Benefits Of Morpankh Plant
Benefits Of Morpankh Plant

हैल्लो दोस्तों हमारे भारत देश में तुलसी के पौधे को बहुत ही पवित्र माना जाता है। वैसे ही मोरपंखी के पौधे (Benefits Of Morpankh Plant) को भी हमारे देश में बहुत ही शुभ पौधा माना जाता है। इसके पौधे को आप घर की खूबसूरती को बढाने के लिये आसानी से घर के गमले में लगा सकते है। मोरपंखी के पौधे को ही विद्या का पौधा कहा जाता है। बच्चे इसके पौधे की पत्तियों को अपने स्कूल बेग और अपनी किताबो में रखते हैं। मान्यता है कि इसके पत्तियों को किताबो में रखने से बच्चो का पढाई में रूचि बढ़ती है।

बहुत से लोगो को शंका होती है कि इसके पौधे को कब, कैसे, कौन सी दिशा और कौन से महीने में लगाना अच्छा रहता है। इसके लिये आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। इसे आप अपने घर की लोकेशन के अनुसार कहीं भी लगा सकते है। इसके पौधे को घर में लगाने के कुछ भी दुश्परिणाम नहीं है।

ये भी पढ़िए : घर पर आसान तरीकों से ऐसे लगाएं गुलाब, खिल उठेगा बाग़

इसके पौधे को जोड़े में लगाना बहुत ही अच्छा माना जाता है। इसके पौधे घर के मुख्य द्वार पर बहुत ही खुबसुरत लगते हैं। इसके लिये आप घर के मुख्य द्वार पर पौधे जोड़े में लगाएं। वास्तु के अनुसार इसके पौधे घर में लगाना बहुत ही अच्छा रहता है। इससे घर में नकारात्मक उर्जा का प्रभाव कम होता है।

मोरपंखी के पौधे के लिये मिटटी कैसे तैयार करें

पौधे के लिये मिटटी तैयार करने के लिये आप मिटटी के मिक्सचर में एक तिहाई मात्रा वर्मी कम्पोस्ट, एक तिहाई साधारण मिटटी , एक तिहाई मात्रा कोकोपिट भी काम में ले सकते हैं। यह पौधे लगाने के लिये एक अच्छा मिटटी का मिक्सचर है। इसमें पौधे बहुत जल्दी उगाये जा सकते है।

इस मिक्सचर में वर्मी कम्पोस्ट नहीं मिलने पर आप रेतीली मिटटी भी काम में ले सकते है। जिससे गमले की मिटटी कठोर नहीं होगी और जड़ो का विकास जल्दी होने लगेगा।

Benefits Of Morpankh Plant

मोरपंखी का बीज किस महीने में बोया जाता है

मोरपंखी के पौधे को आप ऐसे तो कभी भी लगा सकते है लेकिन बरसात में आप मोरपंखी के पौधे को लगाते है तो पौधा बहुत जल्दी ही जड पकड़ लेता है और हरा भरा हो जाता है।

आप बीज से मोरपंखी के पौधे तैयार करना चाहते है तो आप को बीज की फरवरी और मार्च में ही बहाई करनी चाहिये। बीज के उगने के बाद गर्मी में वह अच्छी तरह से ग्रोथ कर लेता है। मोरपंखी के बीज से पौधे तैयार होने के लिये हलकी धूप की आवश्यकता होती है। इसके लिये फरवरी और मार्च का टाइम ही सबसे अच्छा होता है।

मोरपंखी का बीज को कैसे लगाएं

मोरपंखी के ताजा बीज हरे कलर के होते हैं। यह बीज सूख जाने के बाद काले कलर के हो जाते है। आप ताजा बीज को नहीं उगा सकते है। आप बीज को घर पर ही उगाना चाहते है तो आप कुछ महीने पुराना बीज को ही काम में लें। बीज को उगाने के लिए आप वर्मी कम्पोस्ट के मिटटी का मिक्सचर बनाकर उसमे बीज उगाये।

ये भी पढ़िए : घर में इस दिन लगाना चाहिए मनीप्लांट, नहीं होगी पैसो की कमी

यह पौधा घर में लगाने से घर में नकारात्मक उर्जा का प्रभाव कम होता है और घर में यह प्रगति का सूचक होता है। यह पौधा घर में हरियाली का प्रतीक होता है। यह पौधा घर में पति पत्नी के रिश्तो को अच्छा बनाये रखने के लिए भी लगाया जाता है। इस पौधे को घर में लगाने से पति पत्नी के बीच में प्यार बढ़ता है।

मोरपंखी का पौधा कैसे लगाएं

दोस्तों मोरपंखी को आप गमले में भी आसानी से लगा सकते हैं। इसके लिए केवल आपको पौधे के आकार का गमला लेना है जिसमे पौधे की जड़े आसानी से फेल सके। पौधे को आप जब भी गमले में लगाएं तब उसमे अच्छी तरह पौधा में मिटटी का मिक्सचर बनाकर के गमले में भरें। गमले के निचले हिस्से में एक परत कंकड़ पथर की जरुर लगाएं जिससे गमले में पानी रुकेगा नहीं।

हमेशा मोरपंखी के पौधे लगाने के लिए आप ऐसे गमले का चुनाव करें, जिसके पेंदे में छेद हो। जिससे पानी गमले में ज्यादा रुके नहीं। ज्यादा पानी से इसके पौधे की जड़े ख़राब होने की सम्भावना अधिक रहती है।

Benefits Of Morpankh Plant
Benefits Of Morpankh Plant

मोरपंखी का पौधा किस दिशा में लगाएं

सबसे पहले तो आप इस पर ध्यान न दें कि पौधे को कौन सी दिशा में लगाएं। इसके लिए कोई भी दिशा निश्चित नहीं की गई है। आप अपने घर की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए इसे कही भी लगा सकते है। वैसे पौधे को घर में लगाने के बहुत से कारण होते हैं जैसे- खूबसूरती के लिए, वास्तु के लिए, सकारात्मक उर्जा के लिए, हरियाली के लिए।

अगर आप वास्तु के अनुसार पौधे को घर में लगाते हैं तो आप को मोरपंखी के पौधे को पूर्व दिशा में या दक्षिण-पूर्व दिशा में लगाना चाहिए। इस तरह पौधा लगाने से घर में कई दोष दूर होते है। इस पौधे को आप घर में लगाते हैं तो आप को घर में सुख समृद्धि और धन की प्राप्ति होती है।

मोरपंखी का पौधा सही दिशा में लगाने से घर में खुशहाली आती है। मोरपंखी को हमेशा घर में एक अच्छी दिशा में और जगह पर लगाना अच्छा रहता है। सही दिशा में यह पौधा लगाने से घर में सकारात्मक वातावरण बना रहता है।

मोरपंखी के पौधे को घर में कभी भी अकेले में नहीं लगाना चाहिए इसके पौधे को घर मे हमेशा जोड़े में ही लगाना चाहिए। जब आप पौधे को जोड़े में लगायेंगे तो घर में पति-पत्नी के बीच में प्यार बना रहता है और घर में सकारात्मक उर्जा बनी रहती है।

ये भी पढ़िए : घर में बेकार पड़े प्‍लास्टिक कपों का कैसे करें इस्‍तेमाल

इस पौधे को आप हमेशा घर के मुख्य दवार पर ही लगाएं जिससे नकारात्मक उर्जा घर के अंदर प्रवेश नहीं करेगी। दो पोधो में से एक भी पौधा सूख जाये तो आप जल्दी ही सूखे हुए पौधे को हटा कर नया पौधा लगा दें। मोरपंखी का पौधा घर में लगा हो, यह सोभाग्य का प्रतीक होता है।

मोरपंखी के पौधे की ग्रौथ कैसे बढ़ाएं

  • पौधे की ग्रोथ बढ़ाने के लिए आप समय समय पर पौधे में फर्टिलाइज़र देते रहें, आप पौधे में पानी देने का भी विशेष ध्यान रखें।
  • आप पौधे की ग्रोथ को बढ़ाने के लिये समय समय पर पौधे की कटिंग करते रहें, सूखी हुई टहनियों को पौधे से अलग करते रहें।
  • पौधे की कटिंग आप मार्च महीने में और बरसात के बाद में कर सकते हैं। इसके पौधे की कटिंग आप एक विशेष शेप में करें जिससे पौधा बहुत ही अच्छा लगता है।
  • इसके पौधे को ज्यादा फैलने न दें। इसके पौधे की कटिंग करना बहुत ही जरुरी होती है।
  • यह पौधा खाद देने के बाद बहुत ही अच्छी तरह बढ़ता है खाद देने के बाद में पौधा हरा भरा दिखाई देता है।
  • आप वर्मी कम्पोस्ट को भी मोरपंखी के पौधे में दे सकते है। इसके लिये आप पौधे के जड़ व तने से आधे फिट की दूरी पर खाद को मिटटी में मिक्स करना है।
  • गर्मी के मौसम में पौधे को प्रतिदिन पानी देना आवश्यकता होती है जिससे पौधा सूखे नहीं , पौधे में पानी पौधे के आकार के अनुसार ही दें।
Benefits Of Morpankh Plant
Benefits Of Morpankh Plant

मोरपंखी पौधे की देखभाल कैसे करें

  • मोरपंखी के पौधे को हमेशा हलकी धूप और हलकी हवा वाले स्थान पर ही रखे। ऐसी जगह पर पौधा जल्दी विकास करता है और हरा भरा रहता है।
  • गर्मियों में मोरपंखी के पौधे की पत्तियां पीली होने लगती हैं जिसके कारण पौधा ख़राब भी होने लगता है। इसके लिये आप पौधे को 3 से 4 दिन में पानी से अच्छी तरह गीला कर दें।
  • अगर इसके पौधे पर कभी भी कीट- पतंगे, मक्खी आदि लगती है तो पौधे पर आप नीम तेल का स्प्रे करें। महीने में एक बार आप पौधे पर नीम तेल का स्प्रे जरुर करे। इसके लिये आप 1 लीटर पानी में 2 से 4 ml नीम तेल को पानी में मिलाकर के पौधे पर स्प्रे करे।

मोरपंखी का पौधा सूखने लगे तो क्या करे

मोरपंखी का पौधा घर में लगा हुआ सूखना अच्छा नहीं माना जाता है। मोरपंखी का सूखना अच्छा शकुन नहीं माना जाता है। इसके पौधे को सूखने से बचाने के लिये आप इसके पौधे में अधिक पानी का जमा न होने दें।

अगर ऐसी परेशानी पौधे पर दिखाई दे तो आप पौधे में फुंगीसाईड का उपयोग जरुर करें। जिससे पौधे में जड़ गलन , पौधे का सूखना आदि की शिकायत बहुत ही कम हो जाती है। मोरपंखी का सूखना अपशकुन का सूचक माना जाता है

ये भी पढ़िए : छुईमुई या लाजवंती का पौधा करता है कई रोगों का कारगर इलाज, जानें इसके…

मोरपंखी के पौधे की सर्दी में देखभाल कैसे करें

कई बार लोगो को मोरपंखी के पौधे की देखभाल सर्दी में करने में परेशानी आती है। कई बार देखा गया है कि सर्दी में मोरपंखी के पौधे ख़राब होने लगते है। आप को सर्दी में कुछ बातो का ध्यान रखना जरुरी होता है –

सर्दी में गमले को वहां रखें जहाँ ओस (धुंध) कम आए और धूप अच्छी तरह पौधे को मिल जाये।

पौधे को कभी भी सर्दी में ज्यादा पानी नहीं देना चाहिये। ज्यादा पानी से भी पौधा ख़राब होने लगता है।

मिटटी जब तक गीली हो तब तक सर्दी में पौधे को पानी देने से बचना चाहिये।

Benefits Of Morpankh Plant
Benefits Of Morpankh Plant

मोरपंखी को लगाने के वास्तु टिप्स फायदे

  • मोरपंखी के पौधे को जोड़े में लगाना चाहिए जिससे घर में पति और पत्नी के बीच में प्यार बढ़ता रहता है।
  • इसके पौधे को घर के मुख्य द्वार पर ही लगाना चाहिए, जिससे गलत प्रभाव हमारे घर में नहीं आए। घर में पैसों की दिक्कत भी कम होने लगती है।
  • इसके पौधे को घर पर लगाने से घर में तनाव कम होता है।
  • वास्तु के अनुसार आप के घर में लगा मोरपंखी का पौधा कभी भी सूखना नहीं चाहिये।
  • जहा पर पौधा लगा रहे हो वहां पर हलकी धूप और हवा मिलती रहे। वहां पानी की भी अच्छी सुविधा हो।
  • वास्तु के अनुसार मोरपंखी का पौधा हमेशा जोड़े में ही लगाना चाहिये। इसका प्रभाव जब ही सही तरह से होता है।
  • नकारात्मक प्रभाव को दूर रखने के लिये आप पौधे को हमेशा घर के मुख्य द्वार पर ही लगाएं।
  • मोरपंखी के पौधे में वास्तु के साथ साथ, औषधीय गुण भी विद्यमान होते हैं।

ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए कृप्या आप हमारे फेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम और यूट्यूब चैनल से जुड़िये ! इसके साथ ही गूगल न्यूज़ पर भी फॉलो करें !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here