शादीशुदा महिलाओं को भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये 6 काम

5
3682
Married Women Should Not Do This Work
Married Women Should Not Do This Work

आचार्य चाणक्य जी के बारे में कौन नहीं जानता है आज के युग में कोई भी राजनीतिक हो या कार्य उनके द्वारा लिखे गए कार्यों को हमेशा इंसान पड़ता है क्योंकि वह हर प्रकार से रातों को खोलने के उपाय तथा नीतियां बता रखी है आज हम चाणक्य के द्वारा बताए गए उन नीतियों के बारे में बात करने जा रहे हैं जिनमें उन्होंने बताया है कि शादीशुदा महिलाओं को यह छः कार्य कभी भी नहीं करनी चाहिए आइए जानते हैं वह कौन से 6 कार्य हैं। Married Women Should Not Do This Work

यह भी पढ़ें – लक्ष्मी के पैर लेकर पैदा होती हैं इस माह में जन्मी बेटी

शास्त्रों और ज्योतिष का बेहद महत्वपूर्ण प्रभाव हमारे जीवन पर होता है और इनके उपाय और सुझाव हमारे जीवन की परेशानियों को दूर करते है। आज हम आपको बता रहे है विवाहित नारी के लिए ऐसे बहुमूल्य वचन जो जीवन भर उनके काम आते है और अच्छे सामाजिक जीवन के लिए बहुत जरूरी भी है।

पराए घर में ना रहे

जो स्त्रियां किसी पराए घर में रूकती है उनकी छवि को समाज गलत नजर से देखता है इसीलिए उनको किसी भी पराए घर में नहीं रुकना चाहिए और साथ ही पराए लोगों पर भरोसा करना हानिकारक भी साबित हो सकता है।

Married Women Should Not Do This Work
Married Women Should Not Do This Work

अपनों की उपेक्षा ना करें

जब कभी घर में कोई सामाजिक एवं घरेलू मौके आते हैं तब स्त्रियों को काफी बातें बुरी लगती है किंतु कभी भी उनको ऐसा नहीं करना चाहिए, अपने मन को काबू में रख कर शांतिपूर्ण वातावरण बनाने का प्रयास करना चाहिए। ऐसा कोई भी कार्य ना करें जिससे परिवार के लोगों का अपमान हो साथ ही कभी भी अपने शुभचिंतक लोगों का उपेक्षा ना करें और ना ही पराए लोगों के प्रति उनके सम्मुख स्नेह प्रकट करें।

यह भी पढ़ें – सुहाग की निशानी बिंदी लगाने से मिलते हैं 7 फायदे

बुरे लोगों से दूर रहें

यह सबसे महत्वपूर्ण बात है हमेशा स्त्रियों को बुरे व्यवहार करने वाले लोगों से एवं बुरे चरित्र के लोगों से दूरी बनाए रखना चाहिए उनकी संगत में नहीं आना चाहिए अन्यथा आप भी किसी भी मुसीबत में कभी भी फंस सकते हैं क्योंकि जिन लोगों का सोच खराब होती है वह किसी को भी नुकसान पहुंचाने में किसी प्रकार की विचार नहीं करते हैं एवं आप उनकी बुरी आदतों के आदी भी हो सकते हैं।

घरेलु मामलों में संयम

स्त्रियों को स्वभाव से बातूनी और भावुक कहा जाता है और कई बार भावावेश में आकर स्त्रियां छोटे घरेलु मामलों को काफी बड़ा बना देती है। ऐसे में कुछ भी बोलने से पहले उसपर विचार जरूर कर लेना चाहिए और अनावश्यक दबाव में नहीं आना चाहिए।

Married Women Should Not Do This Work
Married Women Should Not Do This Work

घर के भेद अपने तक रखें

नारी एक घर का अभिन्न अंग होती है जिन्हें घर में होने वाली हर छोटी बड़ी बातों का ज्ञान होता है। ऐसे में कई बार कुछ ऐसी बातें भी होती है जो अगर घर तक ही सीमित रहें तभी अच्छा होता है। इसलिए बाहरी लोगों से बात करते हुए सावधानी बरतनी चाहिए और अपने घर के भेद नहीं बताने चाहिए।

विरह से बचना चाहिए

शास्त्रों के अनुसार किसी भी औरत को अपने पति से ज्यादा समय के लिए दूर नहीं रहना चाहिए। जीवन साथी से दूर रहने वाली स्त्री को समाज में कई प्रकार की मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। पति के साथ रहने से स्त्री अधिक सशक्त और सुरक्षित रहती है।

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here