गणेश चतुर्थी के दिन क्या उपाय करना चाहिए?, Ganesh Chaturthi Upay, Ganesh Chaturthi totke, गणेश जी के चमत्कारी टोटके, गणेश जी को खुश करने के उपाय, ganesh chaturthi dosh upay, ganesh chaturthi upay for marriage, ganesh chaturthi upay for success
गणेश चतुर्थी के दिन क्या उपाय करना चाहिए?, Ganesh Chaturthi Upay, Ganesh Chaturthi totke, गणेश जी के चमत्कारी टोटके, गणेश जी को खुश करने के उपाय, ganesh chaturthi dosh upay, ganesh chaturthi upay for marriage, ganesh chaturthi upay for success
ad2

गणेश चतुर्थी के दिन क्या उपाय करना चाहिए?, Ganesh Chaturthi Upay, Ganesh Chaturthi totke, गणेश जी के चमत्कारी टोटके, गणेश जी को खुश करने के उपाय, ganesh chaturthi dosh upay, ganesh chaturthi upay for marriage, ganesh chaturthi upay for success

हिन्दू शास्त्रों के अनुसार चतुर्थी तिथि भगवान गणेश से सम्बंधित होती है. शुक्ल पक्ष के दौरान अमावस्या के बाद चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी के रूप में जाना जाता है, और कृष्ण पक्ष के दौरान पूर्णिमा के बाद की चतुर्थी तिथि को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है. यह दिन विघ्नहर्ता भगवान श्री गणेश को समर्पित किया जाता है। इस दिन लोग व्रत रखते हैं और विधि-विधान से गणपति बप्पा का पूजन करते हैं और उन्हें उनकी प्रिय चीजों का भोग लगाते हैं। गणेश जी अपने भक्तों के सारे विघ्न हर लेते हैं यही कारण है कि इन्हें विघ्नहर्ता, विघ्नविनाशक कहा जाता है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं गणेश चतुर्थी के दिन किये जाने वाले कुछ विशेष उपाय के बारे में जिन उपायों को अपनाकर आप श्री गणेश की कृपा पा सकते हैं और अपनी हर मनोकामना की पूर्ति कर सकते हैं। अगर आप भी भगवान श्री गणेश को प्रसन्न करने के लिए ये उपाय अपनाते हैं तो आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

यह भी पढ़ें – भगवान गणेश को क्यों अर्पित की जाती है दूर्वा, क्या हैं इसे चढ़ाने के नियम

कब आती है गणेश चतुर्थी

ganesh chaturthi mahatva

हर महीने दो चतुर्थी पड़ती हैं- पहली शुक्ल पक्ष और दूसरी कृष्ण पक्ष में। शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते हैं और कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है. गणेश जी को सभी देवी-देवताओं में प्रथम पूजनीय स्थान प्राप्त है. इसलिए किसी भी शुभ कार्य करने से पहले गणेश भगवान की पूजा की जाती है. भगवान् गणेश की विधिवत पूजा करने से वे भक्तों के समस्त विघ्न हर लेते हैं और उनकी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं.

गणेश चतुर्थी के विशेष उपाय

Ganesh Chaturthi Upay

  • शास्त्रों के अनुसार चतुर्थी के दिन श्री गणेश का अभिषेक करना शुभ बताया गया है। चतुर्थी के दिन गणेश जी का अभिषेक करने से कई विशेष लाभ होते हैं. भगवान श्री गणेश का अभिषेक करने के बाद गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ अवश्य करें।
  • शास्त्रों के अनुसार गणेश यंत्र बहुत ही चमत्कारी यंत्र होता है. इसकी स्थापना यदि चतुर्थी पर की जाए तो विशेष फलदाई होती है। घर में इस यंत्र की स्थापना व पूजन करने से बहुत लाभ होता है और किसी प्रकार की बुरी शक्ति घर में प्रवेश नहीं करती है।
  • यदि आपके जीवन में काफी लंबे समय से कोई परेशानी चल रही है तो गणेश चतुर्थी के दिन हाथी को हरा चारा खिलाएं और भगवान गणेश के मंदिर जाकर परेशानियों से निदान पाने की प्रार्थना करें। हाथी को हरा चारा खिलाने से जीवन की परेशानियां कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी।
  • यदि आप धन संबंधी परेशानी का सामना कर रहे हैं तो चतुर्थी के दिन स्नान आदि करने के बाद भगवान श्री गणेश को गुड़ और शुद्ध घी का भोग अवश्य लगाएं। फिर इस भोग के प्रसाद को गाय को खिला दे. यह उपाय धन संबंधी समस्या को दूर करने के लिए बहुत उपयोगी है।
  • किसी भी मनोकामना की पूर्ति के लिए चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश के मंदिर जाकर गुड़ की 21 गोलियां बनाकर दूर्वा के साथ चढ़ाएं। इससे आपकी हर मनोकामना पूरी होती है।
  • गणेश चतुर्थी के दिन पीले रंग की गणेश प्रतिमा को घर में स्थापित करें और उनकी विधिवत पूजन करें। यदि पीले रंग के गणेश जी की प्रतिमा उपलब्ध ना हो तो श्रीगणेश को हल्दी की पांच गठान चढ़ाएं और “श्री गणपतए नमः” मंत्र का उच्चारण करें। इसके बाद 108 दूर्वा गीली हल्दी लगाकर भगवान गणेश को अर्पित करें. इससे सफलता के सारे द्वार खुल जाते हैं और नौकरी में प्रमोशन की संभावना भी बढ़ जाती है।
  • लड़कियों के विवाह के लिए गणेश चतुर्थी के दिन श्री गणेश को मालपुए का भोग लगाएं और व्रत रखें. इससे जिन लड़कियों के विवाह में परेशानी आ रही है उनका शीघ्र ही विवाह का योग बन जाता है।
  • गणेश चतुर्थी के दिन दूर्वा यानी घास के गणेश जी बनाकर उनकी पूजा करें और उन्हें पुष्प, गुड़, हल्दी, मिष्ठान आदि अर्पित करें. इससे भगवान गणेश की कृपा आप पर बनती है और सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।
  • यदि लड़के के विवाह में परेशानी आ रही है तो गणेश चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश को पीले रंग की मिठाई का भोग अवश्य लगाएं. इससे लड़के के विवाह के योग बन जाते हैं।
  • मनोकामना पूर्ति के लिए चतुर्थी के दिन शाम के समय घर में गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ अवश्य करें। इसके पश्चात भगवान श्री गणेश तिल से बने लड्डुओं का भोग लगाएं और इसी प्रसाद से अपना व्रत खोलें। यदि आपका भाग्य कमजोर है तो इससे भाग्योदय होता है।
गणेश चतुर्थी के दिन क्या उपाय करना चाहिए?, Ganesh Chaturthi Upay, Ganesh Chaturthi totke, गणेश जी के चमत्कारी टोटके, गणेश जी को खुश करने के उपाय, ganesh chaturthi dosh upay, ganesh chaturthi upay for marriage, ganesh chaturthi upay for success
Ganesh Chaturthi Upay
  • यदि आपको अधिक क्रोध आता है तो चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश को लाल रंग के फूल अर्पित करें और अपने गुस्से को शांत करने के लिए श्री गणेश से प्रार्थना करें। 10 दिन तक ऐसा करने से आपका क्रोध व गुस्सा शांत होने लगेगा।
  • संतान प्राप्ति में अगर परेशानी आ रही है तो गणेश चतुर्थी के दिन गणपति के बाल रूप की स्थापना करके उनकी पूजा करें और “ओम गं गणपतए नमः” मंत्र का जाप 108 बार करें और संतान गणपति स्त्रोत का पाठ करें ऐसा करने से आपको संतान की प्राप्ति होगी।
  • यदि आपके परिवार में कलह या अन्य प्रकार की समस्या चल रही है तो चतुर्थी के दिन “ॐ वक्रतुंडाय नमः” मंत्र का जाप करें और यह जाप मूंगे की माला से करें। ऐसा करने से घर में चल रही परेशानी और पारिवारिक कलेश से छुटकारा मिल जाता है।
  • यदि आप किसी प्रतियोगिता की पूरी मेहनत से तैयारी कर रहे हैं किंतु फिर भी आपको सफलता प्राप्त नहीं हो रही है तो चतुर्थी के दिन कच्चे सूत में 7 गांठ लगाकर “ओम गणेश काटो कलेश” मंत्र का जाप करें और उसके बाद वह धागा अपने पर्स में रख लें। ऐसा करने से आपको सफलता मिलेगी और आपके उन्नति के सभी रास्ते खुल जाएंगे।
  • भगवान श्री गणेश को पूजा में सुखा चावल कभी नहीं चढ़ाना चाहिए। मनवांछित फल की प्राप्ति के लिए और जीवन में सुख शांति बनाए रखने के लिए श्री गणेश की पूजा के दौरान उन्हें गीला चावल अर्पित करें. कहते हैं कि चावल श्री गणेश को बहुत पसंद है। इसलिए उनकी पूजा में चावल अवश्य चढ़ाएं।

रिलेटेड पोस्ट

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

Previous articleलौकी की सब्जी तो खूब खाई होगी, जानिये लौकी के छिलके के पकौड़े बनाने की विधि | Lauki chilka pakoda recipe
Next articleज्येष्ठ मास की एकदंत संकष्टी चतुर्थी व्रत, जानें शुभ मुहूर्त, पूजन विधि कथा और महत्त्व | Ekdant Sankashti Chaturthi vrat
Avatar
I am a freelance content writer. I write articles related to women's lifestyle, health, beauty, and wellness in both English and Hindi language. It is my pleasure and I love to share my thoughts with you through writing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here