परेशानियों से छुटकारा दिलाते हैं और आपके सभी काम सिद्ध करते हैं।

रिलेटेड पोस्ट

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here