सुबह उठते ही करे हथेलियों के दर्शन तो आप पर होगी धन, यश और कीर्ति की बरसात

1
3293

हिन्दू धर्म हमें बहुत कुछ सिखाता है। शास्त्रों में दर्ज उपाय ना केवल मनुष्य जीवन को सहज बनाते हैं, साथ ही भविष्य सुधारने में भी मददगार साबित होते हैं। तो क्यों ना रोजाना अपने दिन की शुरुआत एक शास्त्रीय नियम से की जाए ताकि हमारा हर दिन सुखों से भरा हो। सुबह समय से उठना, स्नान करना, पूजा-पाठ आदि करके बड़ों का आशीर्वाद लेना यह हिन्दू शास्त्र हमें सिखाते हैं। Morning Mantra

हमारे शास्त्रों में बताया गया है कि सुबह उठते ही जब भी आप नींद से जागे अपनी हथेलियों के दर्शन करने चाहिए इस में ये भी बताया गया है कि जब भी आप अपनी हथेलियों को देखे इस मन्त्र का उचारण करे.

यह भी पढ़ें : जानिए वास्तुशास्त्र के अनुसार कहां लगाना चाहिए आईना?

श्लोक

कराग्रे वसते लक्ष्मी करमध्ये सरस्वती

श्लोक का अर्थ –

इसका अर्थ है की हथेलियों के अग्र भाग में माँ लक्ष्मी जी वास होता है वही मध्य भाग में माँ सरस्वती और मूल भाग में भगवान गोविन्द जी का वास होता है इस मन्त्र में धन की देवी और विद्या की देवी माँ सरस्वती और शक्ति के स्रोत सबके पालनहार भगवान की स्तुति की गयी है ताकि धन विद्या यश और कीर्ति की प्राप्ति हो सके

Morning Mantra
Morning Mantra

अगर आप सुबह उठ कर अपने हाथो की हथेलियों को देखते है तो आपका दिन भी अच्छा जाता है और इस तरह सुबह उठते भगवान का नाम भी लिया जाता है इसलिए ऐसा जरुर कर्रे ताकि धन विद्या और शक्ति आप पर हमेशा बनी रहे

और इसके साथ साथ हम आपको एक मन्त्र भी बता रहे है जिसके सुनने से ही आपकी किस्मत क दरवाजे खुल जाते है

वैदिक परम्परा में मंत्रो के उचारण को बहुत ही शुभ माना गया है अगर सही तरीके से मंत्रो का उचारण किया जाये तो यह आपके जीवन की दिशा बदल सकता है और आपके भाग्य को चमका सकता है.

यह भी पढ़ें : मौनी अमावस्या पर क्यों रहते हैं मौन? जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

बहुत से लोग सही तरीके और लय से मंत्रो का उचारण नही करते और फिर उसका भगवान से विश्वास उठ जाता है लेकिन वास्तविकता यह है की मंत्रो का सही उचारण बहुत ही जरुरी है.

मैं आज आपको जो मन्त्र बता रही हू उसे सुनने से ही आपके सब काम ठीक हो जाते है इस मन्त्र में भगवान विषणु के 1000 नामो का वर्णन किया गया है यह मन्त्र संस्कृत में होने के कारण सभी से पढ़ा नही जाता इसलिए इस सरल से मन्त्र का उचारण करने से भी आपको वैसा ही फल मिल सकता है जो विष्णु सहस्रनाम के जाप से मिलता है.

Morning Mantra
Morning Mantra

“नमो स्तवन अनंताय सहस्त्र मूर्तये, सहस्त्रपादाक्षि शिरोरु बाहवे.
सहस्त्र नाम्ने पुरुषाय शाश्वते, सहस्त्रकोटि युग धारिणे नम:!!!”

जीवन में आने वाली किसी भी तरह की बाधाओ को दूर करने के लिए इस मन्त्र का जाप करना चाहिए.

वैज्ञानिक तथ्य:

सुबह उठते ही हथेलियों के दर्शन का एक पहले वैज्ञानिक भी है. हथेली दर्शन से मतलब है कि उठने के बाद सबसे पहला काम ये करना चाहिए कि हथेलियों को आपस में रगड़ का आँखों पर रखना चाहिए. इससे आँखों में रक्त प्रवाह रात भर की निद्रा के बाद सही रूप से चलता है और रौशनी बढती है.

यह भी पढ़ें : कामशास्त्र के अनुसार आपकी पत्नी में है ये लक्षण तो आप है भाग्यशाली !

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here